पूर्व पार्षद व उसके बेटे द्वारा रुपये नहीं लौटाने पर व्यक्ति ने की खुदकुशी

Edited By Pawan Kumar Sethi, Updated: 25 May, 2023 10:22 PM

man commit suicide due to torture by former counselor

पूर्व पार्षद व उसके बेटे से परेशान होकर 35 वर्षीय दलित युवक जहरीला पदार्थ खाकर खुदकुशी कर ली। उनके परिवार का आरोप है कि पार्षद और उनके बेटे ने उनसे 14.5 लाख रुपये उधार लिए थे और वापस नहीं लौटाने से मृतक परेशान था। इसी से तंग आकर आत्महत्या की है।

गुडग़ांव, (ब्यूरो): पूर्व पार्षद व उसके बेटे से परेशान होकर 35 वर्षीय दलित युवक जहरीला पदार्थ खाकर खुदकुशी कर ली। उनके परिवार का आरोप है कि पार्षद और उनके बेटे ने उनसे 14.5 लाख रुपये उधार लिए थे और वापस नहीं लौटाने से मृतक परेशान था। इसी से तंग आकर आत्महत्या की है। आत्महत्या करने से पहले मृतक ने अपनी 11 साल की बेटी की मदद से एक वीडियो भी बनाया था। जिसमें वह पार्षद पर आरोप लगा रहा था और कह रहा था कि वह आत्महत्या करने जा रहा है। पुलिस ने वीरवार को शिकायत के बाद पार्षद और उनके बेटे के खिलाफ उद्योग विहार थाने में प्राथमिकी दर्ज कर मृतक के शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया गया है।

गुड़गांव की खबरों के लिए इस लिंक https://www.facebook.com/KesariGurugram पर क्लिक करें।

 

दरअसल, गांव डूंडाहेड़ा निवासी विक्रम सिंह उर्फ भोले का किराये का कारोबार था। चार बच्चों का पिता विक्रम सिंह ऑटो भी चलाता था। बुधवार की शाम साढ़े पांच बजे के करीब भोले ने बेटी की मदद से अपने मोबाइल फोन पर एक वीडियो बनाया। जिसमें वह कह रहा था कि पूर्व पार्षद वीरेंद्र यादव और उसके बेटे छोटू से परेशान होकर वह सुसाईड करने जा रहा है। पार्षद ने 9.50 लाख रुपये उधार लिए थे, जबकि उनके बेटे छोटू ने उनसे 5 लाख रुपये उधार लिए थे। अब वह रुपये नहीं दे रहे हैं। इसके बाद वह घर से चला गया और बाद में परिजनों को पता चला कि विक्रम ने जहरीला पदार्थ खा लिया। परिजन उसे निजी अस्पताल लेकर गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

 

38 सेकेंड की वीडियो बनाई:

विक्रम ने आत्महत्या से पहले 38 सेकेंड का वीडियो भी बनाया। जिसमें वह निर्वतमान पार्षद और उसके बेटे पर आरोप लगाते हुए बोल रहा है कि जब भी वह रुपये मांगने जाता तो उसके साथ दुव्र्यवहार करते और मारपीट भी करते हैं। ऐसे में परेशान होकर आत्महत्या का फैसला किया है। मुझे कानून पर पूरा भरोसा है और मुझे न्याय चाहिए। मेरे बच्चों को पैसा दिया जाए।

 

पत्नी की शिकायत पर केस दर्ज:

मृतक की पत्नी सुनीता ने अपनी शिकायत में कहा है कि पार्षद और उसके बेटे ने उसके पति की जिंदगी बर्बाद कर दी। मेरे पति के उधार के पैसे वापस करने के बजाय, वे उसे गाली देते थे और कभी भी उसकी पिटाई करते थे। इतना ही नहीं वे मेरे बच्चों को अगवा करने की धमकी भी देने लगे थे परेशान होकर उसके पति ने आत्महत्या कर ली। मामले में निर्वतमान पार्षद का भी पक्ष जानने के लिए फोन पर संपर्क किया गया। लेकिन उनका फोन बंद मिला और उनके कार्यालय पर भी ताला लगा हुआ था।

 

एसीपी का कहना:

एसीपी उद्योग विहार मनोज कुमार ने कहा कि वीरवार को उद्योग विहार पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 306 (आत्महत्या के लिए उकसाना), 34 (सामान्य मंशा) के तहत दोनों पिता-पुत्र के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई। मृतक के मोबाइल फोन से वीडियो मिला है। जिसमें उसने अपनी मौत के लिए पार्षद और उसके बेटे पर आरोप लगाया है। जांच चल रही है और आरोपी को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Related Story

Trending Topics

Afghanistan

134/10

20.0

India

181/8

20.0

India win by 47 runs

RR 6.70
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!