भारतमाला प्रोजेक्ट: अधिग्रहण के मुआवजे से किसान असंतुष्ट, 120 फीट ऊंची टंकी पर चढ़े

Edited By Shivam, Updated: 25 Nov, 2021 05:03 PM

भारतमाला प्रोजेक्ट के तहत हरियाणा के डबवाली उपमंडल के 9 गांवों से गुजरने वाले एक्सप्रेस-वे के लिए अधिग्रहित की गई जमीन के मुआवजे से असंतुष्टï होकर आज 3 किसान गांव डबवाली के समीप अलीकां रोड पर स्थित जलघर की करीब 120 फीट ऊंची टंकी पर जा चढ़े। किसानों...

डबवाली (संदीप): भारतमाला प्रोजेक्ट के तहत हरियाणा के डबवाली उपमंडल के 9 गांवों से गुजरने वाले एक्सप्रेस-वे के लिए अधिग्रहित की गई जमीन के मुआवजे से असंतुष्टï होकर आज 3 किसान गांव डबवाली के समीप अलीकां रोड पर स्थित जलघर की करीब 120 फीट ऊंची टंकी पर जा चढ़े। किसानों के जलघर की इतनी ऊंचाई वाली टंकी पर चढऩे की भनक लगने पर प्रशासन के अधिकारियों के भी हाथ-पांव फूल गए।

मौके पर शहर थाना प्रभारी पुलिसकर्मियों के साथ पहुंचे, लेकिन तब तक टंकी पर चढ़े किसानों के साथी किसानों ने टंकी के नीचे धरना शुरू कर दिया। धरनारत किसानों ने प्रदेश सरकार व एनएचएआई के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की। जलघर की टंकी पर चढऩे वाले किसानों में गांव चौटाला के रहने वाले किसान राकेश फगोडिय़ा, गांव जोगेवाला निवासी किसान सतनाम सिंह, जोगेवाला निवासी किसान सुरजीत सिंह है। तीनों ही किसानों ने प्रशासन को चेतावनी दी है कि मांगे पूरी नहीं होने तक वे जलघर की टंकी से नीचे नहीं उतरेंगे। टंकी पर रहकर ही सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे। 

PunjabKesari, Haryana

किसानों की मुख्य मांगें
टंकी पर चढ़े किसान अपने 9 गांवों के अन्य किसान साथियों के साथ अमृतसर से जामनगर तक बनने जा रहे इस हाई-वे के लिए अधिग्रहित की गई भूमि से जुड़ी विभिन्न मांगों को लेकर बीते 2 वर्षों से संघर्ष कर रहे हैं। किसानों ने कई बार हाई-वे का काम शुरू नहीं होने दिया, लेकिन दो दिन पहले जिला प्रशासन ने भारी पुलिस बल की तैनाती करके अधिग्रहित की गई भूमि पर हाई-वे निर्माण का काम शुरू करवा दिया। किसानों का आरोप है कि उनकी जमीन का पूरा मुआवजा दिए बिना ही हाई-वे का निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया है। 

इसके अलावा किसानों का आरोप है कि सरकार ने किसानों के खेतों में बने मकानों, टयूबवैल, पानी की डिग्गियों, पेड़ व अन्य स्ट्रकचर का मुआवजा भी नहीं दिया गया है। आंदोलन कर रहे किसानों ने चेतावनी दी कि अगर प्रशासन ने उनके साथियों को टंकी से जबरदस्ती नीचे उतारने की कोशिश की तो उसके परिणाम अच्छे नहीं होंगे। टंकी पर चढ़े किसानों ने कहा कि वे तब तक टंकी से नीचे नहीं उतरेंगे जब तक उनकी सभी मांगें पूरी नहीं की जाती।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!