बेरोजगारी भत्ते के केस को रफा-दफा करने को एवज मांग रहा था रिश्वत, क्लर्क रंगे हाथ गिरफ्तार

Edited By Isha, Updated: 10 Aug, 2022 01:39 PM

clerk was arrested red handed

जींद में विजिलेंस ने फर्जी तौर पर लिए गए बेरोजगारी भत्ते के केस का मामला रफा-दफा करने की एवज में 23 हजार रिश्वत लेते रोजगार कार्यालय के क्लर्क को गिरफ्तार किया है। उससे 500-500 के 46 नोट बरामद हुए हैं। विजिलेंस ने इन नोटों पर पावडर लगाकर शिकायतकर्ता

जींद(अनिल): जींद में विजिलेंस ने फर्जी तौर पर लिए गए बेरोजगारी भत्ते के केस का मामला रफा-दफा करने की एवज में 23 हजार रिश्वत लेते रोजगार कार्यालय के क्लर्क को गिरफ्तार किया है। उससे 500-500 के 46 नोट बरामद हुए हैं। विजिलेंस ने इन नोटों पर पावडर लगाकर शिकायतकर्ता को क्लर्क रोशन को देने के लिए दिए थे। विजिलेंस केस दर्ज कर क्लर्क से पूछताछ कर रही है।

गांव नगूरां निवासी मनदीप ने विजिलेंस को दी शिकायत में बताया कि वह रोजगार कार्यालय से बेरोजगारी भत्ता लेता था। इसी बीच उसने बीएड भी कर ली, लेकिन बेरोजगारी भत्ता लेना चालू रखा। असल में शिक्षा जारी रखने की सूरत में भत्ता नहीं लिया जा सकता। जब रोजगार कार्यालय ने जांच की तो उसकी सच्चाई उनके सामने आ गई। तब तक वह बेरोजगारी भत्ते की एवज में ली गई 48 हजार रुपए ले चुका था। विभाग ने उससे यह राशि वापस मांगी। आरोप है कि रोशन ने उससे इस मामले को रफा दफा करने के लिए 23 हजार रुपए की रिश्वत मांगी। न देने पर उसके खिलाफ पुलिस में केस दर्ज कराने की धमकी भी दी। मनदीप ने क्लर्क से सौदा पक्का कर लिया।

मनदीप ने पूरे मामले की जानकारी विजिलेंस जींद को दे दी। विजिलेंस ने क्लर्क को पकड़ने के लिए जाल बिछाया। मनदीप को 23 हजार रुपए देने को कहा गया। मनदीप ने क्लर्क से बात की तो उसने पैसों के साथ उसे जींद में पूनिया अस्पताल के पास बुला लिया। विजिलेंस की टीम भी मनदीप के साथ ही वहां पहुंच गई। जैसे ही रोजगार विभाग के क्लर्क रोशन ने उससे 23 हजार रुपए लिए, विजिलेंस ने छापा मार कर उसे पकड़ लिया। पुलिस ने रोशन के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर पूछताछ शुरू कर दी है।
 

Related Story

Trending Topics

Pakistan

137/8

20.0

England

138/5

19.0

England win by 5 wickets

RR 6.85
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!