निस्वार्थ सेवा भाव से काम करने के लिए समर्पण पोर्टल से जुड़े लोगः मुख्यमंत्री

Edited By Isha, Updated: 13 May, 2022 08:35 AM

people associated with samarpan portal to work with selfless service

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने  गुरुवार को अपने निवास स्थान पर समर्पण पोर्टल पर रजिस्टर्ड कुछ वॉलंटियर्स के साथ बैठक की। उन्होंने कहा कि निस्वार्थ सेवा भाव से काम करने के लिए ज्यादा से ज्यादा वॉलंटियर को समर्पण पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कर

 

चंडीगढ़(धरणी):   हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने  गुरुवार को अपने निवास स्थान पर समर्पण पोर्टल पर रजिस्टर्ड कुछ वॉलंटियर्स के साथ बैठक की। उन्होंने कहा कि निस्वार्थ सेवा भाव से काम करने के लिए ज्यादा से ज्यादा वॉलंटियर को समर्पण पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कर जुड़ना चाहिए। अभी तक इस पोर्टल पर करीब 3500 वॉलंटियर्स ने रजिस्ट्रेशन करवाया है लेकिन जैसे ये वॉलंटियर्स सामाजिक कार्य शुरू करेंगे तो वो दिन दूर नहीं जब इनकी संख्या साढ़े तीन लाख होगी। 

 मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने  गुरुवार को अपने निवास स्थान पर समर्पण पोर्टल पर रजिस्टर्ड कुछ वॉलंटियर्स के साथ बैठक की।उन्होंने कहा कि जल्द ही रजिस्टर्ड वॉलंटियर्स को सामाजिक कार्य सौंपे जाएंगे। उन्होंने कहा कि सरकारी सिस्टम के अंतर्गत बहुत से कार्य किए जाते हैं। इस सिस्टम को संभालने के लिए आईएएस अधिकारी से लेकर कर्मचारी तक कार्य करते हैं। इस निरंतर जारी प्रक्रिया के दौरान उन्हें ध्यान में आया कि कुछ ऐसे लोगों को भी इस सिस्टम से जोड़ना चाहिए जो सरकार के कार्यों में सेवा भाव से अपना योगदान दें। इसी सोच को ध्यान में रखकर समर्पण पोर्टल की शुरूआत की गई।  आज सेवानिवृत कर्मचारियों का एक बहुत बड़ा वर्ग है, जो समाज के हित में अपना बचा हुआ समय लगाना चाहता है। ऐसे लोग ज्यादा से ज्यादा संख्या में इस पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करवाकर इस सेवा भाव के यज्ञ में शामिल हो सकते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना काल में वॉलंटियर्स के लिए एक पोर्टल बनाया था। इस पोर्टल पर 70 हजार वॉलंटियर्स ने रजिस्ट्रेशन किया था।

सरकार ने इन सभी की सूची जिलों में भेजी और जिला उपायुक्त ने इन्हें काम सौंपे। लोगों ने सेवाभाव से इसमें बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। इसी तरह अब समर्पण पोर्टल पर बड़ी संख्या में जुड़ कर सामाजिक कार्यों में योगदान देने की जरूरत है। इसके लिए समाज के हर वर्ग को आगे आना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि समर्पण पोर्टल पर अभी तक रजिस्टर्ड 3500 वॉलंटियर्स को जल्द जिम्मेदारी दी जाएगी। सरकार पंक्ति में खड़े अंतिम व्यक्ति तक लाभ पहुंचाने के लिए प्रतिबद्ध है। इसी के चलते परिवार पहचान पत्र का कार्य निरंतर चल रहा है। पीपीपी के अंतर्गत वेरिफिकेशन का सर्वे भी जारी है। इस सर्वे को और अधिक मजबूत करने के लिए समर्पण पोर्टल पर रजिस्टर्ड कुछ वॉलंटियर्स की मदद ली जाएगी। इसी तरह भविष्य में अलग-अलग कार्यों में जहां इनकी जरूरत महसूस होगी, वहां कार्यों का दायित्व भी सौंपा जाएगा। धीरे-धीरे यह टीम कार्य करेगी तो प्रेरणा भाव से और वॉलंटियर्स भी इस पोर्टल से जुड़ने के लिए आगे आएंगे।

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!