प्रशासन के दावे फेल, किसान और मजदूर गंदा पानी पीने को मजबूर

Edited By Vivek Rai, Updated: 12 Apr, 2022 03:15 PM

farmers and laborers forced to drink dirty water

फसलों की खरीद से पूर्व प्रशासन कि ओर से उचित व्यवस्था को लेकर तमाम दावे किए जा रहे थे लेकिन रतिया में इन दावों की पोल खुलती हुई दिखाई दी। यहां एडिशनल अनाज मंडी में किसानों और मजदूरों तो  भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। पीने के लिए पानी की...

रतिया(सुशील): फसलों की खरीद से पूर्व प्रशासन कि ओर से उचित व्यवस्था को लेकर तमाम दावे किए जा रहे थे लेकिन रतिया में इन दावों की पोल खुलती हुई दिखाई दी। यहां एडिशनल अनाज मंडी में किसानों और मजदूरों तो  भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। पीने के लिए पानी की समस्या हो रही है लेकिन प्रशासन इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है। जिसके चलते ही मजदूर और किसान गंदा पानी पीने को मजबूर हैं।

मार्केट कमेटी प्रशासन द्वारा पानी के लिए टैंकर तो मंगवाए जाते है जिन्हे गेट के बाहर खडा कर दिया जाता है जिससे अधिकतर किसानों व मजदूरों को वह पानी नही मिल पाता ओर उन्हे मजबूरन गंदा पानी पीना पड़ता है। इस पानी को पीने के बाद अनेक मजदूर बीमारियों का शिकार भी हो रहे हैं। लेकिन उनकी सुनवाई करने वाला कोई नही है।

मजदूरों ने बताया कि रात्रि के समय लाइट जाने के बाद प्रशासन द्वारा जनरेटर भी नहीं चलाया जाता जिसके चलते अंधेरे में काम करना पडता है। उन्होंने बताया कि लदान की गति धीमी होने से मंडी पूरी तरह से गेंहू से भर चुकी है जिसको लेकर खरीद एजेंसियां भी गंभीर नहीं है। उन्होंने सरकार से मांग करते हुए कहा कि पीने का स्वच्छ पानी दिया जाए तथा लदान गति को तेज किया जाए व रात्रि के समय जनरेटर को चलाया जाए।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!