DSP सुरेंद्र सिंह को श्रद्धांजलि देने के साथ शुरू हुआ हरियाणा विधानसभा का मानसून सत्र

Edited By Gourav Chouhan, Updated: 08 Aug, 2022 03:37 PM

first day of monsoon session of haryana assembly

शोक प्रस्ताव में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने शहीद डीएसपी को श्रद्धांजलि देने के साथ सदन की कार्यवाही की शुरूआत की। तीन दिन चलने वाले इस सत्र में विपक्ष द्वारा कई मुद्दे उठाए जाएंगे।

चंडीगढ़(चंद्रशेखर धरणी): हरियाणा विधानसभा के मानसून सत्र का पहला दिन डीएसपी सुरेंद्र सिंह को श्रद्धांजलि देने के साथ शुरू हो गया। शोक प्रस्ताव में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने शहीद डीएसपी, पूर्व विधायक एवं संसदीय सचिव कृष्णा पंडित एवं पूर्व विधायक हरि चंद्र हुड्डा के निधन पर शोक व्यक्त किया। शहीद डीएसपी व दोनों पूर्व विधायकों को श्रद्धांजलि देने के साथ सदन की कार्यवाही की शुरूआत की। तीन दिन चलने वाले इस सत्र में विपक्ष द्वारा कई मुद्दे उठाए जाएंगे।

 

प्रश्नकाल

 

विधायक कुंडू ने उठाया टैबलेट का मुद्दा

महम से विधायक बलराज कुंडू ने हरियाणा सरकार की ई-अधिगम योजना को लेकर सरकारी स्कूल के विद्यार्थियों को बांटे जा रहे टैबलेट को लेकर सवाल पूछा। उन्होंने कहा कि सैमसंग कंपनी को ही टेंडर क्यों दिया गया है।

शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुज्जर ने दिया जवाब

कुंडू के सवाल के जवाब में शिक्षा मंत्री ने जवाब दिया। उन्होंने सरकार की ई-अधिगम योजना को डाटा के माध्यम से समझाया। 

 

कांग्रेस विधायक ने उठाया सड़कों का मुद्दा

झज्जर से विधायक गीता भुक्कल ने जिले में सड़कों से जुड़ा सवाल पूछा। भुक्कल ने कहा उप मुख्यमंत्री ने जो जवाब सदन में लिखित में दिया है, उससे मैं संतुष्ट नहीं हूं।

उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने दिया जवाब

गीता भुक्कल के सवाल के जवाब में डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा कि जिले में 1.7 से 3.065 किलोमीटर के खंड को छोड़कर बाकी सड़कों की स्थिति बेहद संतोषजनक है। उन्होंने कहा कि सीवरेज पाइपलाइन में लीकेज के कारण यह खंड क्षतिग्रस्त हो गया है। 

 

पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने जल निकासी का मुद्दा उठाया

सीएम मनोहर लाल ने दिया जवाब

हुड्डा के जवाब में सीएम मनोहर लाल ने कहा कि इस बार आवश्यकता से अधिक बारिश हुई है। इसलिए प्रदेश में कुछ स्थानों पर पानी की निकासी में परेशानी हुई है। 

 

कानून व्यवस्था को लेकर विपक्ष का हमला शुरू

विपक्ष ने कहा कि 18 विधायकों ने राज्य में बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर एक ध्यानाकर्षण प्रस्ताव लगाया था। विपक्ष ने मांग उठाई कि सभी विधायकों को बोलने का मौका मिलना चाहिए। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि सभी विधायकों को बोलने का मौका नहीं दिया जा सकता। 

 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

Trending Topics

India

178/10

18.3

South Africa

227/3

20.0

South Africa win by 49 runs

RR 9.73
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!