पुलिस थानों में खाद बांटना बीजेपी जेजेपी सरकार की विफलता का सबसे बड़ा प्रमाण: हुड्डा

Edited By Isha, Updated: 14 Nov, 2021 05:03 PM

distribution of fertilizers in police stations biggest proof

पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा है कि सरकार किसानों के साथ निरंतर अन्याय कर रही है। उन्होंने बताया कि जिम्मेदार विपक्ष होने के नाते कांग्रेस लगातार सड़क से लेकर सदन तक किसानों की आवाज उठा रही है। 16 तारीख को कांग्रेस...

चंडीगढ़(चन्द्र शेखर धरणी) : पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा है कि सरकार किसानों के साथ निरंतर अन्याय कर रही है। उन्होंने बताया कि जिम्मेदार विपक्ष होने के नाते कांग्रेस लगातार सड़क से लेकर सदन तक किसानों की आवाज उठा रही है। 16 तारीख को कांग्रेस विधायक दल की बैठक में एक बार फिर किसानों के मुद्दे पर चर्चा होगी और विधानसभा में उनके मुद्दों को उठाने के बारे रणनीति बनाई जाएगी।

हुड्डा आज चरखी दादरी में अधिवक्ता, विधायक, सांसद, उप-राज्यपाल रहीं स्वर्गीय चंद्रावती जी की पुण्यतिथि पर उनकी प्रतिमा का अनावरण करने पहुंचे थे। इस मौके पर उन्होंने चंद्रावती जी द्वारा व्यापक जनहित में किये गए सामाजिक कार्यों का स्मरण किया और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने कहा की चंद्रावती जी के साथ घनिष्ठ पारिवारिक संबंध होने के नाते उनका आशीर्वाद सदा हुड्डा परिवार पर बना रहा।


यहां पत्रकारों से बातचीत करते हुए भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि ये सरकार देश के सबसे बड़े, शांतिपूर्ण और जायज मांगों को लेकर जारी किसान आंदोलन की अनदेखी कर रही है। यह देशहित में नही है, किसान देश की आत्मा है । किसानों से सम्मानपूर्वक बातचीत कर आंदोलन का उचित समाधान निकालना चाहिए। लेकिन ऐसा करने की बजाय सरकार अपने स्वार्थ में डूबी हुई है। सरकार की नीतियों और सोच ने किसानों को बर्बादी के कगार पर पहुंचा दिया है।


भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि आज जिस तरह पुलिस थानों में खाद बंट रही है, इससे सरकार की विफलता और उसकी पूर्ण अक्षमता का पता चलता है। गठबंधन सरकार की विफलता का ये सबसे बड़ा प्रमाण है। उन्होंने कहा बीजेपी सरकार किसानी और एमएसपी को धीरे-धीरे पूरी तरह से खत्म करना चाहती है। इसका ताजा उदाहरण बाजरे की खरीद से बचना और धान की खरीद में अनेकों अड़चने डालना रहा। जिसके कारण किसानों को एमएसपी से नीचे औने-पौने दाम पर अपनी फसल बेचनी पड़ी। पराली जलाने के नाम पर भी किसानों को परेशान किया जा रहा है। इस समस्या को लेकर सरकार का रवैया किसानों के प्रति हमेशा नकारात्मक रहा है। जबकि, उसे ठोस योजना बनाकर किसानों को उचित संसाधन व आर्थिक मदद देते हुए समस्या का निवारण करना चाहिए।
 

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!