व्यापारियों से लाखों-करोड़ों की फिरौती मांगने के मामलों को लेकर व्यापार मंडल की सीएम से गुहार

Edited By Vivek Rai, Updated: 25 May, 2022 05:41 PM

board of trade appeals to cm to ensure safety of traders in haryana

बीते एक सप्ताह में प्रदेश के अलग-अलग जिलों में व्यापारियों से फिरौती मांगने और गोली चलाने के मामले सामने आने के बाद राष्ट्रीय उद्योग व्यापार मंडल के उपाध्यक्ष राजीव जैन ने इसे चिंता का विषय बताते हुए व्यापारियों की सुरक्षा का मुद्दा उठाया है।

चंडीगढ़(धरणी): बीते एक सप्ताह में प्रदेश के अलग-अलग जिलों में व्यापारियों से फिरौती मांगने और गोली चलाने के मामले सामने आने के बाद राष्ट्रीय उद्योग व्यापार मंडल के उपाध्यक्ष राजीव जैन ने इसे चिंता का विषय बताते हुए व्यापारियों की सुरक्षा का मुद्दा उठाया है। उन्होंने कहा कि सरकार को इसे लेकर सख्त कदम उठाने चाहिए। व्यापारियों की सुरक्षा का जिम्मा प्रदेश सरकार का है। उन्होंने कहा कि अगर सरकार ने प्रदेश के व्यापारियों की सुरक्षा के समुचित प्रबंध नहीं किए तो व्यापारियों को मुकाबला करने के लिए खुद लाठी-जेली उठानी पड़ेगी।

 इस बारे में राजीव जैन ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल को एक पत्र भी लिखा है। पत्र में जैन ने कहा कि पिछले छह माह से फिरौती एवं लूटपाट की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं। हाल ही में यमुनानगर के व्यापारी के मुनीम को गोली मारकर 50 लाख रुपये की लूट की गई। बावल में टाइल व्यापारी से पचास करोड़ की रंगदारी तथा यमुनानगर में एक अन्य व्यापारी से 50 लाख रुपये की फिरौती मांगने की वारदात से प्रदेश के व्यापारियों में भय का माहौल है।

उनका कहना है कि अपराधियों के हौसले बुलंद हैं और ऐसा लगता है कि पुलिस प्रशासन का डर खत्म हो चुका है। इससे पूर्व तोशाम, कैथल, समालखा, कलायत, कनीना, पिहोवा, जींद, खरखौदा, पानीपत, सोनीपत सहित कई शहरों में बदमाश इस तरह की वारदातों को अंजाम दे चुके हैं। व्यापारी नेता ने पत्र में लिखा है कि डर के मारे काफी संख्या में व्यापारी बदमाशों से मांगी जा रही फिरौती को लेकर पुलिस में रिपोर्ट भी दर्ज नहीं करवाते। पुलिस में शिकायत करने के बाद उनकी जान का खतरा बढ़ जाता है।

राजीव जैन ने कहा कि कई बार यह मांग उठ चुकी है कि व्यापारियों की सुरक्षा के लिए प्राथमिकता के आधार पर हथियारों के लाइसेंस दिए जाएं, लेकिन व्यापारियों की कोई सुनवाई नहीं है। बार-बार हो रही वारदातों की वजह से व्यापारियों में असुरक्षा की भावना बढ़ रही है। उनका यह भी कहना है कि व्यापारियों को अपनी सुरक्षा तक के लिए लाइसेंस नहीं दिए जा रहे, जबकि बदमाश सिफारिश और पैसों के बल पर लाइसेंस भी हासिल कर लेते हैं।

 राजीव जैन ने लिखा है कि जब अपराध की दुनिया के सिरमौर बन चुके उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपराधियों की कमर तोड़ कर अपराध मुक्त करने का काम कर सकते हैं, तो फिर हरियाणा में इस तरह के फैसले क्यों नहीं लिए जा रहे। उन्होंने मुख्यमंत्री से आग्रह किया है कि वे व्यापारियों की सुरक्षा को देखते हुए तुरंत कदम उठाएं। साथ ही, उन्होंने व्यापारियों से अपील की है कि वे अपने प्रतिष्ठानों पर लाठी-जेली, गंडासे, मिर्च पाउडर आदि रखना शुरू कर दें, ताकि बदमाशों को पता लगे कि अपराध के खिलाफ पूरे प्रदेश के व्यापारी एकजुट हो चुके हैं।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भीबस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!