कांग्रेस के चिंतन शिविर पर गुज्जर का तंज, बोले- यहां भी गुल न खिला दें कांग्रेस नेता

Edited By Gourav Chouhan, Updated: 01 Aug, 2022 04:02 PM

education minister kanwarpal gujjar s taunt on congress s chintan shivir

उन्होंने कहा कि आज कांग्रेस कई गुट में बंट गई है। कांग्रेस का कोई एक गुट मीटिंग बुलाता है तो उसमें दूसरा ग्रुप शामिल नहीं होता। दूसरा बुलाता है तो तीसरा शामिल नहीं होता।

यमुनानगर(सुरेंद्र): कांग्रेस द्वारा आयोजित एक दिवसीय चिंतन शिविर को लेकर शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुज्जर ने हमला बोलते हुए कहा कि आज कांग्रेस में हर व्यक्ति की अपनी कांग्रेस है। वहा पार्टी जैसी कोई बात नहीं है। उन्होंने कहा कि आज कांग्रेस कई गुट में बंट गई है। कांग्रेस का कोई एक गुट मीटिंग बुलाता है तो उसमें दूसरा ग्रुप शामिल नहीं होता। दूसरा बुलाता है तो तीसरा शामिल नहीं होता। उन्होंने कहा कि चिंतन शिविर लगाने से भी कांग्रेस को कुछ हासिल नहीं होगा। यही नहीं शिक्षा मंत्री ने कहा कि मैं कांग्रेस को शुभकामना देता हूं कि वे अपना चिंतन शिविर अच्छे से निपटा लें। कहीं यहां भी कांग्रेस के नेता कुछ गुल ना खिला दें।

 

विधायकों को धमकी देने वाले आरोपियों की गिरफ्तारी पर एसटीएफ को दी बधाई

 

कंवरपाल गुज्जर यमुनानगर में मीडिया से बातचीत कर रहे थे। शिक्षा मंत्री ने पंचकूला में आयोजित कांग्रेस के चिंतन शिविर को लेकर तंज कसते हुए कांग्रेस में गुटबाजी होने की बात कही। इस दौरान उन्होंने हरियाणा एसटीएफ द्वारा, विधायकों को धमकी देने के आरोपियों को पकड़े जाने पर टीम को बधाई दी। उन्होंने कहा कि इस मामले में संलिप्त आरोपी को बख्शा नहीं जाएगा। शिक्षा मंत्री ने कहा कि  मुख्यमंत्री व गृहमंत्री ने स्वयं अधिकारियों की मीटिंग लेकर इस संबंध में सख्ती से जांच करने के आदेश दिए थे।

 

खेल नीति पर विपक्ष के आरोपों को शिक्षा मंत्री ने ठहराया गलत

 

कॉमनवेल्थ गेम्स में हरियाणा के खिलाड़ियों के अच्छे प्रदर्शन पर शिक्षा मंत्री ने उन्हें शुभकामनाएं देते हुए कहा कि प्रदेश के सभी खिलाड़ियों से अच्छा प्रदर्शन करने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि आज हरियाणा के खिलाड़ी पूरी दुनिया में अपनी जीत का डंका बजा रहे हैं। खेल नीति में बदलाव कर खिलाड़ियों के साथ भेदभाव करने के विपक्ष के आरोपों को शिक्षा मंत्री ने गलत बताया। उन्होंने कहा कि बल्कि प्रदेश की मनोहर सरकार ने पक्षपात समाप्त करने का काम किया है। उन्होंने कहा कि नई खेल नीति के जरिए विभिन्न स्तरों पर आने वाले खिलाड़ियों के लिए पहले से ही मान-सम्मान तय होता है। इसमें किसी भी तरह की सिफारिश नहीं चलती है।

 

 (हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भीबस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

 

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!