टिकैत को भारतीय किसान यूनियन से निकालने की खबरों पर बोले रवि आजाद, कहा सरकार रच रही षडयंत्र

Edited By Vivek Rai, Updated: 15 May, 2022 11:15 PM

ravi azad speaks on expelling tikait from bharatiya kisan union

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत को उनके पद से हटाए जाने की खबरों पर विराम लगाते हुए किसान नेता रवि आजाद ने एक वीडियो जारी किया है। इस वीडियो के जरिए उन्होंने इन खबरों को सिरे से नकार दिया। उन्होंने कहा कि राकेश टिकैत, भाकियू से...

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत को उनके पद से हटाए जाने की खबरों पर विराम लगाते हुए किसान नेता रवि आजाद ने एक वीडियो जारी किया है। इस वीडियो के जरिए उन्होंने इन खबरों को सिरे से नकार दिया। उन्होंने कहा कि राकेश टिकैत, भाकियू से अलग नहीं हुए हैं और ना ही नरेश टिकैत को भाकियू के राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद से हटाया गया है। रवि आजाद ने भाकियू को लेकर फैलाई जा रही खबरों को सरकार का षड्यंत्र बताया। उन्होंने कहा कि सरकार भाकियू को दो फाड़ करने की कोशिश कर रही है।


आजाद ने कहा कि भारतीय किसान यूनियन एक थी, एक हैं और एक ही रहेगी। उन्होंने कहा कि राकेश टिकैत को उनके पद से हटाने का फैसला कोई एक व्यक्ति नहीं ले सकता। उन्हें देशभर के किसानों ने भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता के तौर पर चुना था। रवि आजाद ने कहा कि सरकार राजनीति करते हुए भारतीय किसान यूनियन को बांटने का काम कर रही है, लेकिन वें अपने मंसूबों में कभी कामयाब नहीं होंगें।

यहां से शुरू हुई टिकैत को भाकियू से निकालने की ख़बरें

भारतीय किसान यूनियन में दो फाड़ होने की खबर उस वक्त सामने आई, जब टिकैत गुट से कई किसान नेता यूनियन से अलग हो गए। इन किसान नेताओं ने भारतीय किसान यूनियन (अराजनैतिक) के नाम से एक नया संगठन बनाने का ऐलान किया। राजेश सिंह   चौहान को भाकियू (अराजनैतिक) का अध्यक्ष घोषित किया गया। इसके बाद से ही भारतीय किसान यूनियन से राकेश टिकैत को निकाले जाने की खबरें तेज हो गई थी। लेकिन अब रवि आजाद ने एक वीडियो जारी करते हुए इन खबरों को अफवाह करार दिया।

आजाद ने मानी कुछ सदस्यों के नाराज होने की बात

 रवि आजाद ने कहा कि भारतीय किसान यूनियन एक बड़ा संगठन है। इस संगठन के साथ किसानों की सैकड़ों यूनियन जुड़ी हुई हैं। यह काफी संभव है कि कुछ लोगों की विचारधारा यूनियन से अलग हो। इसलिए विचारधारा के मतभेद के चलते कुछ लोगों ने यूनियन का साथ छोड़ने का फैसला लिया है। इसका यह मतलब नहीं कि राकेश टिकैत यूनियन से अलग हो जाएंगे।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!