डिप्टी सीएम ने जींद यूनिवर्सिटी को दी 127 करोड़ रुपये की सौगात

Edited By Gourav Chouhan, Updated: 01 Aug, 2022 10:33 PM

deputy cm gave schemes of 127 crore to jind university

इसके साथ ही डिप्टी सीएम ने साढे 56 करोड़ रुपये से ज्यादा की लागत से बनने वाली अत्याधुनिक लाइब्रेरी व साढे 18 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले विश्राम गृह का शिलान्यास भी किया।

चंडीगढ़/जींद(चंद्रशेखर धरणी): उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि आज विद्यार्थियों को पढ़ाई के साथ रिसर्च के कार्यों पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है, जो कि समय की मांग भी है। डिप्टी सीएम सोमवार को जींद में चौधरी रणबीर सिंह विश्वविद्यालय में आयोजित कार्यक्रम में पहुंचे। कार्यक्रम से पहले उन्होंने विश्वविद्यालय परिसर में 40 करोड़ रुपये की लागत से बने शैक्षणिक खंड, 12 करोड़ रुपये की लागत से बने बहुउद्देशीय हाल एवं योगशाला का उद्घाटन किया। इसके साथ ही डिप्टी सीएम ने साढे 56 करोड़ रुपये से ज्यादा की लागत से बनने वाली अत्याधुनिक लाइब्रेरी व साढे 18 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले विश्राम गृह का शिलान्यास भी किया।

 

सरकारी विश्वविद्यालयों में इन्क्यूबेशन सेंटर बनाने के लिए केन्द्र सरकार देगी पांच करोड़ रुपए

 

डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा कि  सरकारी विश्वविद्यालयों में इन्क्यूबेशन सेंटर स्थापित करने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा पांच करोड़ रूपये की राशि उपलब्ध करवाने का प्रावधान है और इसके तहत विश्वविद्यालयों में साइंस एवं टेक्नोलॉजी सम्बंधित रिसर्च, इनोवेशन के साथ, उद्यमिता को बढ़ावा देना इसका मुख्य उद्देश्य है। इस बारे उन्होंने विश्वविद्यालय प्रशासन को एक प्रपोजल बनाने का सुझाव दिया है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि विद्यार्थी अक्षय ऊर्जा, ई-व्हीकल, लेदर हब्स जैसे तकनीकी विषयों पर शोध करने का कार्य करें ताकि आने वाले समय में विद्यार्थियों इसका लाभ स्वरोजगार के साथ ले सकें। उन्होंने कहा कि प्रतिस्पर्धा के इस युग में युवाओं को अपने बेहतर भविष्य बनाने के लिए पूरी तरह से फोकस होना पडेगा। उन्होंने विश्वविद्यालय प्रशासन से कहा कि रेसलिंग, जूडो या कराटे में से एक दो ऐसे खेलों का प्रपोजल तैयार करके भेजें जिससे वह स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (साई) के सेंटर को विश्वविद्यालय में लाने का कार्य करेंगे।

 

डिजिटलाइजेशन के बाद पूरे विश्व में पहुंच रही शिक्षा

 

उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि भारत में प्राचीन काल से चली आ रही योग विद्या को डिजिटलाइजेशन के माध्यम से पूरे विश्व में फैलाया है। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी योग विद्या को अपने करियर के रूप में अपनाकर स्वस्थ रहने के साथ-साथ अपनी आजीविका का साधन भी बना सकते है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान लोगों ने इसे अपनी दिनचर्या में शामिल भी किया है। उन्होंने कहा कि अगर हमारे अंदर कुछ कर गुजरने का जज्बा है तो हम स्थानीय स्तर की प्रतिभा को भी पूरे विश्व में ख्याति प्राप्त कर सकते है। 

इस अवसर पर डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने शैक्षणिक ब्लाक द्वितीय में बने नए सभागार का नाम जींद के पूर्व विधायक स्व. डॉ. हरिचंद मिढ़ा के नाम पर रखने की बात भी विश्वविद्यालय प्रशासन से कही। उन्होंने कहा कि डॉ. मिढा का जुड़ाव जींद के विकास को लेकर रहा है। उपमुख्यमंत्री ने विश्वविद्यालय के विस्तार के लिए 100 एकड़ भूमि की मांग के विषय पर बोलते हुए कहा कि विश्वविद्यालय 100 एकड़ भूमि के लिए एक प्रपोजल उन्हे बनाकर दें, जिससे वह ई-भूमि के माध्यम से इस मांग को पूरा करवाने का कार्य करेंगे।

 

 (हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भीबस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!