अभियंता ने लगाए पंचायत मंत्री देवेंद्र बबली पर गंभीर आरोप, विभागीय मंत्री व अधिकारियों को पत्र लिखकर की तबादला करने की अपील

Edited By Gourav Chouhan, Updated: 06 Mar, 2023 05:22 PM

engineer made serious allegations against panchayat minister devendra babli

नगर परिषद के पालिका अभियंता रमनदीप ने देवेंद्र सिंह बबली पर घर में बुलाकर जातिसूचक गालियां देने, हाथापाई करने व गलत काम की पेमेंट करने के लिए दबाव बनाने का आरोप लगाया है...

टोहाना (सुशील सिंग्ला) : प्रदेश में ई-टेंडरिंग पर बवाल अभी थमा नहीं है और पंचायत मंत्री देवेंद्र बबली पर एक नया आरोप लगा है। नगर परिषद के पालिका अभियंता रमनदीप ने देवेंद्र सिंह बबली पर घर में बुलाकर जातिसूचक गालियां देने, हाथापाई करने व गलत काम की पेमेंट करने के लिए दबाव बनाने का आरोप लगाया है। पालिका अभियंता ने मामले की शिकायत शहरी स्थानीय निकाय मंत्री कमल गुप्ता, विभाग के अतिरिक्त सचिव, डीएमसी फतेहाबाद को करते हुए टोहाना से तबादला करने की अपील की है। फिलहाल इस मामले में पंचायत मंत्री की ओर से उनका पक्ष सामने नहीं आया है।

जिला नगर आयुक्त के नाम लिखे पत्र में रमनदीप सिंह ने कहा कि वह नगर परिषद में पालिका अभियंता के पद पर जुलाई 2020 से कार्यरत हैं। उन्होंने बताया कि मंत्री देवेंद्र बबली के फोन से 3 मार्च को रात के समय फोन आया कि हाल फिलहाल में खोले गए टेंडर, मधुर मिलन समारोह के दौरान दिए गए मांग पत्रों पर तैयार किए गए अनुमान व चल रहे विकास कार्यों की रिपोर्ट 4 मार्च को उनके निवास स्थान बिढाईखेडा में लेकर पहुंचे। उसने बताया कि इस बैठक बारे उसने नगर परिषद के ईओ, कार्यकारी अभियंता को सूचित किया लेकिन वे किसी कारणवश बैठक में नहीं गए तो वह जेई मनोज व जेई सुमित के साथ चला गया। उसने बताया कि इस दौरान मंत्री ने वार्ड 17 व वार्ड 23 के विकास कार्यों की पेमेंट अदायगी के बारे में दबाव बनाया। जिस पर रमनदीप ने कहा कि यहां कार्यों में सैंपल फेल है तथा निर्माण कार्य में कमी है, जिससे सरकारी खजाने की राशि का दुरूप्रयोग होगा। जिसके बारे मंत्री को अवगत करवाया।

इस दौरान वहां मौजूद बब्बल जैन ने मंत्री के समक्ष रमनदीप पर रिश्वत मांगने व नजायज तंग करने के आरोप लगाकर मंत्री को मेरे खिलाफ भडका दिया। उस उपरांत जिस कुर्सी पर रमनदीप एमई बैठा था उस कुर्सी को मंत्री ने लात मारी और कहा तुम्हारी बिरादरी को किसने एमई बना दिया। जिसके बाद मंत्री ने काफी मां बहन की तथा जातिसूचक गालियां दी। उसने कहा कि मंत्री ने कहा कि हाल फिलहाल में जो टेंडर खोले गए हैं वो तुमने मेरे विरोधी को दिए हैं। इनको कैंसल करके एजेंसी को डीबार करने का दबाव डाला गया। रमनदीप ने कहा कि शोर सुनकर वार्ड 8 के पार्षद जोनी मेहता व दोनों जेई कमरे में आ गए तो मंत्री ने उनके सामने भी उसके साथ हाथापाई की।

उसने बताया कि वार्ड 8 के पार्षद जोनी मेहता ने बीच बचाव किया जिसके बाद मंत्री ने उसके द्वारा किए कामों, संपत्ति की जांच व देख लेने की धमकी दी। उसने कहा कि उक्त घटनाक्रम से उसे जान माल का खतरा बना हुआ है, क्योंकि मंत्री ने उसको समाज से संबधित गालियां, गलत कार्यों की अदायगी व सरकारी खजाने को हानि पहुंचाने का दबाव बनाया है। इसलिए वह मानिसक रूप से परेशान है और यहां डयूटी नहीं कर सकता।

उसने बताया कि उक्त मामले को लेकर अतिरिक्त मुख्य सचिव, शहरी स्थानीय निकाय, हरियाणा चण्डीगढ़ को पत्र भेजकर तबादला करने की अपील की है तथा तुरंत प्रभाव से छुट्टी पर जाने की याचिका लगाई है। एमई ने इसकी प्रति विभाग के मंत्री कमल गुप्ता, अतिरिक्त सचिव व अन्य अधिकारियों को भेज दी है।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।) 

Related Story

Trending Topics

India

97/2

12.2

Ireland

96/10

16.0

India win by 8 wickets

RR 7.95
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!