साइबर ठगों की पुलिस को चुनौती, इंस्पेक्टर को बनाया निशाना

Edited By Pawan Kumar Sethi, Updated: 21 Jun, 2022 08:31 PM

cheater transfer call to inspector mobile in gurgaon

लोगों को चपत लगाने के लिए साइबर ठग अब पुलिस नंबर का इस्तेमाल करने लगे हैं। ऐसा ही मामला सेक्टर 40 थाना क्षेत्र का है। जिसमें साइबर ठगों द्वारा थाना प्रबंधक के नंबर को ही यूज कर मामला रफा दफा करने की एवज में लोगों से रुपये मांगने की बात सामने आई है।

गुड़गांव, (पवन कुमार सेठी): लोगों को चपत लगाने के लिए साइबर ठग अब पुलिस नंबर का इस्तेमाल करने लगे हैं। ऐसा ही मामला सेक्टर 40 थाना क्षेत्र का है। जिसमें साइबर ठगों द्वारा थाना प्रबंधक के नंबर को ही यूज कर मामला रफा दफा करने की एवज में लोगों से रुपये मांगने की बात सामने आई है। इस बाबत थाना प्रबंधक ने शिकायत देकर आरोपियों पर कार्रवाई किए जाने की मांग की है। 

 

गुरुग्राम की खबरों के लिए इस लिंक https://www.facebook.com/GurugramKesari पर क्लिक करें।
दरअसल, गुड़गांव पुलिस कमिश्ररी में सभी अधिकारी, थाना प्रभारी व चौकी इंचार्ज सहित पुलिस को एयरटेल कंपनी के सिम उपलब्ध कराए हुए हैंं। जिसमें एक ही सीरिज के नंबर हैं। सेक्टर 40 थाना प्रभारी सतीश कुमार को 9999981824 नंबर मुहैया कराया हुआ है। इस नंबर को साइबर ठगों ने कॉल फारवर्ड के जरिए इस्तेमाल करना शुरु कर दिया। जिसका खुलासा तब हुआ जब, लोगों ने ही थाना प्रबंधक को फोन करना शुरु कर दिया। थाना प्रबंधक सतीश कुमार ने अपने ही थाने में दिए बयान में कहा कि कई दिनों से उनके नंबर पर अलग-अलग लोगों के फोन आ रहे हैं। जिसमें फोन करने वालों ने कहा कि आप गुड़गांव पुलिस से सब इंस्पेक्टर बोल रहे हैं। हमारी कल आपसे बात हुई थी। जिसमें आपने हमें गालियां दी थी और कहा था कि हमारे उपर कोई केस है। ऐसे फोन थाना प्रबंधक के पास आ रहे हैं।

 

इसके बाद 20 जून को राजस्थान से सांय फोन आया। जिसमें फोन करने वाले ने खुद को राजस्थान के अलवर जिले के नोगांव निवासी नवप्रीत बताया। उसने कहा कि वह राजस्थान से बोल रहा है। आपने मेरे पास फोन किया था कि मेरे उपर केस दर्ज है। जिसका वारंट मेरे पास है। यदि केस का निपटारा चाहते हो तो मैं वकील का नंबर देता हूं उसे 63000 रुपये दे दो। वकील उससे खुद बात कर लेगा। इसी तरह के कई फोन थाना प्रबंधक के पास आए। जिस पर थाना प्रबंधक ने नवप्रीत व अन्य फोन करने वालों से डायल किए गए नंबर के बारे में पूछा तो पता लगा कि उन्होंने अलग-अलग नंबर बताए जिनके कॉल थाना प्रभारी के सरकारी नंबर पर डायवर्ट किए गए हैं। 

थाना प्रबंधक का कहना है कि साइबर फ्राड गैंग ने लोगों से धोखाधड़ी करने व पुलिस की छवि खराब करने, पुलिस के नाम पर रिश्वत मांगने, झूठे केस में फंसाने के नाम पर लोगों को लूटने की नियत से कॉल फारवर्डिंग उनके नंबर पर कर रखी है। इन नंबरों का यूज करने वाले साइबर ठगों पर कार्रवाई की जाए। थाना प्रबंधक के बयान पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया। वहीं इसकी सूचना पुलिस के ऑलाअधिकारियों को भी भेज दी गई है।

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

284/10

378/3

India

416/10

245/10

England win by 7 wickets

RR 4.63
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!