बाढ़ से निपटने के लिए प्रशासन ने कसी कमर, मुख्य सचिव ने सभी जिला उपायुक्तों को दिए निर्देश

Edited By Vivek Rai, Updated: 24 Jun, 2022 09:11 PM

to deal with floods chief secretary gave instructions to all dcs

मानसून सीजन में ज्यादा बरसात होने की स्थिति में हरियाणा में जलभराव और बाढ़ जैसी स्थिति से बचने के लिए आज एक अहम बैठक की गई है। मुख्य सचिव ने कहा कि किसी भी अप्रिय स्थिति को टालने के लिए पूर्व व्यवस्था की जानी चाहिए।

चंडीगढ़(धरणी): हरियाणा के मुख्य सचिव संजीव कौशल ने सभी जिला उपायुक्तों को 30 जून से पहले अपने अधिकार क्षेत्र में ड्रेन व सीवरेज लाइनों की सफाई और अन्य बाढ़ नियंत्रण कार्यों को सुनिश्चित करने और इस संबंध में रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं। मानसून सीजन में ज्यादा बरसात होने की स्थिति में हरियाणा में जलभराव और बाढ़ जैसी स्थिति से बचने के लिए आज एक अहम बैठक की गई है।

मंडल आयुक्तों और जिला उपायुक्तों के साथ मुख्य सचिव ने की बैठक

मुख्य सचिव ने सभी मंडल आयुक्तों और जिला उपायुक्तों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से नई एवं मौजूदा बाढ़ सुरक्षा योजनाओं की स्थिति की समीक्षा बैठक की। मुख्य सचिव ने कहा कि किसी भी अप्रिय स्थिति को टालने के लिए पूर्व व्यवस्था की जानी चाहिए। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को बाढ़ से संबंधित सभी कार्यों और परियोजनाओं की प्रगति की निगरानी करने और यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए कि ये सभी तैयारियां समय से पहले पूरी हो जाएं। उन्होंने अधिकारियों को राज्य में अति प्रवाहित पानी के चैनलों की पहचान करने और पंपों के माध्यम से अतिरिक्त पानी की निकासी के आवश्यक प्रबंध करने के भी निर्देश दिए हैं। इसके अलावा, नालों की सफाई और गाद निकालने का कार्य भी तुरंत किया जाए। 

सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग को रिपोर्ट सौंपेंगे अधिकारी

नालों की जल्द से जल्द सफाई सुनिश्चित करने के लिए मुख्य सचिव ने निर्देश देते हुए कहा कि जिला उपायुक्त बाढ़ नियंत्रण कार्यों में तेजी लाने के लिए उपमंडल अधिकारियों और सिंचाई विभाग के अन्य अधिकारियों को नियुक्त करें और ये अधिकारी व्यक्तिगत रूप से नालों और बाढ़ नियंत्रण कार्य स्थलों की सफाई का निरीक्षण करें। उन्होंने अधिकारियों को किए गए कार्यों के सत्यापन के बाद रिपोर्ट सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव को सौंपने के निर्देश दिए। आगामी मानसून सीजन में भारी बारिश के दौरान राज्यभर में जलमग्न क्षेत्रों में पानी की निकासी के लिए कौशल ने संबंधित अधिकारियों को पंपसेट की पर्याप्त व्यवस्था करने के निर्देश दिए। उन्होंने लघु, मध्यम और दीर्घकालीन बाढ़ सुरक्षा योजनाओं की स्थिति की भी समीक्षा की। मुख्य सचिव ने सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग के पास बाढ़ नियंत्रण के लिए उपलब्ध मशीनरी की स्थिति की भी समीक्षा की। उन्होंने बिजली विभाग को निर्देश दिए कि मानसून सीजन के दौरान सिंचाई विभाग को जहां भी बिजली कनेक्शन की आवश्यकता हो, उन्हें उपलब्ध होने चाहिए।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भीबस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!