गोल्ड की रेस से बाहर होते ही अंशु मलिक के निकले थे आंसू, अखिरी सैंकड तक दिखाया पूरा दम(Pics)

Edited By Isha, Updated: 06 Aug, 2022 01:45 PM

tears came out as soon as 21 year old anshu was out of the gold race

भारतीय महिला पहलवान अंशु मलिक ने बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक जीत लिया है। यह अंशु का पहला राष्ट्रमंडल खेल है और उन्होंने रजत पदक से शुरुआत की है। अंशु की सबसे बड़ी चुनौती फाइनल थी। उनके सामने नाइजीरिया की ओदुनायो थीं। ओदुनायो

डेस्क: भारतीय महिला पहलवान अंशु मलिक ने बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक जीत लिया है। यह अंशु का पहला राष्ट्रमंडल खेल है और उन्होंने रजत पदक से शुरुआत की है। अंशु की सबसे बड़ी चुनौती फाइनल थी। उनके सामने नाइजीरिया की ओदुनायो थीं।
PunjabKesari

ओदुनायो भी शानदार फॉर्म में थीं और अपने दोनों मैच जीत चुकी थीं। इस मैच में अंशु और ओदुनायो के बीच जबरदस्त टक्कर देखने को मिली।

PunjabKesari

हालांकि, नाइजीरियन पहलवान ने मजबूती दिखाई और शुरुआती मिनट में ही अंशु को टेकडाउन कर चार अंक हासिल कर लिए। अंशु ने पहले एक अंक हासिल किया। इसके बाद आखिरी 30 सेकेंड में अंशु ने तीन अंक हासिल किए। हालांकि, वह आखिरी के दो अंक नहीं हासिल कर सकीं और 7-3 से मुकाबला हार गईं। 

PunjabKesari

पूरा परिवार जुड़ा है पहलवानी से 
21 वर्षीय अंशु मलिक ने इससे पहले भी कई पदक जीत चुकी हैं। उनके पिता धर्मवीर मलिक भी अंतरराष्ट्रीय पहलवान रह चुके हैं। उनके चाचा पवन मलिक तो दक्षिण एशियाई खेलों के गोल्ड मेडल जीत चुके हैं। अंशु का छोटा भाई शुभम भी पहलवानी करता है। इस तरह इनका पूरा परिवार पहलवानी से जुड़ा हुआ है। अंशु मलिक ने 13 वर्ष की आयु में ही पहलवानी शुरू कर दी थी। उन्होंने जगदीश श्योराण से कुश्ती के गुर सीखे। 

PunjabKesari
 

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!