थानों में पुलिस स्टाफ की कमी के चलते पंचकूला के ACP ने सौंपा इस्तीफा, बोले नहीं सुधर सकते हालात

Edited By Vivek Rai, Updated: 28 May, 2022 10:58 PM

panchkula acp resigns due to shortage of staff in police stations

पंचकूला पुलिस के सहायक पुलिस उपायुक्त(एसीपी) विजय कुमार नेहरा ने अपने पद से इस्तीफा सौंप दिया है।उनका कहना है कि बीते दिनों में कई ऐसी घटनाएं हुई हैं, जिन्होंने मुझे इस्तीफा सौंपने के लिए मजबूर कर दिया है।

चंडीगढ़(धरणी): पंचकूला पुलिस के सहायक पुलिस उपायुक्त(एसीपी) विजय कुमार नेहरा ने अपने पद से इस्तीफा सौंप दिया है। उन्होंने पुलिस उपायुक्त सुरिंदर पाल सिंह को अपना इस्तीफा सौंपा है। डीसीपी सुरिंदर पाल को सौंपे गए इस्तीफे में विजय कुमार ने कई कारण बताए हैं। उनका कहना है कि बीते दिनों में कई ऐसी घटनाएं हुई हैं, जिन्होंने मुझे इस्तीफा सौंपने के लिए मजबूर कर दिया है। इन कारणों में विजय कुमार ने पंचकूला के पुलिस थानों में स्टाफ की कमी होने का भी जिक्र किया है। इसके चलते पुलिस पर काम को लेकर दबाव बनता है और पुलिस की कार्यशैली को लेकर सवाल उठाए जाते हैं। एसीपी केवल बैठक करने में ही रह जाते हैं। यही नहीं उन्होंने कहा कि यह हालात केवल पंचकूला के नहीं हैं, बल्कि हरियाणा के अन्य जिलों में भी यही हाल है।

एसीपी  नेहरा के इस्पीफे को लेकर चर्चाएं हुई तेज, सोमवार को होगी स्थिति साफ

 एसीपी विजय नेहरा द्वारा दिया गया इस्तीफा चर्चा का विषय बना हुआ है। विजय नेहरा ने यह फीफा इस्तीफा खुद अपनी मर्जी से दिया है या किसी दवाब में दिया है इस बात को लेकर भी चर्चाएं चल रही हैं। यह खबर आग की तरह हरियाणा में फैलते ही अधिकांश लोगों को व पुलिस विभाग के अधिकारियों को यह यकीन नहीं हुआ कि विजय नेहरा ने इस्तीफा दे दिया है। डीसीपी पंचकूला के कार्यालय में रिसीव करवाए गए इस इस्तीफा का यथार्थ क्या है इसका खुलासा सोमवार को ही हो पाएगा। क्या यह इस्तीफा विजय नेहरा ने दिया भी है या नहीं दिया। यह भी जांच का विषय है।  पंचकूला जिले में कार्यरत उच्च अधिकारियों का कहना है कि आज शनिवार का अवकाश है तथा कल रविवार है सोमवार को कार्यालय में जाकर सही जानकारी पता लग पाएगी।

पिछले 15 साल से हरियाणा पुलिस में सेवाएं दे रहे एसीपी  नेहरा

विजय नेहरा अपने दम पर अपनी काबिलियत से 3 अक्टूबर 2008 को इंस्पेक्टर भर्ती हुए थे । 5 अगस्त 2020 को उन्हें पदोन्नति मिली प्रसाद है डीएसपी बने। 14 साल के पुलिस कार्यकाल में उनको जानने वाले लोग बता रहे हैं कि विजय नेहरा सुशिक्षित बुद्धिजीवी शांत स्वभाव तथा अपने कर्तव्य के प्रति समर्पित रहने वाले लोगों में से प्रमुख रहे हैं।
एसीपी विजय कुमार नेहरा गांव निंदाना से हैं। परिवार महम व‌ पंचकूला ही रहता है।मां पूर्व शिक्षक व पिता पूर्व सैनिक है।छोटा भाई मेजर है।कमाल की बात यह है कि DCP के रीडर को ACP विजय कुमार नेहरा ने न केवल इस्तीफा दिया है बल्कि रिसीविंग भी ली है। लेकिन DCP ऑफिस आधिकारिक इस मामले में अभीतक अनजान हैं व पुष्टि नही कर रहा।

इस्तीफे में एसीपी नेहरा ने पुलिस विभाग के हालात खराब होने का किया दावा

विजय नेहरा के द्वारा जो त्यागपत्र डीसीपी कार्यालय में दिया गया है वह कितना सही है कितना गलत है इसका दावा हम नहीं करते मगर वायरल हो रहे इस त्याग पत्र मैं विजय नेहरा ने पुलिस की वर्किंग को लेकर गंभीर सवाल उठाए हैं उनका कहना है कि पुलिस का वर्किंग कल्चर दिन ब दिन गिरता जा रहा है। अधिकांश क्योंकि थानों में बहुत कम स्टाफ है। स्टॉप की भारी कमी के चलते ज्यादातर थानों में एसएचओ की पोस्टिंग उन लोगों को मिल रही है जो सेवानिवृत्ति के करीब होते हैं। सेवानिवृत्ति के करीब होने वाले लोगों में काम करने की क्षमता तथा जज्बा काफी कम हो जाता है क्योंकि उन्होंने पूरा जीवन पुलिस फोर्स को दिया होता है। विजय नेहरा के इस कथित में मैं लिखा गया है कि एसीपी सर के अधिकारी मीटिंग में अत्यंत व्यस्त रहते हैं। पहले एक मीटिंग फिर दूसरी मीटिंग फिर तीसरी मीटिंग। उन्होंने कहा कि ऐसी व्यवस्था चलने से पुलिस कर्मचारियों व अधिकारियों का मोरल काफी डाउन हो जाता है तथा मानसिक तनाव में पुलिस विभाग की नौकरी कर्मचारियों अधिकारियों को करनी पड़ रही है। विजय नेहरा के इस पत्र में रूल्स तथा नियमों पर जलने वालों से जनता एकदम रिजल्ट की उम्मीद करें तो वह संभव नहीं लगता क्योंकि एकदम रिजल्ट नहीं दिए जा सकते।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

Related Story

Trending Topics

Ireland

India

Match will be start at 28 Jun,2022 10:30 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!