विजिलेंस टीम ने ठेकेदार से 50 हजार रुपये रिश्वत लेने पर SDO पंचायती राज को दबोचा, गाड़ी से बरामद हुई रकम

Edited By Mohammad Kumail, Updated: 07 Dec, 2023 08:22 PM

vigilance team caught sdo panchayati raj for taking bribe of rs50 thousand

एंटी क्रप्शन ब्यूरो करनाल की टीम ने वीरवार की शाम को यमुनानगर के बीडीपीओ कार्यालय रादौर से एसडीओ पंचायतीराज संदीप कौशिक को ठेकेदार से 50 हजार रूपये रिश्वत लेने पर दबोचा है...

यमुनानगर (सुरेंद्र मेहता) : एंटी क्रप्शन ब्यूरो करनाल की टीम ने वीरवार की शाम को यमुनानगर के बीडीपीओ कार्यालय रादौर से एसडीओ पंचायतीराज संदीप कौशिक को ठेकेदार से 50 हजार रूपये रिश्वत लेने पर दबोचा है। 50 हजार रूपये की राशि एसडीओ की गाड़ी से बरामद हुई है। उपरोक्त राशि एसडीओ ने कुछ देर पहले ठेकेदार राजबीर उर्फ राजू से रिश्वत के तौर पर लेकर अपनी कार में रखी थी। बाद में विजिलेंस की टीम ने इंस्पेक्टर तेजपाल के नेतृत्व में एसडीओ को बीडीपीओ कार्यालय के प्रांगण में धूप सेंकते पकड़ा। जिसके बाद पुलिस ने एसडीओ की कार की तलाशी ली, तो उसकी कार से 50 हजार रूपये की ठेकेदार द्वारा रिश्वत के तौर पर दी गई राशि बरामद की। विजिलेंस टीम ने रिश्वत लेने के आरोप में एसडीओ को गिरफ्तार किया। विजिलेंस ने गिरफ्तार किए गए एसडीओ के विरूद्ध मामला दर्ज किया है। विजिलेंस की टीम द्वारा की गई कार्रवाई से बीडीपीओ कार्यालय के अलावा अन्य सरकारी कार्यालयों में हडकंप मचा रहा। 

पंचायती विभाग के ठेकेदार राजबीर उर्फ राजू निवासी रादौर पिछले काफी वर्षों से पंचायती विभाग में ठेकेदार के तौर पर कार्य करते आ रहे हैं। पंचायती विभाग में किए गए लगभग 30 लाख रूपये के कार्यों को लेकर राजबीर अपने बिलो के भुगतान को लेकर काफी समय से पंचायती विभाग के चक्कर लगा रहा था। आरोप है कि एसडीओ संदीप कौशिक ने उसके द्वारा किए गए कार्यों के भुगतान को लेकर मोटी कमिशन की मांग की थी। जिसको लेकर राजबीर ने 10 हजार रूपये की राशि एसडीओ को दे दी थी और 50 हजार रूपये की राशि ओर दी जानी थी। मामले को लेकर ठेकेदार राजबीर ने विजिलेंस को मामले की जानकारी देते हुए एसडीओ के विरूद्ध कार्रवाई करने की मांग की थी।

योजना के तहत विजिलेंस की टीम ने वीरवार को 50 हजार रूपये की राशि ठेकेदार को दी। जिसके बाद ठेकेदार ने दोपहर लगभग 3 बजे बीडीपीओ कार्यालय में एसडीओ पंचायती राज संदीप कौशिक से संपर्क किया। संदीप कौशिक ने ठेकेदार को कार्यालय के प्रांगण में खड़ी उसकी कार में आने को कहा। जिसके बाद ठेकेदार राजबीर एसडीओ की गाड़ी में बैठ गया। दोनों ने कुछ देर बात की। इस दौरान ठेकेदार ने 50 हजार रूपये की राशि एसडीओ को रिश्वत के तौर पर थमा दी। जिसके बाद ठेकेदार गाड़ी से उतरकर चला गया। एसडीओ ने रिश्वत के तौर पर ली गई राशि को कार में रख दिया। राशि को कार में रखने के बाद एसडीओ बीडीपीओ कार्यालय प्रांगण में धूप में कुर्सियों पर बैठे कुछ सरपंचो व अन्य लोगों के पास जाकर बैठ गया। इस दौरान जब वह कुर्सी पर बैठा हुआ था, तो विजिलेंस की टीम उसके पास आई और उसे अपनी गाड़ी की तलाशी देने के लिए कहा। एसडीओ ने चाबी से अपनी गाड़ी को खोला तो विजिलेंस ने गाड़ी की तलाशी ली। तलाशी के दौरान एसडीओ की कार से रिश्वत के  तौर पर ली गई 50 हजार रूपये की राशि बरामद हुई। राशि बरामद करने के बाद विजिलेंस की टीम एसडीओ को कार्यालय के कमरे में ले गई। जहां टीम ने अपनी औचारिकता पूरी की।

(हरियाणा की खबरें अब व्हाट्सऐप पर भी, बस यहां क्लिक करें और Punjab Kesari Haryana का ग्रुप ज्वाइन करें।) 
(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

Related Story

Trending Topics

India

397/4

50.0

New Zealand

327/10

48.5

India win by 70 runs

RR 7.94
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!