अशोक तंवर ने शराब घोटाले को लेकर सरकार को घेरा, दोषियों पर सख्त कार्रवाई की रखी मांग

Edited By Mohammad Kumail, Updated: 20 Nov, 2023 07:49 PM

ashok tanwar demanded strict action from the government against the culprits

आम आदमी पार्टी के चुनाव प्रचार समिति के अध्यक्ष डॉ. अशोक तंवर ने सोमवार को बयान जारी कर प्रदेश में हुए शराब घोटाले को लेकर सरकार को घेरा...

चंडीगढ़ : आम आदमी पार्टी के चुनाव प्रचार समिति के अध्यक्ष डॉ. अशोक तंवर ने सोमवार को बयान जारी कर प्रदेश में हुए शराब घोटाले को लेकर सरकार को घेरा। उन्होंने कहा कि प्रदेश के कई जिलों में ठेके के गोदामों में शराब की हेराफेरी हो रही है। जांच में खुलासा हुआ है कि 20 में से 15 जिलों में देसी और अंग्रेजी शराब की 75,250 पेटियां गायब मिली हैं। उन्होंने कहा कि हर जिले के डीईटीसी को अपने क्षेत्र के शराब ठेकों व गोदाम की जांच करनी होती है। प्रशासन दावा करता रहता है कि उनके यहां सब ठीक है, कहीं कोई गड़बड़ी नहीं है। लेकिन अब प्रशासन और सरकार की पोल खुल चुकी है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में सरकार और प्रशासन की मिलीभगत से बड़े स्तर पर शराब घोटाला हो रहा है। सरकार में बैठे नेता, अधिकारियों के साथ सांठगांठ कर हरियाणा के युवाओं को नशे में झोंक रहे हैं। पिछले 9 सालों में अवैध नशे में संलिप्तता के कारण 500 से ज्यादा लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। जबकि अभी हाल के जहरीली शराब के मामले में जनता के प्रतिनिधियों और अधिकारियों की सांठगांठ सामने आई थी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में हो रहे इस शराब घोटाले में अंबाला, फरीदाबाद, गुरुग्राम, कैथल, करनाल, पानीपत, सिरसा और यमुनानगर में सबसे ज्यादा शराब की पेटियां गोदाम से गायब मिली हैं।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में भारत में बनी विदेशी शराब की 11400, बीयर की 8180, अंग्रेजी शराब की 108 और विदेशी शराब की 73 पेटी कम मिली, जबकि एल-13 में देसी शराब की 55,240 पेटी गायब मिली। उन्होंने कहा कि एल-1 यानी अंग्रेजी शराब, फरीदाबाद में बनाई गई विदेशी शराब की 390, गुरुग्राम में 800, कैथल में 740, करनाल में 3645, पलवल में 331, पानीपत में 3010, रोहतक में 310, सिरसा में 328, सोनीपत में 68 और यमुनानगर में 2035 पेटी शराब गायब मिली। इसके अलावा फरीदाबाद, गुरुग्राम, हिसान, कैथल, करनाल, पानीपत और सिरसा में बीयर की 8180 पेटी कम मिली। 

वहीं उन्होंने कहा कि एल-13 यानी देसी शराब की अंबाला में 3850, कैथल में 8135, करनाल में 5175, कुरुक्षेत्र में 2590, मेवात में 28, पलवल में 148, पानीपत में 8390, सिरसा में सबसे ज्यादा 22895 और यमुनानगर में 3979 पेटी गायब मिली। उन्होंने कहा कि प्रदेश में खुलेआम अवैध नशे का कारोबार चल रहा है। इसमें दूसरी पार्टियों के लोग भी शामिल हैं। कहीं न कहीं राजनीतिक संरक्षण में मौत के सौदागर इस खेल को खेल रहे हैं। उन्होंने सीएम खट्टर से शराब घोटाले की जांच कर दोषियों पर सख्त कार्रवाई करने की मांग की।

(हरियाणा की खबरें अब व्हाट्सऐप पर भी, बस यहां क्लिक करें और Punjab Kesari Haryana का ग्रुप ज्वाइन करें।) 
(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

Related Story

Trending Topics

Afghanistan

134/10

20.0

India

181/8

20.0

India win by 47 runs

RR 6.70
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!