पिछले 8 साल से जनता राम भरोसे, भाजपा-जजपा को नहीं जनता के हितों से कोई सरोकार : सुर्जेवाला

Edited By Isha, Updated: 04 Aug, 2022 10:51 AM

bjp jjp have nothing to do with public interest

सांसद व भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव रणदीप सिंह सुर्जेवाला ने कहा कि आज भाजपा-जजपा सरकार के शासन में जनता त्राहि-त्राहि कर रही है। उद्योग धंधे ठप्प पड़े हैं। युवाओं को रोजगार नहीं है। निरंतर महंगाई बढ़ रही है। घर बनाने से लेकर सांस

कैथल: सांसद व भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव रणदीप सिंह सुर्जेवाला ने कहा कि आज भाजपा-जजपा सरकार के शासन में जनता त्राहि-त्राहि कर रही है। उद्योग धंधे ठप्प पड़े हैं। युवाओं को रोजगार नहीं है। निरंतर महंगाई बढ़ रही है। घर बनाने से लेकर सांस लेने तक सबकुछ महंगा हो चुका है, लेकिन जनहित को लेकर भाजपा-जजपा सरकार की न कोई नीति है, न नीयत है और न ही कोई दूरगामी सोच। 

जारी प्रैस विज्ञप्ति में सुर्जेवाला ने कहा कि एक तरफ मंदी की मार है तो दूसरी तरफ महंगाई की मार और अब आगे-आगे जिंदगी जीना भी दुश्वार ही होने वाली है। भाजपा सरकार के 8 साल में महंगाई व बेरोजगारी से बुरा हाल हो चुका है लेकिन इससे निपटने, विचार करने व समाधान करेंने में खट्टर-दुष्यंत व मोदी नाकाम साबित हो रहे हैं। सुर्जेवाला ने कहा कि कोयले के दाम 3 गुना बढऩे से अब घर बनाना भी महंगा हो चुका है। कोयले के दाम 7,000 रुपए प्रति टन से बढ़कर 23,000 रुपए प्रति टन हो गए हैं। डीजल के दाम पहले की तुलना में 25 फीसदी बढ़ चुके हैं। ईंटों के रेट 7000-7200 रुपए बढऩे से बिक्री घट रही है। मिट्टी का भाव भी उच्चतम स्तर पर (डंपर मिट्टी 2500 से बढ़कर 3500) हो चुका है। 

उन्होंने कहा कि उद्योग धंधे ठप्प होने के कारण टैक्सटाइल इंडस्ट्री में सबसे अधिक 75,000 नौकरियां घट चुकी हैं। प्रदेश में सड़कों में गड्ढे ही गड्ढे हैं। उन्होंने सवाल किया कि मोदी-खट्टर व दुष्यंत चौटाला बताएं कि जब जनता टोल का पूरा पैसा निर्वहन करती है तो उनके लिए सुविधाएं क्यों सुनिश्चित नहीं की जा रही है? कब जागेगा प्रशासन? कब जागेगी कुम्भकर्णी नींद में सोई आपकी यह भाजपा-जजपा सरकार। 

उन्होंने कहा कि भाजपा-जजपा सरकार के नाकाम 8 साल में स्वास्थ्य सेवाओं का बुराहाल है। सरकारी अस्पतालों में फटे गद्दे, गंदी चादर व टूटे स्ट्रक्चर, मरीज घर से ही पंखे-कूलर लाने को विवश हैं। बरसाती पानी की निकासी न होने के कारण व्हीलचेयर से पानी के रास्ते एम्बुलैंस तक जाने को मजबूर हैं मरीज। न डॉक्टर, न इलाज और न ही उचित संसाधन। मुख्यमंत्री खट्टर व उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला जवाब दें कि आखिर क्यों हरियाणा का बेड़ा गर्क कर डाला।
 

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!