मेवात और मोरनी के सरकारी स्कूलों में अब नहीं रहेगी शिक्षकों की कमी

Edited By Vivek Rai, Updated: 17 May, 2022 10:23 PM

there will be no shortage of teachers in schools of mewat and morni

मेवात और मोरनी में शिक्षकों की कमी को दूर करते हुए शिक्षा विभाग की ओर से बड़ा और महत्वपूर्ण कदम उठाया गया है। इसके तहत 622 शिक्षकों के तबादला के आदेश जारी कर दिए गए हैं। दुर्गम क्षेत्र होने की वजह से मेवात और मोरनी (पंचकूला) ब्लॉक के कुछ स्कूलों में...

चंडीगढ़(धरणी): मेवात और मोरनी में शिक्षकों की कमी को दूर करते हुए शिक्षा विभाग की ओर से बड़ा और महत्वपूर्ण कदम उठाया गया है। इसके तहत 622 शिक्षकों के तबादला के आदेश जारी कर दिए गए हैं। दुर्गम क्षेत्र होने की वजह से मेवात और मोरनी (पंचकूला) ब्लॉक के कुछ स्कूलों में शिक्षकों की कमी थी,जिसके लिए विभाग की ओर से कुछ अतिरिक्त सुविधाएं देते हुए वहां नौकरी करने के इच्छुक शिक्षकों से आवेदन मांगे गए थे। अब इन आवेदनों के आधार पर 622 शिक्षकों का चयन किया गया है। स्थायी नियुक्ति केवल मेवात काडर के लिए कि गई हैं ,जबकि मोरनी ब्लॉक के लिए डेपुटेशन आधार पर ही शिक्षकों का चयन किया गया है।

मेवात काडर और मोरनी  ब्लॉक के लिए कुल 170 पीजीटी,163 टीजीटी और 796 पीआरटी ने आवेदन किया ,जिनमे से 107 पीजीटी 109 टीजीटी और 406 पीआरटी को स्टेशन अलॉट किए गए। जिन आवेदक शिक्षकों को स्टेशन अलॉट नही हुए हैं, इनसे दोबारा आवेदन मांगकर स्टेशन दिए जाएंगे। चयनित किए गए शिक्षकों के लिए विभाग की ओर से कुछ नियम बनाये गए है। इसके साथ ही अतिरिक्त सेलरी और भत्ते सुविधाएं दिए जाने का प्रावधान  भी किया गया है।

 शिक्षा मंत्री कंवर पाल गुर्जर ने कहा कि   जो शिक्षक अस्थायी प्रतिनियुक्ति पर मेवात और मोरनी ब्लॉक के  लिए चयनित किए गए हैं, उनका कार्यकाल 1 अप्रैल 2022 से 31 मार्च 2023 तक रहेगा। जो शिक्षक स्थायी तौर पर मेवात के लिए चयनित किये गए हैं, उनको अपने वर्तमान काडर में वरिष्ठता छोड़नी होगी और मेवात काडर के मुताबिक वरिष्ठता ग्रहण करनी होगी। इसके बारे में शिक्षक को एक सत्यापन पत्र  भी विभाग को देना होगा।

 शिक्षा मंत्री ने कहा कि स्थायी शिक्षक जो डेपुटेशन आधार पर मेवात या मोरनी में कार्यग्रहण करेंगे  उन्हें बेसिक वेतन और महंगाई भत्ते का 10 फीसदी अतिरिक्त भुगतान किया जाएगा। अतिथि अध्यापक जिनका चयन अस्थायी तौर पर मेवात या मोरनी के लिए किया गया है, उन्हें 10 हजार रुपये मासिक इनसेंटिव  के तौर पर दिए जाएंगे। मेवात और मोरनी के लिए चयनित शिक्षक डेपुटेशन के दौरान ट्रांसफर ड्राईव में भाग नही लेंगे।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

 

 

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!