थप्पड़ कांड के बाद लगे आजीवन प्रतिबंध को हटाने के लिए सतेंद्र मलिक ने लगाई फेडरेशन से गुहार

Edited By Vivek Rai, Updated: 28 May, 2022 04:10 PM

satendra malik appealed to federation to remove the life ban

अंतरराष्ट्रीय पहलवान सतेंद्र मलिक अपने ऊपर लगे आजीवन प्रतिबंध हटाने को लेकर न्याय की मांग कर रहे हैं। उनका कहना है कि जब आपराधिक प्रवृत्ति के लोग ज्यूरी में होंगे तो इसी तरह के फैसले लेकर पहलवानों का करियर खत्म कर दिया जाएगा।

रोहतक(दीपक): अंतरराष्ट्रीय पहलवान सतेंद्र मलिक अपने ऊपर लगे आजीवन प्रतिबंध हटाने को लेकर न्याय की मांग कर रहे हैं। उनका कहना है कि जब आपराधिक प्रवृत्ति के लोग ज्यूरी में होंगे तो इसी तरह के फैसले लेकर पहलवानों का करियर खत्म कर दिया जाएगा। लेकिन उन्हें फेडरेशन से पूरी उम्मीद है कि वह उन्हें न्याय देगी। इसलिए उन्होंने फेडरेशन के सामने इंसाफ की गुहार लगाई है। सतेंद्र मलिक ने अपना पक्ष रखने के लिए आज रोहतक में एक प्रेस वार्ता की।

पहलवान ने कहा उन्हे फेडरेशन से है न्याय की उम्मीद

सतेंद्र ने कहा कि उन्हें पहलवानी करते हुए 20 साल हो गए हैं और आज तक कभी भी उनके करियर में किसी के साथ मारपीट तो दूर, उन्होंने किसी के साथ तेज आवाज में बात भी नहीं की। कॉमनवेल्थ ट्रायल के दौरान जो घटनाक्रम हुआ, वह दरअसल उन्हें कॉमनवेल्थ गेम्स में जाने से रोकने के लिए एक साजिश थी। ज्यूरी मेंबर जगबीर दहिया के साथ जो घटनाक्रम उस ट्रायल के दौरान हुआ उसका वीडियो भी सभी ने देखा है। जगबीर दहिया के सामने जब उस कुश्ती को लेकर मैंने अपना पक्ष रखा तो उन्होंने मुझे थप्पड़ मार दिया और गुस्से में मैंने भी थप्पड़ लगा दिया। उन्होंने कहा कि जगबीर दहिया पर तो पहले भी आपराधिक मामले दर्ज हैं और वह जेल में भी रह चुका है। ऐसे लोग ज्यूरी में होंगे तो इसी तरह से पहलवानों के करियर बर्बाद करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि इस गलत फैसले से मेरा 20 साल का करियर बर्बाद हो गया है। वे एयरफोर्स में नौकरी करते हैं और एयरफोर्स की तरफ से भी फेडरेशन को इस मामले की जांच करने के लिए लिखा गया है। साथ ही उन्होंने स्वयं भी फेडरेशन के सामने गुहार लगाई है कि उन्हें न्याय दिया जाए। उन्हें पूरी उम्मीद है कि फेडरेशन उनके साथ न्याय करेगी। इस फैसले ने कॉमनवेल्थ में पदक जीतने का मेरा सपना खत्म कर दिया है। मैं चाहता हूं कि ट्रायल दोबारा करवाए जाएं।

कॉमनवेल्थ गेम्स के ट्रायल के दौरान हुआ था विवाद

बता दें कि कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के लिए दिल्ली में ट्रायल चल रहे थे, जिसमें एक बड़ा विवाद हो गया था। सतेंद्र मलिक और एक सीनियर रेफरी जगबीर सिंह के बीच किसी बात को लेकर एक विवाद हो गया था। इसके बाद रेफरी ने पहलवान को थप्पड़ जड दिया। गुस्साए पहलवान ने भी रेफरी को बदले में एक थप्पड़ मारा था। इस घटना के बाद कुश्ती फेडरेशन ने तुरंत एक्शन लेते हुए उन पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया है। इस मारपीट की वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल भी हुई थी। वीडियो सामने आने के बाद कई खिलाड़ी सतेंद्र मलिक का समर्थन करते हुए उनके ऊपर लगाए गए आजीवन प्रतिबंध को हटाने की मांग कर चुके हैं।  

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भीबस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!