मानसून सत्र: CET परीक्षा और सरकारी स्कूलों को लेकर सदन में जमकर भड़के बलराज कुंडू

Edited By Gourav Chouhan, Updated: 09 Aug, 2022 08:59 PM

balraj kundu raised cet exams government schools issue in house

विधायक कुंडू ने कहा कि सीईटी परीक्षा को लेकर संशय की स्थिति है। प्रदेश के 11 लाख बच्चों का भविष्य इस परीक्षा के साथ जुड़ा हुआ है। अभी तक स्थिति स्पष्ट न होने से बच्चे और उनके अभिभावक असमंजस की स्थिति में है।

चंडीगढ़(चंद्रशेखर धरणी): हरियाणा के महम से आजाद विधायक ने मानसून सत्र के दूसरे दिन भी बलराज कुंडू ने सदन में सीईटी परीक्षा के अलावा प्रदेश में विद्यार्थियों की कम संख्या का बहाना लेकर बंद किए सरकारी स्कूलों के बारे में जानकारी मांगी। विधायक कुंडू ने कहा कि सीईटी परीक्षा को लेकर संशय की स्थिति है। प्रदेश के 11 लाख बच्चों का भविष्य इस परीक्षा के साथ जुड़ा हुआ है। अभी तक स्थिति स्पष्ट न होने से बच्चे और उनके अभिभावक असमंजस की स्थिति में है, जबकि सरकार व शिक्षा विभाग स्थिति को स्पष्ट नहीं कर रहा है। बलराज कुंडू के इस सवाल पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने सदन में जवाब देते हुए कहा कि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी को परीक्षा कराने की जिम्मेदारी दे दी गई है और 5, 6 और 7 नवंबर को सीईटी परीक्षा होगी।

 

शिक्षा विभाग द्वारा शिक्षकों के खाली पदों को लेकर गलत जानकारी देने का लगाया आरोप

 

विधायक कुंडू ने सरकार की ओर से शुरू की गई चिराग योजना पर सवाल उठाते हुए कहा कि सरकार ने अपने जवाब में बताया कि प्रदेश में 198 सरकारी स्कूल बंद किए गए हैं। सरकार ने जरूरतमंद बच्चों को 134ए के अंतर्गत एडमिशन देने की बजाय चिराग योजना शुरू कर दी है। उन्होंने सवाल उठाया कि क्या सरकार की मंशा इस योजना की आड़ में सरकारी स्कूलों की तालाबंदी करने की है। साथ ही बलराज कुंडू ने सरकार की ओर से सरकारी विद्यालयों में शिक्षकों के संदर्भ में दिए गए आंकड़ों पर भी प्रश्नचिन्ह लगाते हुए कहा कि इसी साल फरवरी में उन्हें जो सूचना दी गई थी और अब दी गई सूचना में शिक्षकों के खाली पदों में करीब अढ़ाई हजार का अंतर है। महम के विधायक बलराज कुंडू ने सवाल उठाया कि क्या इस अवधि में 2500 शिक्षकों के पदों की भर्ती की गई है। जाहिर है कि भर्ती नहीं की गई है। ऐसे में विभाग की ओर से गलत जानकारी सरकार को दी गई है।

 

महम विधानसभा से जुड़े कई मुद्दों को लेकर कुंडू ने पूछे सवाल

 

सीईटी मामला और शिक्षा विभाग से जुड़े मुद्दों के अलावा कुंडू ने महम विधानसभा के तहत आने वाले गांव बहुअकबरपुर के सरकारी स्कूल का भवन न बनाए जाने का मुद्दा भी उठाया। उन्होंने कहा कि इस भवन के लिए पांच करोड़ रुपए मंजूर हो चुके हैं, लेकिन स्कूल का नया भवन बनाने की ओर सरकार का ध्यान नहीं है। उन्होंने जल्द नया भवन निर्माण करने की मांग की। इसके साथ ही बलराज कुंडू ने स्किल्ड युवाओं का जिक्र करते हुए कहा कि सरकार 2019 में निकाली गई आईटीआई इंस्ट्रक्टर भर्ती प्रक्रिया को जल्द पूरा करने समेत सभी पेंडिंग भर्तियों को पूरा करें, ताकि युवाओं को रोजगार मिल सके। विधायक बलराज कुंडू ने महम हलके में बरसात से होने वाली जलभराव की समस्या को भी सदन में उठाया और कहा कि हर साल जलभराव होता है, लेकिन सरकार इस समस्या का समाधान करने को लेकर कोई स्थायी योजना क्यों नहीं बनाती है? विधायक कुंडू ने महम-बेरी मार्ग पर गांव बहलबा और महम लाखन माजरा मार्ग पर गांव निंदाना में जर्जर हो चुकी सडक़ की हालात भी सुधारने की मांग सदन में उठाई।

 

 (हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भीबस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

Related Story

Trending Topics

Bangladesh

India

Match will be start at 10 Dec,2022 01:00 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!