ब्रजमंडल यात्रा में नहीं शामिल होंगी महिलाएं एवं बच्चे...बजरंग दल रहेगा सुरक्षा में तैनात, 22 जुलाई के बाद जलाभिषेक

Edited By Saurabh Pal, Updated: 10 Jul, 2024 04:10 PM

children and women will not be included in the braj mandal yatra

हिंदू संगठन सावन के माह में नूंह में स्थित नल्हड़ के शिव मंदिर में एक बार फिर जलाभिषेक की तैयारी में जुट गए हैं। सोनीपत में स्वामी दयानंद सरस्वती महाराज ने प्रेस वार्ता कर इसका ऐलान कर दिया है। सरस्वती महाराज ने कहा है...

सोनीपत(सन्नी मलिक): हिंदू संगठन सावन के माह में नूंह में स्थित नल्हड़ के शिव मंदिर में एक बार फिर जलाभिषेक की तैयारी में जुट गए हैं। सोनीपत में स्वामी दयानंद सरस्वती महाराज ने प्रेस वार्ता कर इसका ऐलान कर दिया है। सरस्वती महाराज ने कहा है कि 22 जुलाई को बृजमंडल यात्रा के बाद नल्हड़ शिव मंदिर में जलाभिषेक करेंगे।

सोनीपत से 22 जुलाई को सुबह नल्हड़ शिव मंदिर की ओर संत सरस्वती महाराज व अन्य श्रद्धालु प्रस्थान करेंगे। जिसकी घोषणा आज संत दयानंद सरस्वती महाराज ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके की। उन्होंने कहा कि इस बार संतों की अगुवाई में यात्रा होगी। यात्रा शांतिपूर्ण ढंग से होगी और किसी को भी कोई हथियार ले जाने की इजाजत नहीं दी गई है। अबकी बार जिला प्रशासन और सरकार को भी इसकी सूचना पहले ही दे दी गई है। भड़काऊ बयानबाजी पर रोक लगा दी गई है।

PunjabKesari

बता दें कि पिछले साल नूंह में स्थित नलहड़ शिव मंदिर में जलाभिषेक के दौरान हिंसक घटना हुई थी। इसके बाद एक बार फिर विश्व हिंदू परिषद नल्हड़ शिव मंदिर में जलाभिषेक की तैयारी कर रहा है। सोनीपत के राधा कृष्ण आश्रम के मठाधीश स्वामी दयानंद सरस्वती महाराज ने एक प्रेस वार्ता की प्रेस वार्ता के दौरान पत्रकारों से बातचीत में स्वामी दयानंद सरस्वती महाराज ने बड़ा ऐलान किया है, सरस्वती महाराज ने कहा है कि सावन के पहले सोमवार 22 जुलाई को नलहड़ शिव मंदिर में जलाभिषेक किया जाएगा। जिसकी तैयारियां की जा रही हैं इस बार बच्चों और महिलाओं पर प्रतिबंध रहेगा। वहीं किसी को भी कोई हथियार ले जाने की इजाजत नहीं दी गई है। सुरक्षा व्यवस्था की जिम्मेवारी बजरंग दल द्वारा की जाएगी। वहीं सरकार और प्रशासन को भी इसकी सूचना दे दी गई है इस बार कोई हिंसक घटना ना हो इसके लिए सभी व्यवस्थाओं को संत खुद देख रहे हैं और इस बार अगुवाई यात्रा की सभी जगह से संत करेंगे 22 तारीख को सुबह सोनीपत से स्वामी सरस्वती महाराज नल्हड़ शिव मंदिर में जलाभिषेक के लिए प्रस्थान करेंगे।

दयानंद सरस्वती महाराज ने कहा कि पिछली बार जो हिंसक घटना हुई उसमें  सरकार की भी कुछ कमी रही हैं और इस बार सरकार से बातचीत की जा रही है। उन्होंने कहा कि यात्रा शांतिपूर्ण तरीके से रहेगी और पिछली बार कई आपत्तिजनक बयान भी हिंसक घटना का कारण बने, लेकिन इस बार कोई भी हिंसा घटना ना हो इसकी तैयारियां पूरी कर ली गई है। हरिद्वार से गंगाजल आश्रम में आज शाम तक पहुंच जाएगा और 22 तारीख की सुबह यहां से जलाभिषेक के लिए रवाना हो जाएंगे, नल्हड़ में शिव का पुराना मंदिर है और हिंदुओं को जगाने के लिए यह यात्रा की।
 

(पंजाब केसरी हरियाणा की खबरें अब क्लिक में Whatsapp एवं Telegram पर जुड़ने के लिए लाल रंग पर क्लिक करें)  

Related Story

Trending Topics

Afghanistan

134/10

20.0

India

181/8

20.0

India win by 47 runs

RR 6.70
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!