कुलदीप जैसे अच्छे इंसान अगर बीजेपी में आए हम उनका स्वागत करेंगे : रणजीत चौटाला

Edited By Manisha rana, Updated: 25 Jun, 2022 06:30 PM

we will welcome a good person like kuldeep if he joins bjp ranjit chautala

राज्यसभा सांसद कार्तिकेय शर्मा के चुनाव में मुख्य किरदार मे नजर आए प्रदेश के कैबिनेट मंत्री रणजीत चौटाला जीत का श्रेय वोट देने वाले...

चंडीगढ़ (धरणी) : राज्यसभा सांसद कार्तिकेय शर्मा के चुनाव में मुख्य किरदार में नजर आए प्रदेश के कैबिनेट मंत्री रणजीत चौटाला जीत का श्रेय वोट देने वाले सभी विधायकों और मुख्यमंत्री मनोहर लाल की मैनेजमेंट को दे रहे हैं। कई तरह की टिप्पणियां करते हुए चौटाला ने कांग्रेस नेतृत्व पर अपने सांसदों को नौकर समझने का बड़ा आरोप भी लगाया है। उन्होंने कुलदीप बिश्नोई को एक अच्छा इंसान बताते हुए भाजपा में आने का न्योता दिया है। बातों ही बातों में चौटाला ने कहा कि हुड्डा को पूरी ताकत देने से भी प्रदेश में कांग्रेस को कोई लाभ नहीं होगा। उन्होंने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बेहतर एडमिनिस्ट्रेटर -गृहमंत्री को बेहतर इंसान और मुख्यमंत्री को ईमानदार बताया। चौटाला से उनके विभाग जेल और बिजली संबंधित कई महत्वपूर्ण विषयोंं पर बातचीत हुई। कुछ अंश आपके सामने प्रस्तुत है :-

प्रश्न : राज्यसभा सांसद कार्तिकेय का नामांकन आपके द्वारा करवाना सार्थक रहा, वह विजयश्री हुए, क्या कहेंगे ?
उत्तर : 
विनोद शर्मा मेरे बहुत पुराने दोस्त हैं। चंडीगढ़ गवर्नमेंट कॉलेज में हम इकट्ठे पढ़े। वह मुझसे 2 साल जूनियर थे। उनका बेटा कार्तिकेय चुनाव मैदान में था और भाजपा के पास सरप्लस वोट थे। मुख्यमंत्री की भी सहमति थी। जेजेपी की भी सपोर्ट थी। कार्तिकेय का पक्ष मजबूत था। मात्र एक आधी वोट की बात थी। मुख्यमंत्री की बेहतर मैनेजमेंट के कारण यह चुनाव जीते हैं। कुलदीप बिश्नोई ने अंतरात्मा की आवाज सुनकर वोट दिया। विधायक अभय सिंह चौटाला ने भी कार्तिकेय को वोट दिया। सभी निर्दलीयों विधायकों ने वोट दिया। साथ ही बलराज कुंडू न्यूट्रल हो गए। स्थितियां ऐसी थी कि अगर वोट कुलदीप बिश्नोई या अभय सिंह चौटाला ना देते तो चुनाव हार जाते। अगर बलराज कुंडू एब्सेंट ना होते और कांग्रेस को वोट दे देते तो भी चुनाव कार्तिकेय हार जाते। यह फाइट नेक टू नेक थी। मुख्यमंत्री की अच्छी मैनेजमेंट के कारण ही भाजपा के साथ-साथ केंद्रीय नेतृत्व की झोली में दूसरी सीट भी डल पाई है।

प्रश्न : कुलदीप बिश्नोई को हर्जाने के तौर पर भारी नुकसान उठाना पड़ा, सीडब्ल्यूसी से वह बाहर हो गए ?
उत्तर : 
कांग्रेस ने कभी उनके साथ सही बर्ताव नहीं किया। कांग्रेस ने भजनलाल के साथ भी ऐसा ही किया था। कांग्रेस हमेशा अपने लोगों को नीचा दिखाती आई है। वह सांसद तक के साथ अपने परिवार के नौकर जैसा व्यवहार चलती रही है। इसलिए नरसिम्हा राव, स्वर्ण सिंह, एसके पाटिल, चौधरी चरण सिंह, चौधरी देवीलाल, नटवर सिंह, चौधरी बंसी लाल, चौधरी भजन लाल जैसे नेता इस पार्टी को त्याग गए। मोदी जी के आने के बाद कांग्रेस का बंटाधार हो गया।

प्रश्न : 31 विधायकों के बावजूद कांग्रेस की हार बारे क्या कहेंगे ?
उत्तर : 
आमजन हो या विधायक, सभी सुटेबल सरकार के साथ जाना चाहते हैं। देश के लोगों की मानसिकता अब जोड़ तोड़ करने वाले लोगों के पक्ष में नहीं रही।

प्रश्न : हाईकमान द्वारा हुड्डा को पूरी ताकत देने के बाद भी आज कांग्रेस इकट्ठी नहीं हो पा रही, क्या कहेंगे ?
उत्तर : 
हाईकमान के ताकत देने से कुछ नहीं होता। हाईकमान ने तो राहुल गांधी को भी पूरी ताकत दी हुई है लेकिन रिजल्ट कहीं कुछ भी नहीं मिल रहा। उत्तर प्रदेश चुनाव में प्रियंका गांधी द्वारा भारी चुनाव प्रचार के बावजूद 425 में से मात्र दो ही सीट मिल पाई। कांग्रेस नाम की बातें देश से खत्म हो चुकी हैं। लोगों को कांग्रेस की बातें अच्छी नहीं लगती।

प्रश्न : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से हुई मुलाकात बारे बताएं ?
उत्तर : 
गृहमंत्री बेहद अच्छे व्यक्तित्व के धनी हैं। उनकी छवि काफी बेहतर है। पटेल के बाद वह सबसे मजबूत एडमिनिस्ट्रेटर माने जाते हैं। मैं उनसे तीन मुलाकात कर चुका हूं। उनसे जब भी समय चाहता हूं मिल जाता है। मेरे दिल में उनके प्रति काफी रिस्पेक्ट है। 15-20 मिनट उनके पास रहा बहुत अच्छा लगा।

प्रश्न : गठबंधन सरकार के 3 वर्ष के सफर को कैसे देखते हैं ?
उत्तर : 
यह कार्यकाल काफी बेहतर रहा। सभी को विकास में हिस्सेदारी मिली है। अधिकतर चीजें ऑनलाइन हो चुकी हैं। हर व्यक्ति को काबिलियत के अनुसार प्राथमिकता मिली है। खेलो इंडिया और ओलंपिक में प्रदेश ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया है। केंद्र सरकार का प्लानिंग कमीशन (नीति आयोग) से हमें जरूरत अनुसार पैसा मिल जाता है। नीति आयोग के अनुसार बड़ी स्टेटों में हरियाणा सबसे अधिक नंबर दो पर ग्रोइंग स्टेट है। 3 साल में यह उपलब्धियां कम नहीं है।

प्रश्न : प्रदेश में कोयले बारे स्थिति स्पष्ट करें ?
उत्तर : 
हमारे पास कोयला प्राप्त मात्रा में है। कहीं कोई दिक्कत नहीं है। हमारा कोई भी थर्मल बिना कोयले से बंद नहीं रहा और जरूरत अनुसार हमारे पास रैक आते रहते हैं। आज एक भी यूनिट हमारा बंद नहीं है। खेदड़ प्लांट में भी रूटर लगा दिया गया है। अदानी से भी पूरी बिजली मिल रही है। हम किसानों को भी पेडी के सीजन में लगातार पर्याप्त बिजली मुहैया करवा रहे हैं।

प्रश्न : बिजली का भारी संकट हरियाणा को झेलना पड़ा, आज स्थिति क्या है ?
उत्तर : 
कुछ समय पहले बिजली की भारी किल्लत का झटका जरूर लगा था। लेकिन आज बिजली की कहीं कोई दिक्कत नहीं है। हम 24 घंटे बिजली दे रहे हैं।

प्रश्न : बिजली विभाग को लेकर नई प्लानिंग क्या है ?
उत्तर : 
हर कदम आधुनिकता के साथ आगे बढ़ रहे हैं। हम इंडस्ट्री को लेकर सोलर पर काम कर रहे हैं। गुरुग्राम में नया थर्मल प्लांट लाने की योजना पूरी होने को है। हम आत्मनिर्भर बनना चाहते हैं। दिल्ली से एनसीआर में शिफ्ट हुई इंडस्ट्री के कारण बिजली की लागत में बढ़ोतरी दर्ज हुई है। लेकिन हम और अच्छे विकल्पों की तरफ आगे बढ़ रहे हैं। आज प्रदेश में हमने लाइन लॉस को 31 से 13.46 पर लाने में कामयाबी हासिल की है जो कि 1 साल में हम 12 फ़ीसदी तक लेकर आएंगे।

प्रश्न : सोलर को लेकर क्या कुछ सब्सिडी का प्रावधान है ?
उत्तर : 
30 फ़ीसदी केंद्र सरकार और हमारी 45 फ़ीसदी मिलाकर कुल 75 फ़ीसदी सब्सिडी का लाभ हम दे रहे हैं। डिमांड बहुत अधिक है। लेकिन हमें 25-28 हजार पंप ही मिलते हैं जो हाथों हाथ चले जाते हैं।

प्रश्न : जेल बंदियों को आत्मनिर्भर बनाने को लेकर पेट्रोल पंप लगाने जैसे कई फैसले आपने लिए थे, उनके बारे में बताएं ?
उत्तर : 
पहले पेट्रोल पंप टूरिज्म विभाग लगाता था। लोग अच्छा तेल मिलने के कारण काफी भरोसा करते हैं। गुडविल बहुत अच्छी है। हमने कुरुक्षेत्र में एक पंप सेट कर दिया है। प्रदेश भर के अन्य जिलों में हम 11 पंप लगाने जा रहे हैं।

प्रश्न : राम रहीम पर नरम रवैया को लेकर कहीं ना कहीं लोगों में चर्चा है ?
उत्तर : 
3 साल पूरे करने के बाद कैदी का यह संवैधानिक अधिकार है। इसके लिए कैदी हाईकोर्ट की शरण में भी जा सकता है। 7 साल से कम सजा वाले के लिए जिला उपायुक्त तथा 7 साल से ज्यादा सजा वाले के लिए डिविजनल कमिश्नर को पावर होती है। राम रहीम ने कंडीशन पूरी करके अप्लाई किया। जिस पर उन्हें परमिशन मिल गई और उन्होंने हमसे अपील की। हमने बरवाला के डीजी को लिखा। जहां सब ठीक पाया गया। ड्ययोडी तक हमारा क्षेत्र था। जहां हमने आए हुए अधिकारियों के हवाले उन्हें कर दिया। इसमें कोई ढील वाली बात नहीं है।

प्रश्न : बिजली और जेल विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार को लेकर आप का रुख काफी सख्त है, उसके बारे में बताएं ?
उत्तर : 
हमने प्रदेश में 4 रेड की हैं। जिसमें हमारी 500 टीमों ने एकदम कार्यवाही की थी। करीब 4000 लोग इन टीमों में शामिल थे। बड़ी इंडस्ट्री, मॉल, पेट्रोल पंप, ईट भट्ठे, गेस्ट हाउस और हाईवे पर मौजूद ढाबों पर हमने बिजली चोरी पकड़ी। जिस कारण से आज बिजली लॉस कम हुआ है।

प्रश्न : कुलदीप बिश्नोई की कांग्रेस में अनदेखी के बाद अब वह कहां जाएं ?
उत्तर : 
यह उनका अपना फैसला होगा कि वह कहां जाएंगे। लेकिन मैं तो कहूंगा कि वह बीजेपी में आए हम उनका स्वागत करेंगे। वह एक अच्छे इंसान हैं और भजनलाल जैसे बड़े राजनीतिक परिवार का हिस्सा है। 10-12 विधानसभा क्षेत्रों में उनकी बेहद मजबूत पकड़ है।

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!