अग्निपथ योजना से आहत सेना में भर्ती की तैयारी कर रहे हरियाणा के युवक ने की आत्महत्या

Edited By Manisha rana, Updated: 16 Jun, 2022 02:36 PM

youth preparing army recruitment suicide

भारत सरकार के रक्षा मंत्रालय की अग्निपथ योजना की घोषणा के बाद सेना में जाने की इच्छा पाले हुए युवकों पर मानसिक दबाव का असर दिखने लगा...

रोहतक (दीपक भारद्वाज) : भारत सरकार के रक्षा मंत्रालय की अग्निपथ योजना की घोषणा के बाद सेना में जाने की इच्छा पाले हुए युवकों पर मानसिक दबाव का असर दिखने लगा है। आज रोहतक स्थित पीजी में सेना की भर्ती के लिए तैयारी कर रहे जिला जींद के लीज़वाना कलां गांव के 23 वर्षीय सचिन ने ओवर ऐज होने के डर से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। 

मृतक के चचेरे भाई प्रदीप सिहाग ने बताया के सचिन पढ़ाई में काफी होशियार था और स्वभाव से काफी विनम्र था। उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि वह इस तरह का कदम उठाएगा। सचिन के पिता भी सेना में नायक पद से अभी साल भर पहले ही सेवानिवृत्त हुए हैं। सचिन ने लगभग दो साल पहले सर्विस मैन कोटे के तहत सेना भर्ती के लिए फिजिकल और मेडिकल पास कर लिया था लेकिन लिखित परीक्षा नहीं हो रही थी उसे डर था कि वह 23 वर्ष का होने पर ओवर एज हो जाएगा। सरकार की अग्निपथ योजना की घोषणा के बाद सचिन ज्यादा मानसिक दबाव में आ गया था। उसे लग रहा था कि सरकार अब स्थाई भर्ती ना निकालकर सेना की अस्थायी भर्ती चार वर्ष के लिए ही निकालेगी। 

सचिन के परिजनों ने सेना की भर्ती कर रहे दूसरे युवाओं से आग्रह किया है कि वह आत्महत्या जैसा भयानक कदम ना उठाएं। अगर सेना में भर्ती ना हो पाए तो कोई दूसरा काम भी कर सकते हैं, लेकिन आत्महत्या जैसा कदम उठाने से पूरा परिवार टूट जाता है।

वहीं घटना की कार्रवाई करने पहुंचे हरियाणा पुलिस के एएसआई राजेश कुमार ने भावुक होते हुए बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि आज सेना भर्ती के लिए तैयारी कर रहे एक युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। उन्होंने शव का पोस्टमार्टम करवा परिजनों को सौंप दिया है। 

बता दें कि केंद्र की अग्निपथ योजना के खिलाफ हरियाणा के कई जिलों में युवाओं का बवाल शुरू हो गया है। हरियाणा के पलवल में योजना के विरोध में युवाओं ने नेशनल हाइवे जाम कर दिया। इसके बाद पुलिस के साथ युवाओं की भिडंत हो गई।

गैर रहे कि इससे पहले भी भिवानी के तालु गांव से युवक पवन कुमार ने आत्महत्या कर ली थी क्योंकि वह भारतीय सेना में भर्ती होने का सपना पूरा नहीं कर सका था। मरने से पहले पवन कुमार ने अपने पिताजी से कहा था कि इस बार सेना में भर्ती नहीं हुआ, लेकिन पिताजी अगले जन्म में वे भारतीय सेना में जरूर भर्ती होंगे, क्योंकि सेना में भर्ती न निकलने पर उनकी उम्र भी निकल गई और हरियाणा में भर्तियों की उठापटक के चलते रोजगार के साधन नहीं मिल रहे थे।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!