कार्तिकेय की जीत पर परिवहन मंत्री का बयान, बोले- पहले से ही थी उनकी जीत निश्चित

Edited By Isha, Updated: 14 Jun, 2022 08:33 AM

transport minister s statement on kartikeya victory

राज्यसभा चुनाव में निर्दलीय उम्मीदवार की जीत के बाद कांग्रेस पार्टी पूरी तरह से मायूस और भाजपा मंत्री पूरी तरह से हर्षोउत्त्साहित नजर आ रही है। प्रदेश में हुए इस खेला बारे प्रदेश के वन, पर्यटन एवं परिवहन मंत्री कंवर पाल गुर्जर ने कहा कि यह जीत पहले...

चंडीगढ़( चंद्रशेखर धरणी): राज्यसभा चुनाव में निर्दलीय उम्मीदवार की जीत के बाद कांग्रेस पार्टी पूरी तरह से मायूस और भाजपा मंत्री पूरी तरह से हर्षोउत्त्साहित नजर आ रही है। प्रदेश में हुए इस खेला बारे प्रदेश के वन, पर्यटन एवं परिवहन मंत्री कंवर पाल गुर्जर ने कहा कि यह जीत पहले से ही निश्चित थी। इस चुनाव में हर सदस्य की वोट की वैल्यू 100 है। यह एक टेक्निकल विषय है और कुल वैल्यू 8800 के हिसाब से 2934 वैल्यू पर एक कैंडिडेट की जीत थी। किसी दल के वोट सरप्लस होने पर दूसरे विकल्प पर यह वोट ट्रांसफर होने का नियम है। 2934 पर कृष्ण पंवार की जीत के बाद सरप्लस वोट कार्तिकेय पर चली गई और उनकी वैल्यू 2966 बन गई। जबकि कांग्रेस के उम्मीदवार अजय माकन 2900 वैल्यू पर ही रह गए। इसलिए भाजपा उम्मीदवार कृष्ण लाल पंवार और आजाद उम्मीदवार कार्तिकेय शर्मा की जीत हुई है। उन्होंने कुलदीप बिश्नोई पर टिप्पणी करते हुए कहा कि उन्होंने आत्मा की आवाज पर वोट दिया। कांग्रेस का व्यवहार पहले भी कई नेता देखते हुए कांग्रेस को त्याग चुके हैं। क्योंकि कांग्रेस की डूबती नैया में कोई सवार नहीं होना चाहता। कांग्रेस का भविष्य अंधकार में है और अगर कुलदीप बिश्नोई भाजपा ज्वाइन करने के लिए तैयार होंगे तो हम उनका स्वागत करते हैं। भारतीय जनता पार्टी लगातार नए सदस्य बनाने के लिए भागदौड़ करती रहती है। इसलिए आज भाजपा देश की सबसे बड़ी पार्टी है और भाजपा के दरवाजे सभी के लिए खुले हैं। हम कुलदीप के स्वागत को भी तैयार हैं।

सोमवार को पड़ोसी राज्य उत्तराखंड के शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत प्रदेश के शिक्षा विभाग की ट्रांसफर पॉलिसी के अध्ययन को चंडीगढ़ पहुंचे थे। उस पर जानकारी देते हुए गुर्जर ने बताया कि केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान द्वारा गुजरात में ली गई बैठक के दौरान रावत से मुलाकात हुई थी। जिसमें उन्होंने इस पॉलिसी को लेकर 95 फ़ीसदी मिल रही सेटिस्फेक्शन को लेकर इसमें रुचि दिखाई थी और देश के प्रधानमंत्री भी इस पॉलिसी की तारीफ कर चुके हैं। मुख्यमंत्री के दिशा निर्देशों और अधिकारियों की कड़ी मेहनत के बाद इस पॉलिसी के काफी बेहतर परिणाम सामने आए हैं और प्रदेश शिक्षा विभाग के लोग इससे काफी संतुष्ट हैं। इसलिए धन सिंह रावत प्रदेश की पॉलिसी को लेकर यहां आए और काफी सहमत दिखे। उन्होंने आने वाले दिनों में उत्तराखंड में भी इस पॉलिसी को लागू करने की बात कही है। गुर्जर ने बताया कि जुलाई महीने से प्रदेश में ट्रांसफर ड्राइव फिर से खोल दिए जाएंगे।

हाल ही में पड़ोसी राज्य दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा हरियाणा पर पानी की पूरी हिस्सेदारी ना दिए जाने के आरोप पर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री कंवरपाल गुर्जर ने केजरीवाल को जवाब देते हुए कहा कि उनका झूठ बोलने का काम है। हरियाणा की सरकार कभी दिल्ली से कोई फर्क नहीं करती। जबकि पहले वाली सरकार हिस्सेदारी देने से बेशक इनकार करते होंगी। हमने दिल्ली को कभी बेगाना नहीं माना। बेशक दिल्ली एक अलग प्रदेश है। लेकिन हम सभी भारतीय हैं और दिल्ली की हिस्सेदारी हम हमेशा से दे रहे हैं। दिल्ली सरकार इस पानी का बंटवारा सही ढंग से नहीं कर पा रही तो यह दिल्ली सरकार की कमजोरी है। दिल्ली सरकार को अपने सिस्टम में सुधार की आवश्यकता है। बेशक दिल्ली प्रशासनिक दृष्टि से एक अलग प्रदेश है। लेकिन वह भी भारतीय हैं। हम इस प्रकार की बात ना कभी सोच सकते हैं और ना ही कर सकते हैं। कंवरपाल गुर्जर ने अपने पर्यटन विभाग पर बात करते हुए कहा कि हम गुडगांव में सफारी के बारे में भी विचार कर रहे हैं। इसे लेकर केंद्रीय पर्यटन मंत्री और प्रदेश के मुख्यमंत्री भी काफी प्रयासरत हैं।

 

 

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

284/10

378/3

India

416/10

245/10

England win by 7 wickets

RR 4.63
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!