हरियाणा सरकार ने बढ़ाया सफाई कर्मचारियों का वेतन, सीएम के पीए कृष्ण बेदी ने दी जानकारी

Edited By Shivam, Updated: 23 Jul, 2021 11:14 PM

haryana government increased the salary of sanitation workers

हरियाणा के सफाई कर्मचारियों के लिए यह खबर बड़ी राहत भरी और खुशियों से लबालब है, क्योंकि लंबे समय से पैरोल पर चल रहे कर्मचारियों को पक्का किए जाने की मांग की जाती रही है, जिसे लेकर समय-समय पर आंदोलन भी होते रहे हैं। हरियाणा सरकार इस पर जल्दमोहर लगा...

चंडीगढ़ (धरणी): हरियाणा के सफाई कर्मचारियों के लिए यह खबर बड़ी राहत भरी और खुशियों से लबालब है, क्योंकि लंबे समय से पैरोल पर चल रहे कर्मचारियों को पक्का किए जाने की मांग की जाती रही है, जिसे लेकर समय-समय पर आंदोलन भी होते रहे हैं। हरियाणा सरकार इस पर जल्दमोहर लगा सकती है। आज पंजाब केसरी से बातचीत के दौरान मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार कृष्ण बेदी ने कहा कि हरियाणा में पैरोल पर काम कर रहे सफाई कर्मचारी जल्द ही कानूनन पक्के किए जाएंगे। 

उन्होंने कहा कि हमारी यह पहली सरकार है, जिसने शहरी नगर पालिका कि सभी सैंक्शन पोस्टों को पैरोल पर लाने का काम किया है। जो कर्मचारी लगातार 15 माह तक बैंक अकाउंट से सैलरी ले रहे थे। उन्हें पैरोल पर लाकर उनकी सभी मूलभूत जरूरतों को सरकार द्वारा पूरा किए जाने से उन लोगों के जीवन स्तर में काफी सुधार आया है। यह हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल का क्रांतिकारी कदम है। साथ ही हरियाणा के मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश के 10900 के करीब ग्रामीण सफाई कर्मचारियों के लिए भी कई शानदार कदम उठाए गए हैं, जिसमें सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान इनकी तनख्वाह केवल 8100 रुपए ही थी। काफी लंबे समय से पिछली सरकारों में भी इनकी तनख्वाह को बढ़ाई जाने की मांग होती रही। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने तुरंत बढ़ाकर 10 हजार रुपए कर दी, फिर 10 हजार से साढ़े 11 हजार की गई।

बेदी ने बताया कि पिछले कार्यकाल की समाप्ति के वक्त मुख्यमंत्री द्वारा एक हजार बढ़ाकर दरिया दिल दिखाया गया। इसके बाद फिर से 1000 की और बढ़ोतरी करके इसे साढ़े 12 हजार कर दिया।  सरकार बनने के बाद करनाल में मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद इसे साढ़े 12 हजार से 14000 किया गया। उन्होंने कहा कि लंबे समय से इन कर्मचारियों के सामने इनकी तनख्वाह में देरी की समस्या भी आ रही थी। जिससे इनकी फीस- दवाई इत्यादि रोजमर्रा की जरूरतों पर असर पड़ रहा था। करनाल के मंच से मुख्यमंत्री ने जिम्मेदार अधिकारी की जवाबदेही तय करते हुए यह भी घोषणा की कि देरी होने पर अगले माह इनकी तनख्वाह में 500 रुपए की बढ़ोत्तरी करके दी जाएगी। 

बेदी ने बताया कि ग्रामीण सफाई कर्मचारियों  की तनख्वाह साल के शुरुआत में ही इनके एक हेड के खाते में पूरी तनख्वाह डाल दी जाएगी। फिर ब्लॉक का अधिकारी या सरपंच की जिम्मेदारी इन सभी को तनख्वाह देने की होगी। यह भी एक शानदार कदम उठाया गया है।  इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने ग्रामीण सफाई कर्मचारियों को पहचान देने का काम किया। इन्हें 2014 में एकमुश्त 3500 वर्दी और जूतों के लिए देने का फैसला किया, फिर करनाल के मंच से इसमें 500 की और बढ़ोतरी करके आज 4000 रुपए एकमुश्त इन कर्मचारियों को दिए जाते हैं।

बेदी ने कहा कि इस प्रकार से पूरे प्रदेश के ग्रामीण सफाई कर्मचारियों, नगर पालिका एसोसिएशन, अन्य यूनियन व पूरे सफाई कर्मचारी वर्ग की ओर से मैं मुख्यमंत्री मनोहर लाल और एससी-बीसी वेलफेयर मिनिस्टर बनवारी लाल का धन्यवाद करता हूं। कृष्ण बेदी ने बताया कि 4 अप्रैल 2021 को करनाल के स्टेडियम में प्रदेश के ग्रामीण शहरी सफाई कर्मचारियों के डेलिगेशन के प्रमुख लोगों ने काफी समस्याएं रखी थी। जिस पर मुख्यमंत्री ने काफी बेहतरीन घोषणा की, जिसका इंप्लीमेंटेशन और नोटिफिकेशन हो चुका है।

बेदी ने बताया कि सीवरमैन की तनख्वाह भी 10 से 12000 मंजूर कर दी गई है। नगरपालिका कर्मचारियों की घोषणाएं भी जल्दी नोटिफिकेशन करके उन्हें इंप्लीमेंटेशन का काम किया जाएगा और हरियाणा में ग्रामीण सफाई कर्मचारी जो कि 10,900 के करीब हैं, जल्द ही पॉपुलेशन के हिसाब से इनकी और भर्ती की जाएगी।

Related Story

Trending Topics

Afghanistan

134/10

20.0

India

181/8

20.0

India win by 47 runs

RR 6.70
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!