हरियाणा कांग्रेस प्रभारी विवेक बंसल का पद खतरे में, चिंतन शिविर में नहीं बुलाकर हुड्डा गुट ने खोला मोर्चा

Edited By Isha, Updated: 29 Jul, 2022 02:52 PM

congress in charge vivek bansal post in danger

हरियाणा कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष उदयभान तथा कार्यकारी अध्यक्षों की नियुक्ति के बाद ऐसा लग रहा था कि कांग्रेस की गुटबाजी पर लगाम लग सकती है लेकिन हरियाणा कांग्रेस के एक दिवसीय चिंतन शिविर में पार्टी प्रदेश प्रभारी विवेक बंसल को न बुलाना या शिविर के...

चंडीगढ़ (दीपक बंसल): हरियाणा कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष उदयभान तथा कार्यकारी अध्यक्षों की नियुक्ति के बाद ऐसा लग रहा था कि कांग्रेस की गुटबाजी पर लगाम लग सकती है लेकिन हरियाणा कांग्रेस के एक दिवसीय चिंतन शिविर में पार्टी प्रदेश प्रभारी विवेक बंसल को न बुलाना या शिविर के एजैंडे की कापी न भेजना यह इशारा कर रहा है कि उनका पद खतरे में है, यह भी कह सकते हैं कि चिंतन शिविर में न बुलाकर हुड्डा गुट ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल लिया है। 

राज्यसभा चुनाव में हुए क्रॉस वोटिंग के खेल के बाद प्रभारी विवेक बंसल तथा विधायक किरण चौधरी पर हुड्डा गुट की नजरें कुछ तीखी हो चली थी लेकिन पार्टी के अहम शिविर के एजैंडों की जानकारी की कापी तक प्रभारी तक न पहुंचाना काफी चर्चा का विषय बना हुआ है। 
यह उल्लेखनीय पहलू यह है कि इस चिंतन शिविर की रूपरेखा तैयार करने के लिए पार्टी प्रदेशाध्यक्ष उदयभान ने प्रभारी विवेक बंसल से मशविरा किया था जबकि शिविर का कार्यक्रम फाइनल हो जाने के बाद एजैंडे की कापी पार्टी के संगठन महासचिव के.सी. वेणुगोपाल को तो भेजी गई लेकिन प्रभारी को नहीं भेजी गई। यह बात किस ओर इशारा कर रही है कि सप्ताह में ही ऐसा क्या हो गया कि कार्यक्रम की सलाह के बाद उन्हें कापी नहीं भेजी गई या बुलाया नहीं गया। 

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष यह दावा कर रहे हैं कि जल्द की संगठन की सूची जारी हो जाएगी लेकिन क्या ऐसे हालात में संगठन की सूची जारी होगी या सूची जारी होने के बाद पार्टी की कलह खुलकर सड़कों पर होगी।  राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी अजय माकन ने क्रॉस वोटिंग के मामले में प्रभारी विवेक बंसल और किरण चौधरी पर आरोप लगाए थे और उसके बाद लगातार हुड्डा गुट की वैटिंग जारी है। हालांकि यह मामला अब हाईकमान के पाले में है क्योंकि माकन ने अपने स्तर पर रिपोर्ट तैयार कर पार्टी हाईकमान को भेजी थी। दूसरी ओर यह भी प्रचार जोरों पर है कि जल्द ही प्रभारी की छुट्टी हो जाएगी और माकन को ही हरियाणा में पार्टी प्रभारी लगाया जाएगा। 

एक अगस्त को पंचकूला में होगा चिंतन शिविर
कांग्रेस का चिंतन शिविर 1 अगसता को पंचकूला के गोल्डन टुलिप होटल मोरनी में आयोजित होगा। शिविर में कांग्रेस के भावी कार्यक्रमों की रूपरेखा पर मंथन होगा। भारत जोड़ो यात्रा के अंतर्गत 9 से 15 अगस्त के बीच प्रत्येक जिले में होने वाली 75 किलोमीटर पदयात्रा की रूपरेखा, भाजपा सरकार की दमनकारी नीतियों, तानाशाही रवैए, महंगाई, बेरोजगारी, कानून व्यवस्था, कांग्रेस व अन्य विपक्षी पाॢटयों के विरुद्ध झूठे केस दर्ज करवाकर उन्हें अनावश्यक रूप से परेशान करने आदि मुद्दों की रणनीति, 2 अक्तूबर को कन्याकुमारी से आरंभ होकर कश्मीर तक जाने वाली 3500 कि.मी. लंबी जोड़ो भारत पद यात्रा का हरियाणा का रूट प्लान, यू.पी.ए. सरकार के फ्लैगशिप कार्यक्रमों को लोगों तक पहुंचाने की रणनीति पर मंथन किया जाएगा। 

 
कोई जरूरी नहीं कि चिंतन शिविर में मुझे बुलाया जाए या फिर सूचना भेजी जाए। जब प्रदेशाध्यक्ष उदयभान ने मेरे से सलाह करके की कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार की है, तो ऐसे में मुझे सूचना भेजना कोई जरूरी नहीं। शिविर में शामिल होने बारे में आज कुछ नहीं बता सकता, इस बारे में कल सूचित करूंगा।
 विवेक बंसल, हरियाणा कांग्रेस प्रदेश प्रभारी

पार्टी प्रभारी पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्षा द्वारा नियुक्त किया हुआ नुमाइंदा होता है तो ऐसे में उन्हें सूचना जरूर भेजी जानी चाहिए, अगर नहीं भेजी गई तो इसका गलत संदेश जाएगा। प्रभारी ही पार्टी हाईकमान द्वारा तय किए गए एजैंडों को बताता है। प्रभारी विवेक बंसल ने लगातार 2 वर्षों में हरियाणा में कांग्रेस को मजबूत करने का प्रयास किया है। 

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!