मानसून सत्र: PU में हरियाणा की हिस्सेदारी को लेकर सदन में गैर सरकारी संकल्प प्रस्ताव हुआ पेश

Edited By Gourav Chouhan, Updated: 09 Aug, 2022 09:17 PM

a resolution motion introduced in house regarding haryana s share in pu

कांग्रेस विधायक गीता भुक्कल ने सदन में चंडीगढ़ स्थित पंजाब विश्वविद्यालय में हरियाणा के हिस्से को लेकर गैर सरकारी संकल्प प्रस्ताव पेश किया तो उस दौरान सदन की कार्यवाही देने के लिए पंजाब विधानसभा के अध्यक्ष व उपाध्यक्ष सहित तीन विधायक मौजूद थे।

चंडीगढ़(चंद्रशेखर धरणी): हरियाणा और पंजाब के बीच राजधानी चंडीगढ़, एसवाईएल और विधानसभा के हिस्से को लेकर विवाद चला हुआ है। इसी के साथ पंजाब विश्वद्यालय में हरियाणा के हिस्से को लेकर भी लंबे समय से दोनों सूबों के बीच खींचतान जारी है। विधानसभा के मानसून सत्र के दूसरे दिन पीयू में हरियाणा की हिस्सेदारी को लेकर गैर सरकारी संकल्प प्रस्ताव पारित किया गया है। कांग्रेस विधायक गीता भुक्कल ने सदन में चंडीगढ़ स्थित पंजाब विश्वविद्यालय में हरियाणा के हिस्से को लेकर गैर सरकारी संकल्प प्रस्ताव पेश किया तो उस दौरान सदन की कार्यवाही देने के लिए पंजाब विधानसभा के अध्यक्ष व उपाध्यक्ष सहित तीन विधायक मौजूद थे।

 

हरियाणा विधानसभा के दूसरे दिन दोपहर बाद ध्यानाकर्षण प्रस्ताव पर चर्चा के समाप्त होने के पंजाब विश्वविद्यालय में हिस्से को लेकर चर्चा शुरू हुई। इस दौरान सदन में पंजाब विधानसभा अध्यक्ष कुलतार सिंह संधवा, उपाध्यक्ष जयकिशन, विधायक रजनीश दहिया, नछतर पाल व सुरेंद्र कोटिल मौजूद थे। पांचों माननीयों ने सदन की तकरीबन 20 मिनट तक कार्रवाई देखी, लेकिन जैसे ही पंजाब विश्वविद्यालय के हिस्से को लेकर चर्चा शुरू हुई तो उन्होंने विस की दर्शकदीर्घा छोड़ दी। 

 

पंजाब विश्वविद्यालय में हिस्से को लेकर कांग्रेस विधायक ने की पैरवी

 

कांग्रेस विधायक गीता भुक्कल ने पंजाब विश्वविद्यालय में हिस्से को लेकर पुरजोर तरीके से पैरवी की। उनके साथ भाजपा विधायक अभय यादव ने भी उनका समर्थन किया। शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर ने बताया कि पंजाब विश्वविद्यालय के साथ पंजाब के 168 कॉलेजों की संबद्धता है। सरकार की ओर से उपराष्ट्रपति और केंद्रीय गृह मंत्री को पत्र लिखा गया है। यदि पंजाब विश्वविद्यालय में हरियाणा को हिस्सा मिलता है, तो उससे पंचकूला, यमुनानगर व अंबाला के 22 कालेजों को जोड़ा जा सकेगा।  

 

पंजाब विश्वविद्यालय में लिया जाएगा हरियाणा का हिस्सा- सीएम खट्टर

 

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि पंजाब विद्यालय में हरियाणा का हिस्सा लिया जाएगा। विद्यालय में किन्हीं कारणों से 1997 में हरियाणा की भागीदारी खत्म कर दी गई थी। अब फिर से हरियाणा के विद्यार्थियों के लिए हिस्से की मांग की गई है। इस संबंध में विधानसभा अध्यक्ष ने राष्ट्रपति को पत्र लिखा है जबकि उत्तरी क्षेत्रीय परिषद की बैठक में भी पंजाब विश्वविद्यालय में हरियाणा की हिस्सेदारी की मांग उठाई है। हरियाणा पंजाब विश्वविद्यालय में अपने हिस्से का पूरा खर्च देने को तैयार है।

 

 (हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भीबस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

 

 

 

Related Story

Trending Topics

Bangladesh

India

Match will be start at 10 Dec,2022 01:00 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!