CIA टीम को देखकर सट्टा खेलते युवक जोहड़ में कूदे, 1 की मौत

Edited By Isha, Updated: 30 Jul, 2022 08:51 AM

seeing the cia team the youths playing betting jumped into the joha

उपमंडल के गांव खेड़ा खेमावती में सी.आई.ए. टीम को देखकर कुछ युवक जोहड़ में कूद गए, जिनमें से युवक की मौत हो गई। युवकों के जोहड़ में कूदने के बाद घबराए सी.आई.ए. टीम के सदस्य वापस भाग गए लेकिन ग्रामीणों ने सी.आई.ए. के एक कर्मचारी को बंधक बना लिया

सफीदों: उपमंडल के गांव खेड़ा खेमावती में सी.आई.ए. टीम को देखकर कुछ युवक जोहड़ में कूद गए, जिनमें से युवक की मौत हो गई। युवकों के जोहड़ में कूदने के बाद घबराए सी.आई.ए. टीम के सदस्य वापस भाग गए लेकिन ग्रामीणों ने सी.आई.ए. के एक कर्मचारी को बंधक बना लिया। मामले की सूचना सफीदों पुलिस को मिली तो मौके पर डी.एस.पी. आशिष कुमार, सदर थाना प्रभारी धर्मबीर सिंह व सिटी थाना प्रभारी सुरेश कुमार मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों से बातचीत की। ग्रामीणों ने पुलिस के समक्ष सी.आई.ए. टीम के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करने की मांग की।


मिली जानकारी के अनुसार सी.आई.ए. स्टाफ सफीदों गांव खेड़ा खेमावती में सट्टा खेलने की सूचना पर रेड पर गई थी। बताया जाता है कि मौके पर तीन-चार लड़के ताश खेल रहे थे। ये युवक पुलिस पार्टी को देखकर साथ लगते तालाब (जोहड़) में कूद गए। बताया जाता है कि युवकों को तैरना नहीं आता था। मौके पर भारी तादाद में ग्रामीण एकत्रित हो गए। ग्रामीण तीन युवकों को तो सुरक्षित निकलने में कामयाब हो गए जबकि गोबिंद (25) तालाब की गहराई में समां गया। ग्रामीणों ने किसी तरह से उसको निकालकर सफीदों के नागरिक अस्पताल में पहुंचाया जहां पर डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। हालातों को बिगड़ता देख पुलिसकर्मी वहां से खिसक गए जबकि चालक सिपाही सुरेंद्र को ग्रामीणों ने बंधक बना लिया। ग्रामीणों को जब गोबिंद की मौत की सूचना मिली तो उनका गुस्सा फूट पड़ा।

काफी संख्या में ग्रामीण जींद-सफीदों मार्ग पर एकत्रित हो गए। ग्रामीणों के बिफरने की सूचना पाकर डी.एस.पी. आशीष, सदर थाना सफीदों प्रभारी धर्मबीर व सिटी थाना प्रभारी सुरेश कुमार पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए और ग्रामीणों को समझाने की कोशिश की। मृतक के परिजनों ने छापेमारी करने पहुंचे सी.आई.ए. स्टाफ कर्मियों के खिलाफ हत्या का मुकद्दमा दर्ज करके गिरफ्तार करने व मृतक परिवार को आर्थिक सहायता देने की मांग की। ग्रामीणों व परिजनों ने साफ किया कि जब तक आरोपियों के खिलाफ हत्या का मुकद्दमा नहीं दर्ज कर लिया जाता तब तक वे मानने वाले नहीं है और वे सफीदों-असंध मार्ग को जाम कर देंगे। उन्होंने साफ किया कि जब तक उनके हाथ में एफ.आई.आर. की कॉपी नहीं आएगी तब तक वे बंधक पुलिसकर्मी को नहीं छोड़ेंगे। समाचार लिखे जाने तक अधिकारी मौके पर बने हुए थे और ग्रामीणों को समझाने की कोशिश कर रहे थे और गांव में तनाव की स्थिति बनी हुई थी।
 

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!