पूरा हुआ स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज का ड्रीम प्रोजेक्ट, अटल कैंसर केयर सेंटर लोगों के लिए बनेगा संकट मोचक

Edited By Vivek Rai, Updated: 09 May, 2022 08:23 PM

atal cancer care center will become a troubleshooter for the people

हरियाणा के लिए सोमवार का दिन बड़ा ही एतिहासिक रहा। अंबाला जिले में अटल कैंसर केयर सेंटर का बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा व मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा उद्घाटन किया गया। जिसका लाभ हरियाणावासियों के साथ-साथ पड़ोसी राज्यों के लोगों को भी मिलेगा।

चंडीगढ़(धरणी): हरियाणा के लिए सोमवार का दिन बड़ा ही एतिहासिक रहा। अंबाला जिले में अटल कैंसर केयर सेंटर का बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा व मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा उद्घाटन किया गया। जिसका लाभ हरियाणावासियों के साथ-साथ पड़ोसी राज्यों के लोगों को भी मिलेगा।

इस मुद्दे को लेकर हरियाणा के गृह व स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने खास बातचीत की गई जिसमें उन्होंने कहा कि कैंसर की बीमारी काफी तेजी से बढ़ रही है और जिस घर में कैंसर आ जाता है उस घर की हालत का अंदाजा भी नहीं लगाया जा सकता। जिसके लिए ही ये अस्पताल बनाया जाना जरूरी थी।

उन्होंने बताया कि जेपी नड्डा स्वास्थ्य मंत्री थे और वे प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री थे। जिसके चलते ही उन्होंने इस अटल केयर सैंटर बनाने की बात जेपी नड्डा के सामने रखी थी। इसके लिए दूसरे राज्यों के लोग भी थे लेकिन जेपी नड्डा ने अपनी शक्तियों का इस्तेमाल किया और अब अंबाला छावनी में ये अस्पताल बना है।

अनिल विज ने कहा कि कई राज्यों के मरीज यहां पहुंचेंगे और सबके लिए नियम एक समान होगा। वहीं अनिल विज से जब पूछा गया कि घग्गर के साथ लगते इलाकों में कैंसर के मरीज ज्यादा सामने आते हैं तो इस पर उन्होंने कहा कि इसको लेकर जांच की जा रही है।

इसके साथ ही अनिल विज ने कहा कि नदियों में पहुंचने वाले गंदे पानी को पूरी तरह से प्रतिबंधित कर देना चाहिए। इसको लेकर सरकार कड़े नियम बना भी रही है।

स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि कैंसर मरीजों के साथ आने वाले लोगों के लिए होस्टल की व्यवस्था को लेकर विचार किया जा रहा है। इसको लेकर जमीन की समस्या है। क्योंकि अंबाला चारों और से छावनी बोर्ड से घिरा हुआ है और छावनी बोर्ड की एक जगह को चिनिह्त किया गया है। जिसको लेकर अनिल विज ने अपने ACS हेल्थ को कहा है कि वो डिफेंस मिनिस्टर को पत्र लिखे और कहा जाए कि अगर किसी भी रूप में जमीन दे सकते हैं तो दें दें ताकि वहां एक धर्मशाला बन सके। फिलहाल, उनके पत्र का इंतजार रहेगा।

वहीं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने हर जिले में मेडिकल कॉलेज खोलने को लेकर कहा कि 7 नए कॉलेज अभी बन रहे हैं औऱ पांच पहले से बने हुए हैं व कुछ जिलो में प्राइवेट कॉलेज भी हैं व जहां मेडिकल कॉलेज नहीं है उसको लेकर काम किया जाएगा।

बीते कल हिमाचल विधानसभा में खालिस्तान के झंडे मिले थे जिसको लेकर अनिल विज ने कहा कि अगर विधानसभा में खालिस्तान के झंडे लगे हैं तो ये एक बड़ी चूक है। अनिल विज ने कहा कि राष्ट्रविरोधी लोगों के मनसूबों को किसी भी हालत में कामयाब नहीं होने दिया जाएगा। पूरी सख्ती से ऐसे मामलों से निपटा जाएगा।

पंचायत चुनावों को लेकर अनिल विज ने कहा कि विभाग तारीखें तय करेगा जिसके बाद चुनाव हो जाएंगे। इस दौरान अनिल विज ने डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला के उस बयान पर भी प्रतिक्रिया दी जिसमें डिप्टी सीएम ने कहा था कि हरियाणा में आने वाले चुनाव गठबंधन के साथ लड़ा जाएगा। जिसको लेकर अनिल विज ने कहा कि बीजेपी का जेजेपी के साथ गठबंधन है जिसके चलते ही वो ऐसा कह रहे हैं।

अनिल विज ने अपने अनुभव को सांझा करते हुए बताया कि एक बार उन्हें दिल का रोग हो गया था जिसके चलते पीजाआई में रैफर होना पड़ा । उस दौरान भूपेंद्र सिंह हुड्डा मुख्यमंत्री थे। जो हालचाल पूछने अस्पताल पहुंचे थे। अनिल विज ने कहा कि उस मौके पर वहां मौजूद कुछ पत्रकारों ने उनसे पूछा था कि किसी तरह की परेशानी तो नहीं है तब उन्होंने कहा कि मुझे तो दिक्कत नहीं है लेकिन मेरे शहर के लोगों को परेशानी होती है।

अनिल विज ने बताया कि अंबाला में अस्पताल बनाने की मांग उन्होंने भूपेंद्र हुड्डा के सामने रखी थी। लेकिन उस दौरान हुड्डा ने अनिल विज के सामने शर्त रखी थी कि विधानसभा के बाहर और अंदर उनके खिलाफ नहीं बोलना। विज ने बताया कि उन्होंने ऐसा करने से मना कर दिया था।

उन्होंने कहा कि लेकिन कुछ समय बाद जब पार्टी ने मुझे स्वास्थय बनाया तो मैंने सिविल अस्पताल बना दिया। उन्होंने कहा कि अब इस अस्पताल में सब आधुनिक सुविधाएं मौजूद हैं। उन्होंने कहा कि हरियाणा के हर जिले में  में डेलासिस की मशीनें हैं। पांच जिलों में एमआरआई लग चुकी है। अनिल विज ने कहा कि हरियाणा सरकार हर सिविल अस्पताल में आईसीयू की सुविधा देने पर विचार कर रही है और जल्द ही दो क्रिटिक्ल सेंटर बनाने की तैयारी है।

अनिल विज ने कहा कि कोरोना काल में आक्सीजन की दिक्तत आई थी लेकिन आज हरियाणा ऑक्सीजन में आत्मनिर्भर है। लोगों को मुफ्त में टीकाकरण की सुविधा दी गई है। अनिल विज ने कहा कि हरियाणा में मैपिंग करने के ऑर्डर दिए गए हैं। ताकि जहां जैसे अस्पताल की जरूरत होगी वो वहां वैसा बनाए जाएंगे और ऐसा करने वाला हरियाणा पहला प्रदेश होगा।

 

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!