Live Update: दिल्ली कूच 2 दिन के लिए टला, पंधेर बोले-हम बनाएंगे रणनीति; युवा किसान की मौत के बाद फैसला

Edited By Saurabh Pal, Updated: 21 Feb, 2024 08:06 PM

young farmer dies during protest at khanauri border live

किसान शंभू बॉर्डर पर अड़े हुए है। आंदोलन का आज 9वां दिन है। इसी वक्त बड़ी खबर सामने आ रही है कि आज शाम किसान नेताओं व केंद्र सरकार से 5वीं बार वार्ता हो सकती है। यह मीटिंग आज शाम को ही चंडीगढ़ में होगी। सूत्रों के मुताबिक शंभू बॉर्डर पर किसानों को...

हरियाणा डेस्क : पंजाब के किसानों ने शंभू और खनौरी बॉर्डर से दिल्ली कूच करने का प्लान 2 दिन के लिए टाल दिया है। किसान नेता सरवण पंधेर ने कहा कि अगले 2 दिन हम रणनीति बनाएंगे। किसानों ने खनौरी बॉर्डर पर किसान की मौत और तनावपूर्ण हालात के बाद ये फैसला लिया है। वहीं, खनौरी-दातासिंहवाला बॉर्डर पर भी किसानों की तरफ से सफेद झंडा लहराया गया, इसके जवाब में प्रशासन ने भी सफेद झंडा लहरा दिया। फिलहाल दोनों तरफ से शांति बनी हुई है।

किसान आंदोलन 2.0 के 9वें दिन चार दौर की वार्ता विफल होने के बाद पंजाब के किसान शंभू और खनौरी बॉर्डर से दिल्ली जाने की कोशिश कर रहे हैं। दोनों ही जगहों पर किसान और पुलिस के बीच टकराव चल रहा है। पुलिस रबड़ बुलेट और आंसू गैस के गोले छोड़कर किसानों को रोक रही है।

12 पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल

हरियाणा पुलिस के मुताबिक दाता सिंह-खनोरी बॉर्डर पर प्रदर्शनकारियों ने पराली में मिर्च पाउडर डालकर पुलिस का चारो तरफ से घेरकर पराली में मिर्च पाउडर डाल कर आग लगा दी गई। जहरीले धुएं पुलिस को सांस लेने में परेशानी हुई और विजिविलिटी कम हो गई। इसके साथ ही प्रदर्शनकारियों ने पथराव के साथ लाठी, गंडासे इस्तेमाल करते हुए पुलिसकर्मियों पर किया हमला किया गया। जिसमें लगभग 12 पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गए। प्रदर्शनकारियों से शांति की पुलिस ने शांति की अपील की है। 

 

50 से अधिक किसानों को आईं चोटें

दाता सिंह खनौरी बॉर्डर पर पुलिस से हुई झड़प में 50 से ज्यादा किसानों को हल्की और गहरी चोटें भी आयी हैं। एक किसान की हालत गंभीर बनी हुई। घायल किसानों को एम्बुलेंस की सहायता से खनौरी और पंजाब के दूसरे अस्पताल में ले जाया जा रहा है।

किसान नेताओं का कहना है कि खनौरी (संगरूर) में किसान प्रदर्शन दौरान एक युवा किसान की मौत हो गई है। युवक बठिंडा जिले का रहने वाला है और प्रदर्शन दौरान उसके सिर में कोई चीज लगने की वजह से हैड इंजरी हुई, जिसमें उसकी मौत हो गई। प्रदर्शन स्थल से ही युवक को खनौरी के एक प्राइवेट अस्पताल में ले जाया गया, जहां उसे गाड़ी में ही मृतक घोषित कर दिया गया।

 

हरियाणा पुलिस की ओर से लगातार आंसू गैस के गोले फेंके जाने से भगदड़ की स्थिति बन गई। शंभू बॉर्डर पर किसान आंदोलन धीमा पड़ा है। दिल्ली कूच की जिद पर अड़े किसान अब बैरिकेडिंग से वापस अपनी ट्रॉलियों के पास आ रहे हैं।

एसकेएम गैर राजनीतिक के दूसरे नेता व किसान आंदोलन के दूसरे बड़े नेता जगजीत डल्लेवाल की भी तबीयत बिगड़ी है। उन्हें भी गैस की प्रॉब्लम हुई है। उन्हें भी प्रदर्शन स्थल से बाहर ले जाया गया है।

PunjabKesari

खनौरी बॉर्डर से बड़ी खबर सामने आ रही है। यहां एक युवा किसान की मौत हो गई। सूत्रों के मुताबिक गोली लगने से किसान की मौत हुई। मृतक शुभकरन बठिंडा का रहने वाला था तथा 
दो बहनों का इकलौता भाई था। 

PunjabKesari

पंजाब और हरियाणा के बीच स्थित शंभू बॉर्डर के अलावा खनौरी बॉर्डर पर भी भारी संख्या में प्रदर्शनकारी किसान तैनात है। इस दौरान प्रदर्शकारियों ने हंगामा करते हुए पुलिस बैरिकेड्स तोड़ने की कोशिश की, पुलिस ने उन्हें काबू करने के लिए ड्रोन के जरिये आंसू गैस के गोले गिराए और प्रदर्शनकारियों को वहां से खदेड़ दिया। 

PunjabKesari

किसान शंभू बॉर्डर पर अड़े हुए है। आंदोलन का आज 9वां दिन है। इसी वक्त बड़ी खबर सामने आ रही है कि आज शाम किसान नेताओं व केंद्र सरकार से 5वीं बार वार्ता हो सकती है। यह मीटिंग आज शाम को ही चंडीगढ़ में होगी। सूत्रों के मुताबिक शंभू बॉर्डर पर किसानों को फिलहाल आगे ना बढ़ने को कहा गया है। किसानों का मुख्य काफिला पंजाब-हरियाणा के शंभू बॉर्डर से रवाना होगा। इसके अलावा खनौरी बॉर्डर से भी किसान हरियाणा में घुसेंगे। यहां से वे ट्रैक्टर-ट्रॉलियों में दिल्ली की तरफ जाएंगे। इससे पहले मंगलवार देर रात पंजाब से शंभू बॉर्डर की तरफ हैवी मशीनरी लेकर जा रहे किसानों और पुलिस में नाकाबंदी पर झड़प हो गई। इसमें शंभू थाना के SHO इंस्पेक्टर अमनपाल सिंह विर्क और मोहाली के SP जगविंदर सिंह चीमा घायल हो गए। दोनों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दिल्ली कूच से पहले किसानों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। 

 

शंभू बॉर्डर पर फिर बवाल

PunjabKesari

शंभू बॉर्डर पर फिर बवाल देखने को मिला। आगे बढ़े किसानों पर पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे। बॉर्डर पर तनाव की स्थिति बन गई है और बॉर्डर पर पुलिस का सख्त पहरा है।


कृषि मंत्री अर्जुन मुंडा ने ट्वीट किया कि सरकार चौथे दौर के बाद पांचवें दौर में सभी मुद्दे जैसे कि MSP की माँग, Crop Diversification, पराली का विषय, FIR पर बातचीत के लिए तैयार है। मैं दोबारा किसान नेताओं को चर्चा के लिए आमंत्रित करता हूँ। हमें शांति बनाए रखना जरूरी है।

— Arjun Munda (@MundaArjun) February 21, 2024


PunjabKesari

अंबाला शंभू बॉर्डर से अपडेट

अंबाला शंभू बॉर्डर पर बड़ी संख्या में किसान मौजूद है। किसानों ने आंसू गैस के गोलों से निपटने को लेकर पूरी तैयारी कर ली है। शंभू बॉर्डर पर एक बड़ा हजूम इकट्ठा हो गया है। हर तरह की स्थिति से निपटने को किसान तैयार तैयार है। बुजुर्ग व महिलाओं ने भी दिल्ली जाने की तैयारी कर ली है। अधिकारी शम्भू बार्डर पर किसान नेताओं से बात करने पहुंचे है। 
 

PunjabKesari

पुलिस की तैयारी

  1. शंभू बॉर्डर पर 7 लेयर बैरिकेडिंग, सीमेंट गार्डर, कंटीली तारें बिछाई।
  2. ड्रोन से आंसू गैस के गोले, रबड़ की गोलियां चलाने का इंतजाम।
  3. घग्गर नदी में ट्रैक्टर जाने से रोकने को खुदाई की।
  4. खनौरी बॉर्डर पर हरियाणा पुलिस और पैरामिलिट्री के 5 हजार जवान तैनात।


किसानों की तैयारियां

  1. घग्गर नदी में रास्ता बनाने के लिए ट्रॉलियों में मिट्‌टी के बोरे लाए।
  2. साउंड कैनन से बचने के लिए ईयर प्लग पहने।
  3. आंसू गैस के गोले वाले ड्रोन को गिराने के लिए पतंग लाए।
  4. बैरिकेडिंग तोड़ने के लिए JCB-पोकलेन मशीनें लाए।
  5. आंसू गैस से बचने के लिए गीली बोरियां और चश्मा पहना।

 

दिल्ली कूच से पहले किसानों-प्रशासन की इमरजेंसी मीटिंग

दिल्ली कूच से पहले शंभू बॉर्डर के पास प्रशासन व किसानों की थोड़ी देर में इमरजेंसी मीटिंग होने जा रही है। आखिरी दौर की इस मीटिंग में प्रशासन केंद्र की तरफ से किसानों को कोई संदेश दे सकता है


 

— ANI_HindiNews (@AHindinews) February 21, 2024



प्रेस कॉन्फ्रेंस में किसान नेता सरवन सिंह पंधेर ने कहा कि हमने अपनी तरफ से पूरी कोशिश की। हम बैठकों में शामिल हुए, हर बिंदु पर चर्चा हुई और अब फैसला केंद्र सरकार को लेना है। हम शांत रहेंगे, प्रधानमंत्री को आगे आना चाहिए और हमारी मांगों को स्वीकार करना चाहिए। 1.5-2 लाख करोड़ रुपये ज्यादा बड़ी रकम नहीं है। इन बाधाओं को हटाकर हमें दिल्ली की ओर मार्च करने की अनुमति दी जानी चाहिए। हमने सरकार से कहा है कि आप हमें मार सकते हैं, लेकिन कृपया किसानों पर अत्याचार न करें। हम प्रधानमंत्री से अनुरोध करते हैं कि वह आगे आएं और कानून की घोषणा करके इस विरोध को समाप्त करें। हरियाणा के गांवों में अर्धसैनिक बल तैनात हैं, हमने क्या अपराध किया है? हमने आपको प्रधानमंत्री बनाया है। हमने कभी नहीं सोचा था कि सेनाएं हम पर इस तरह से अत्याचार करेंगी। कृपया संविधान की रक्षा करें और हमें शांतिपूर्वक दिल्ली की ओर जाने दें। यह हमारा अधिकार है। हम पीसफूल तरीके से रहेंगे, लेकिन आज किसान और जवान खून की होली खेलेगा।

 

— ANI_HindiNews (@AHindinews) February 21, 2024

किसान नेता जगजीत सिंह डल्लेवाल ने कहा कि 'हमारा इरादा किसी तरह की अराजकता पैदा करने का नहीं है... हमने 7 नवंबर से दिल्ली पहुंचने का कार्यक्रम बनाया है। अगर सरकार कहती है कि उन्हें पर्याप्त समय नहीं मिला तो इसका मतलब है कि सरकार हमें नजरअंदाज करने की कोशिश कर रही है। ये ठीक नहीं है कि हमें रोकने के लिए इतने बड़े-बड़े बैरिकेड लगाए गए हैं। हम शांति से दिल्ली जाना चाहते हैं। सरकार बैरिकेड हटाकर हमें जाने दे... नहीं तो हमारी बात पूरी करें मांगें... हम शांतिप्रिय हैं। अगर वे एक हाथ बढ़ाएंगे तो हम भी सहयोग करेंगे। हमें धैर्य के साथ स्थिति को संभालना होगा। मैं युवाओं से अपील करता हूं कि वे नियंत्रण न खोएं।

बता दें कि हरियाणा पुलिस ने किसानों को रोकने के लिए शंभू बॉर्डर पर घग्गर नदी के ऊपर बने पुल पर सीमेंट के गार्डर और कंटीली तारों से बैरिकेडिंग की है। जिसे तोड़ने के लिए किसानों ने JCB, हाईड्रोलिक क्रेन और बुलेट प्रूफ पोकलेन मशीन भी ला रखी है। शंभू बॉर्डर पर करीब 1200 और खनौरी बॉर्डर पर 800 ट्रैक्टर खड़े हैं। इनकी संख्या बढ़ सकती है।

(हरियाणा की खबरें अब व्हाट्सऐप पर भी, बस यहां क्लिक करें और Punjab Kesari Haryana का ग्रुप ज्वाइन करें।) 
(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)
 

Related Story

Trending Topics

IPL
Chennai Super Kings

176/4

18.4

Royal Challengers Bangalore

173/6

20.0

Chennai Super Kings win by 6 wickets

RR 9.57
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!