महापुरुषों के दिखाए रास्ते पर चलकर समाज को लेनी चाहिए प्रेरणा: शिक्षा मंत्री

Edited By Isha, Updated: 30 Jul, 2022 04:10 PM

education minister kanwar pal pays tribute to martyr udham singh

कंवर पाल गुज्जर ने कहा कि हमें महापुरुषों के दिखाए रास्ते पर चलना चाहिए। क्रांतिकारियों की शहादत और त्याग से प्रेरणा लेनी चाहिए। देश की एकता, अखंडता और राष्ट्र निर्माण के लिए मिलकर आगे बढ़ना चाहिए।

चंडीगढ़/रतिया(चंद्रशेखर धरणी): महान क्रांतिकारी शहीद उधम सिंह के बलिदान दिवस पर रतिया में आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम में शिक्षा मंत्री कंवर पाल ने शहीद उधम सिंह के चरणों में नमन करते हुए कहा कि शहीद उधम सिंह ने जो शपथ ली थी, उस पर कायम रहे और देश के मान सम्मान के लिए इंग्लैंड में जाकर जलियांवाला बाग नरसंहार का बदला लिया। उन्होंने कहा कि शहीद हमारी अनमोल विरासत है। सरकार की सोच है कि महापुरुषों की जयंतियों पर बड़े-बड़े कार्यक्रमों का आयोजन किया जाए, ताकि महापुरुषों का संदेश जन-जन तक पहुंच सके। शिक्षा मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री खुद चाहते थे कि वे स्वयं इस कार्यक्रम में शामिल हों, लेकिन चंडीगढ़ में उत्तरी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के सम्मेलन के चलते उन्हें अपना दौरा रद्द करना पड़ा।

कंवर पाल गुज्जर ने कहा कि हमें महापुरुषों के दिखाए रास्ते पर चलना चाहिए। क्रांतिकारियों की शहादत और त्याग से प्रेरणा लेनी चाहिए। देश की एकता, अखंडता और राष्ट्र निर्माण के लिए मिलकर आगे बढ़ना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार के विकास के रथ का पहिया लगातार घूम रहा है। वर्तमान सरकार ने पिछली सरकारों के मुकाबले में चार गुणा विकास किया है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में हरियाणा सरकार अंत्योदय की भावना को लेकर कार्य कर रही है ताकि अंतिम पंक्ति में खड़े व्यक्ति का सामाजिक एवं आर्थिक उत्थान सम्भव हो सके और वह समाज की मुख्यधारा से शामिल होकर अपना सुखमय जीवन व्यतीत कर सके।

शिक्षा मंत्री ने कहा कि शहीदों की शहादत और वीरता का आने वाली नस्लों को पता चलना चाहिए। इसलिए अबकी बार इतिहास की पुस्तकों में उन्हें भी स्थान दिया गया है जिन्होंने देश के लिए बलिदान दिया लेकिन उनके बारे में लोग कम ही जानते हैं। इस अवसर पर शिक्षा मंत्री ने मुख्यमंत्री की ओर से की गई घोषणाओं का उल्लेख करते हुए कि मुख्यमंत्री ने फतेहाबाद में कंबोज धर्मशाला के लिए रियायती दर पर 2 हजार गज जमीन देने की घोषणा की है। इसके साथ ही हरियाणा कंबोज सभा (कुरुक्षेत्र) के लिए 21 लाख रुपए की घोषणा मुख्यमंत्री की ओर से की गई है। कंवर पाल ने अपनी ओर से रतिया धर्मशाला के लिए 11 लाख रुपए देने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि जल्द ही मुख्यमंत्री यहां आएंगे और विभिन्न संगठनों व स्थानीय लोगों की बाकि मांगों को पूरा करेंगे। 

 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भीबस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!