मूसेवाला हत्याकांड: गांव में आया शार्प शूटर किरमारा, ग्रामीणों को भनक तक नहीं

Edited By Isha, Updated: 23 Jun, 2022 09:54 AM

sharp shooter kirmara came to the village

पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला का मर्डर करने के बाद शार्प शूटर जिले के गांव किरमारा में रुके थे, इसकी ग्रामीणों को कोई भनक नहीं है। दिल्ली पुलिस रविवार को तड़के गांव के रमेश लोहचब के बेटे नवदीप व मुनीष को उठाकर ले गई थी। परिजनों का कहना है

हिसार : पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला का मर्डर करने के बाद शार्प शूटर जिले के गांव किरमारा में रुके थे, इसकी ग्रामीणों को कोई भनक नहीं है। दिल्ली पुलिस रविवार को तड़के गांव के रमेश लोहचब के बेटे नवदीप व मुनीष को उठाकर ले गई थी। परिजनों का कहना है कि पुलिस ने दोनों लड़कों को उठाकर ले जाने के बारे में हमें यह नहीं बताया कि वे उनको किस बारे ले जा रहे हैं।जानकारी के अनुसार सिंगर सिद्धू मेसूवाला की हत्या को अंजाम देने वाले आरोपी मौके फरार हो गए थे। बताया जा रहा है कि किरमारा गांव के नवदीप व मुनीष का परिचित प्रदीप शूटर प्रियवर्त फौजी व एक अन्य युवक को लेकर घर आया था।

वे रातभर रुककर तड़के निकल गए थे। बताया जा रहा है कि दिल्ली के पुलिस कर्मी रविवार तड़के खेतों में बने रमेश के घर में आये और उनके दोनों बेटों नवदीप व मुनीष को उठाकर गाड़ी में बिठाकर साथ ले गए। पुलिस कर्मी घर से एक बैग ले गए थे। माना जा रहा है उसमें शार्प शूटर के हथियार थे। वहीं  पुलिस प्रवक्ता का कहना है कि दिल्ली पुलिस किरमारा गांव में आई थी। 

रमेश ने बताया कि उसके व उसके भाई विनोद के पास 7 एकड़ जमीन है। हम खेतों में ढाणी बनाकर रहते हैं। करीब 2 साल पहले एक्सीडेंट हो गया था। उसके बाद मेरी 1 आंख की पूरी रोशनी जाती रही और दूसरी आंख से केवल 25 प्रतिशत दिखता है। दिखना कम हुआ तो मैंने नवदीप को बारहवीं कक्षा व मुनीष को 11वीं कक्षा से पढने से उठा लिया। नवदीप कैमरी रोड पर धन्यवाद बोर्ड के पास खाद-बीज की दुकान करने लगा। लेकिन दुकान नहीं चली। फिर नवदीप व मुनीष कार खरीद-बेच का काम करने लगे। उन्होंने कहा कि मेरे बेटों की कभी कोई शिकायत नहीं आई। 

कुछ व्यक्तियों ने रविवार को तड़के हमारी ढाणी घेर ली। वे अंदर आ गए और आते ही मेरा फोन छीनकर कहने लगे कि चुप रहना, शोर मत करना। वे सादे लिबास में थे। हमें नहीं पता पुलिस कर्मी थे या कोई और थे। उन्होंने दोनों को बेटों को उठाकर गाड़ी में डाल लिया। फिर वे लोग मेरा फोन लौटाकर चले गए। तभी से दोनों बेटों का फोन बंद है। बेटों की किसी कांड में संलिप्तता है या नहीं, हमें कुछ नहीं पता।

रमेश की पत्नी सरोज ने बताया कि पहले हमारा घर गांव के बीच में था। हमने कुछ जमीन बेचकर करीब 5 साल पहले खेत में मकान बनाया था। दोनों बेटे नवदीप व मुनीष की कभी कोई शिकायत नहीं आई। दोनों बेटों का परिचित प्रदीप कार खरीद-बेच के संबंध में हमारे पास आता रहा है। लेकिन अब हमारे दोनों बेटे कहां है और किस हाल में हैं, हमें कुछ नहीं पता।
 
 

Related Story

Trending Topics

India

179/5

20.0

South Africa

131/10

19.1

India win by 48 runs

RR 8.95
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!