चौधरी देवीलाल चुनाव परिणाम पक्ष में ना आने के बावजूद भी कभी हिम्मत नहीं हारते थे: जगदीप धनखड़

Edited By Isha, Updated: 30 Mar, 2022 12:24 PM

choudhary devi lal never lost courage even after the election results

इनेलो के वरिष्ठ नेता तथा विधायक अभय सिंह चौटाला उनके पुत्र करण चौटाला उनकी पुत्र वधू तथा उनके परम मित्र डॉक्टर संदीप शर्मा पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ के व्यक्तिगत निमंत्रण पर राज भवन पश्चिम बंगाल में

चंडीगढ़(चन्द्र शेखर धरणी): इनेलो के वरिष्ठ नेता तथा विधायक अभय सिंह चौटाला उनके पुत्र करण चौटाला उनकी पुत्र वधू तथा उनके परम मित्र डॉक्टर संदीप शर्मा पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ के व्यक्तिगत निमंत्रण पर राज भवन पश्चिम बंगाल में मंगलवार को पहुंचे तथा उनसे मुलाकात की। जगदीप धनखड़ तथा चौधरी देवीलाल के रिश्ते बहुत पुराने हैं। चौधरी देवीलाल ने जगदीप धनखड़ को अपने जीवन में खूब स्नेह दिया। उन्होंने अपने राजनीतिक जीवन में चौधरी देवीलाल से बहुत कुछ सीखा है। चौधरी देवी लाल संघर्ष व त्याग की एक ऐसी प्रतिमूर्ति रहे हैं जो पूरे समाज और देश के लिए एक उदाहरण है। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ हाल ही में गुरुग्राम आए थे तथा हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री तथा इनेलो के सुप्रीमो ओम प्रकाश चौटाला के साथ भोज भी किया था।

अभय सिंह चौटाला का राजभवन में पहुंचने पर स्वागत किया गया तथा वहां के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने चौटाला परिवार तथा उनके मित्रों के साथ काफी देर तक गपशप की। संदीप शर्मा ने फोन पर हुई बातचीत में बताया कि राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने अभय सिंह चौटाला तथा उनके पुत्र करण चौटाला को चौधरी देवीलाल से जुड़े अपने कई पुराने सहसवान भी सुनाएं। जगदीप धनखड़ ने उन्हें संघर्ष के दौर में चौधरी देवीलाल के व्यक्तित्व के बारे में भी कई बातें बताई। संदीप शर्मा ने बताया कि चौधरी देवीलाल को 1987 में जब 90 में से 85 विधानसभा सीटों में जीत मिली उस दौर के परिपेक्ष को भी उन्होंने याद किया। अभय सिंह चौटाला के पुत्र करण चौटाला तथा उनकी पुत्रवधू को राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने जहां शादी के बाद पहली बार उनसे मिलने के लिए आशीर्वाद भी दिया वही उन्हें प्रेरणा भी दी की अपने स्वर्गीय परदादा चौधरी देवीलाल की नीतियों का अनुसरण करें तथा हरियाणा की सेवा करें। जगदीप धनखड़ ने उन्हें बताया कि उनका पीढ़ी दर पीढ़ी पारिवारिक नाता चौटाला परिवार से है। हरियाणा की राजनीति में चौधरी देवी लाल तथा चौधरी ओमप्रकाश चौटाला जैसे राजनीतिक लोगों का कोई मुकाबला किसी से नहीं है।

जगदीप धनखड़ ने स्वर्गीय चौधरी देवी लाल को एक अद्भुत तथा बिना थकने वाले योद्धा थे।  चौधरी देवीलाल चुनाव परिणाम पक्ष में ना आने के बावजूद भी कभी हिम्मत नहीं हारते थे। अभय चौटाला के काफी नजदीकी मित्र संदीप शर्मा ने बताया कि जगदीप धनखड़ ने अभय चौटाला व उनके परिवार का अभिनंदन एक परिवारिक सदस्य के रूप में पश्चिम बंगाल के अंदर किया। उन्होंने करण चौटाला को भी राजनीति में अपने दादा चौधरी ओमप्रकाश चौटाला से राजनीतिक गुरु शिखर परिवार की विरासत को मजबूती से आगे बढ़ाने के लिए प्रेरित किया। करण चौटाला ने भी उन्हें आश्वासन दिया कि वह अपने पिता अभय सिंह तथा दादा ओम प्रकाश चौटाला की तर्ज पर हरियाणा की जनता की सेवा में पूर्णतया कटे बंद रहेंगे। इसके साथ-साथ उन्होंने कहा कि चौधरी देवी लाल परिवार की राजनीतिक विरासत को मजबूती से आगे ले जाने का काम करेंगे। bइनेलो विधायक अभय सिंह चौटाला अपने परिवार तथा अपने नजदीकी मित्र डॉक्टर संदीप शर्मा के साथ पश्चिम बंगाल की यात्रा पर हैं तथा उस दिन वही रहेंगे। प्राप्त जानकारी के अनुसार अभय सिंह चौटाला 1 अप्रैल को चंडीगढ़ लौटेंगे।

 

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!