53 की उम्र में एवरेस्ट फतह करने वाली पहली भारतीय महिला बनी संगीता बहल

Edited By Rakhi Yadav, Updated: 31 May, 2018 06:57 PM

at the age of 53 the first woman to win everest is sangeeta behl

जीवन में कुछ कर गुज़रने का लक्ष्य कितना ही बड़ा क्यों ना हो। यदि आप उस लक्ष्य को पाने के लिए हर तरह की चुनौती का डटकर सामना कर रहे हैं, तो कोई भी बाधा आपको आपकी मंज़िल तक पहुंचने से नहीं रोक पाएगी। हिम्मत, हौसले, जिद और जुनून के सपने ....

गुरूग्राम(सतीश राघव):  जीवन में कुछ कर गुज़रने का लक्ष्य कितना ही बड़ा क्यों ना हो। यदि आप उस लक्ष्य को पाने के लिए हर तरह की चुनौती का डटकर सामना कर रहे हैं, तो कोई भी बाधा आपको आपकी मंज़िल तक पहुंचने से नहीं रोक पाएगी। हिम्मत, हौसले, जिद और जुनून के सपने की कहानी को 53 वर्षीय संगीता बहल ने हकीकत में बदलकर दिखा दिया है।
PunjabKesari
जम्मू में जन्मीं संगीता बहल ने 19 मई 2018 को विश्व की सबसे ऊंची चोटी एवरेस्ट को फ़तह कर वहां भारत का तिरंगा फहराने वाली व जन गण मन सुनाने वाली सबसे ज्यादा उम्र की महिला पर्वतारोही बन गई। इससे पहले संगीता बहल ने पिछले साल भी कोशिश की थी लेकिन करीब 7350 मीटर की ऊंचाई पर तबियत खराब होने के चलते वापस लौटना पड़ा था। इस बार 53 की उम्र में संगीता अपने सपने को पूरा कर दिखाया।
PunjabKesari
एवरेस्टर संगीता ने 19 मई की सुबह 7 बजे 70 किलोमीटर की रफ्तार से चल रही बर्फिली हवाओं के बीच विश्व की सबसे ऊंची चोटी पर चढ़ाई की। आज संगीता का हौंसला सांतवें आसमान पर है। संगीता बहल मिस इंडिया की पूर्व फाइनलिस्ट और एक सफल ऑन्ट्रप्रनर से पर्वतारोही बनी हैं।
PunjabKesari
आज अपने नाम के साथ एवरेस्ट शब्द जुड़ जाने से वे खुद को गौरवान्वित महसूस कर रही हैं। उन्होंने युवाओ को मैसेज देते हुए कहा कि यदि लक्ष्य हासिल करने की लगन हो तो कुछ भी मुश्क़िल नहीं है। जीवन में कुछ हासिल करने के लिए बस मेहनत की जरूरत है।
PunjabKesari
भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नें भी मन की बात कार्यक्र्म में संगीता बहल के हौंसले को सलाम किया है। संगीता को भारत के पूर्व राष्टपति प्रणब मुखर्जी द्वारा भी पुरस्कार मिल चुका है। 


 

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!