15 हजार रुपए रिश्वत लेते खाद्य एवं आपूर्ति विभाग का फूड इंस्पैक्टर काबू

Edited By Isha, Updated: 19 Jun, 2022 12:56 PM

food inspector of food and supplies department caught

गेहूं की पेमैंट जारी कराने के नाम पर आढ़ती गुरचांद से 15 हजार रुपए की रिश्वत लेते खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के फूड इंस्पैक्टर पवन कुमार को विजीलैंस की टीम ने रंगेहाथों पकड़ा। आरोपित इंस्पैक्टर प्रतापनगर में तैनात है। उसे छछरौली से गिरफ्तार किया

यमुनानगर: गेहूं की पेमैंट जारी कराने के नाम पर आढ़ती गुरचांद से 15 हजार रुपए की रिश्वत लेते खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के फूड इंस्पैक्टर पवन कुमार को विजीलैंस की टीम ने रंगेहाथों पकड़ा। आरोपित इंस्पैक्टर प्रतापनगर में तैनात है। उसे छछरौली से गिरफ्तार किया गया। यह कार्रवाई पंचकूला विजीलैंस ने की है। आरोपित के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। उसे रविवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। 

छछरौली निवासी गुरचांद की प्रतापनगर अनाज मंडी में हरिओम ट्रेङ्क्षडग कम्पनी के नाम से आढ़त है। उनके पास 12 अप्रैल को डारपुर निवासी आनंद किशोर ने गेहूं बेची थी। इस गेहूं का उसकी बेटी अलका के नाम जे-फार्म 242902 कटा था। 1 लाख 30 हजार रुपए पेमैंट किसान को मिलनी थी। विजीलैंस को दी शिकायत में गुरचांद ने बताया कि 16 जून को कुछ पेमैंट अलका के नाम जारी कर दी थी। शेष करीब 75 हजार रुपए की पेमैंट बकाया थी। इसके लिए बार-बार किसान उन पर दबाव बना रहा था।
 
जब इस बारे में फूड इंस्पैक्टर पवन कुमार से बात की तो वह 45 हजार रुपए की रिश्वत मांगने लगा जिस पर इस बारे विजीलैंस को शिकायत दी थी। पंचकूला विजीलैंस के इंस्पैक्टर जयपाल आर्य ने बताया कि उनके पास आढ़ती ने शिकायत दी थी। जिस पर रेङ्क्षडग पार्टी तैयार की गई। आढ़ती को 15 हजार रुपए रंग लगाकर दिए गए। तय योजना अनुसार आढ़ती ने फूड इंस्पैक्टर पवन कुमार को छछरौली में बुलाया। जैसे ही फूड इंस्पैक्टर ने पैसे पकड़े तो इशारा पाकर उसे दबोच लिया।

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!