ट्रांसपोर्ट कांग्रेस की मीटिंग पानीपत अनाज मंडी में हुई सम्पन्न

Edited By Gourav Chouhan, Updated: 06 Aug, 2022 05:52 PM

transport congress meeting was held in panipat anaj mandi

ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस की मीटिंग पानीपत अनाज मंडी के पास निजी होटल में सम्पन्न हुई, जिसमें ट्रांसपोर्टरों ने अपनी समस्याएं रखी और सरकार को उनका समाधान करने की मांग की। उन्होंने कहा कि अपनी मांगों को लेकर वह जल्द ही प्रदेश के माननीय...

पानीपत(सचिन शर्मा): ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस की मीटिंग पानीपत अनाज मंडी के पास निजी होटल में सम्पन्न हुई, जिसमें ट्रांसपोर्टरों ने अपनी समस्याएं रखी और सरकार को उनका समाधान करने की मांग की। उन्होंने कहा कि अपनी मांगों को लेकर वह जल्द ही प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से मुलाकात करके उनके सामने अपनी समस्याएं रखेगें।

 

ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस के प्रधान कुलतरण अटवाल ने बताया कि ट्रांसपोर्ट भारत की जी.डी.पी. में किसानों के बाद दूसरा स्थान प्राप्त करते हैं, क्योंकि इन्हीं से लाखों रुपए के टैक्स, लाखों रुपए के टोल टैक्स व डीजल टैक्स अन्य प्रकार के टैक्स दिए जाते हैं। जिससे कि भारत सरकार का सड़कों का कार्य एवं अन्य प्रकार के कार्य चलते हैं। उसके बाद भी सरकार ट्रांसपोर्टर भाइयों को बिल्कुल खत्म करने पर तुली हुई है, क्योंकि आज तक भी इनकी समस्याओं का समाधान नहीं हो पायाl कई स्टेट तो ऑनलाइन से चालान काट देती है। जिसका हमें यह भी नहीं पता होता कि यह कितनी रकम का कटा है। जब ट्रांसपोर्ट मालिक अपनी गाड़ी को लेने के लिए पुलिस स्टेशन जाता है या फिर जज साहब के समक्ष जाता है, तब पता चलता है कि उसकी गाड़ी के ऊपर इतने रुपए का जुर्माना लगाया गया है। ऐसी हालत में गाड़ी मालिक बिना किसी इंफॉर्मेशन के इसे कैसे पे करेगा और न कोई समय दिया जाता है, क्योंकि जब तक आप जुर्माना नहीं भरोगे, तब तक आपकी गाड़ी नहीं छूटेगी। ऐसे में गाड़ी की किस्ते कहां से भरी जाएंगी।

 

सरकार कहती है कि डीजल की गाड़ियों की समय सीमा 10 साल रहेगी। जबकि 10 साल में तो गाड़ी की किस्त भी पूरी नहीं हो पाती, तो ट्रांसपोर्ट क्या करेगा। हर ट्रांसपोर्ट आत्महत्या करने के लिए मजबूर हो रहा है। इसकी जिम्मेदार सरकार है, क्योंकि सरकार ट्रांसपोर्टरों की समस्याओं का समाधान नहीं कर पा रही। बार-बार मुख्यमंत्री और माननीय परिवहन मंत्री से एवं सरकार के अन्य अधिकारियों से अनुरोध किया जा चुका है, अगर सरकार इसी प्रकार अपने रवैए पर पड़ी रही, तो कुछ समय के बाद पूरे भारत के अंदर गाड़ियों का चक्का एकदम से जाम हो जाएगा। 

 

 (हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भीबस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!