बैंक में हुई 20 लाख चोरी का मामला: एमपी में अपराधियों के गांव पहुंची हरियाणा पुलिस, ऐसे किया खुलासा

Edited By Shivam, Updated: 12 Oct, 2020 06:44 PM

20 lakh robbery case in bank haryana police reached village of criminals in mp

जींद जिले में गोहाना रोड पर स्थित पंजाब नेशनल बैंक की शाखा में बीते महीने की 28 तारीख को हुई 20 लाख रूपये की चोरी के मामले में पुलिस ने बड़ी कामयाबी हासिल की है। इस चोरी में एक 11 साल का बच्चा और एक युवक शामिल था, पुलिस ने बच्चे को 3 अक्टूबर...

जींद (अनिल कुमार): जींद जिले में गोहाना रोड पर स्थित पंजाब नेशनल बैंक की शाखा में बीते महीने की 28 तारीख को हुई 20 लाख रूपये की चोरी के मामले में पुलिस ने बड़ी कामयाबी हासिल की है। इस चोरी में एक 11 साल का बच्चा और एक युवक शामिल था, पुलिस ने बच्चे को 3 अक्टूबर राजस्थान से काबू किया था, वहीं आरोपी युवक अब भी फरार चल रहा था, जिसकी गिरफ्तारी के लिए हरियाणा पुलिस मध्य प्रदेश के उस गांव में पहुंची, जहां स्थानीय पुलिस जाने से भी घबराती थी।

स्थानीय पुलिस नहीं कर रही थी मदद
पुलिस के मुताबिक, मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले में पडऩे वाले गांव कडिय़ा के लोग इस तरह की वारदातों को अंजाम देने का पेशा रखते हैं। जिस कारण वहां की स्थानीय पुलिस भी गांव में जाने के लिए हरियाणा पुलिस की मदद नहीं कर रही थी। जींद के एसएचओ हरिओम  ने बताया कि कडिय़ा गांव की स्थानीय पुलिस से सहायता ने मिलने पर हरियाणा के डीआईजी ने राजगढ़ के एसपी को तलब किया, जिसके बाद स्थानीय पुलिस ने सहायता प्रदान की।

एएसआई वीरेंद्र गांव में डाल पांच दिन तक डेरा
PunjabKesari, Haryana

एसएचओ हरिओम ने बताया कि कडिय़ा गांव में आरोपी की गिरफ्तारी की दबिश देने के दौरान 10 लाख रूपये बरामद किए गए हैं, जबकि आरोपी भागने में कामयाब रहा। उन्होंने बताया कि इस ऑपरेशन में मध्य प्रदेश में रह रहे हरियाणा के एक व्यक्ति की सहायता ली गई, जिसने पुलिस की मुखबिरी की। जींद पुलिस के एएसआई वीरेंद्र ने जान की परवाह नहीं करते हुए अपराधियों के गांव कडिय़ा में पांच दिन तक डेरा डाले रखा।

गांव की हर सूचना की हासिल
PunjabKesari, Haryana


पहले दो से तीन दिन तक कडिय़ा गांव में घुसने से लेकर लोगों से बात करने में भी बड़ी परेशानी आई। लेकिन टीम ने बड़ी मेहनत से वहां के लोगों का विश्वास जीता और उनके साथ समय बिताया। कुछ लोग उनसे बात करने लगे। इसके बाद पुलिस का लक्ष्य आसान होता गया। गांव में हर सूचना प्राप्त करने में कामयाबी हासिल की। थाना प्रभारी ने बताया कि अपराध में शामिल बच्चे से पूछताछ के दौरान पता चला था कि वे मध्य प्रदेश के कडिय़ा गांव के रहने वाले हैं, जिसके आधार पर वहां पुलिस टीम भेजी गई थी।

अभी भी जारी है टीम की दबिश
सिविल थाना प्रभारी हरिओम ने बताया कि जींद पुलिस ने दस लाख रुपये बरामद कर लिए हैं, लेकिन अभी उनका लक्ष्य पूरा नहीं हुआ है। अधूरे लक्ष्य को पूरा करने के लिए अभी भी मध्यप्रदेश के कडिय़ा गांव में पुलिस टीम की दबिश जारी है। जल्द ही अपराधियों को पकड़ कर पूरी राशि बरामद कर ली जाएगी। 

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!