मेल, एक्सप्रेस व सुपरफास्ट ट्रेनों में अभी तक नहीं हैं अनारक्षित कोच, यात्री परेशान

Edited By Manisha rana, Updated: 05 Jun, 2022 11:07 AM

there are no unreserved coaches in mail express and superfast trains yet

कोरोना महामारी के दौरान केंद्र व प्रदेश सरकारों ने जो पाबंदियां लगाई हुई थी, उनमें से अधिकांश को हटा दिया गया है ताकि पूरी गति से सभी प्रतिष्ठान व कारोबार चल सकें...

गुडग़ांव : कोरोना महामारी के दौरान केंद्र व प्रदेश सरकारों ने जो पाबंदियां लगाई हुई थी, उनमें से अधिकांश को हटा दिया गया है ताकि पूरी गति से सभी प्रतिष्ठान व कारोबार चल सकें और कोरोना में पटरी से उतरी अर्थव्यवस्था फिर से पटरी पर आ सके। भारतीय रेल ने अभी भी दर्जनों रेलगाडिय़ों में कुछ पाबंदियां लगाई हुई हैं। इन रेलगाडिय़ों में जनरल कोच की व्यवस्था अभी तक नहीं की गई है जबकि जनरल कोच लगाने की मांग पिछले कई माह से दैनिक यात्री भी करते आ रहे हैं।

एक्सप्रैस रेलगाडिय़ों में जनरल कोच न होने के कारण यात्रियों को खिड़की से टिकट नहीं मिल पाता, लेकिन उन्हें यात्रा तो करनी ही है, इसलिए वे बिना टिकट के ही इन एक्सप्रैस रेलगाडिय़ों में बेधड़क यात्रा कर रेलवे को भारी आर्थिक नुकसान पहुंचा रहे हैं। रेलवे को भारी राजस्व की हानि हो रही है। दिल्ली से गुडग़ांव होकर राजस्थान व गुजरात की ओर जाने के लिए करीब 4 दर्जन रेलगाडिय़ां संचालित की जा रही हैं। लेकिन इनमें से करीब 13 रेलगाडिय़ों में अभी तक जनरल कोच नहीं जोड़ा गया है।

अपितु इसके स्थान पर द्वितीय श्रेणी के सिटिंग कोच लगाकर एडवांस बुकिंग भी की जा रही है। बड़ी संख्या में लोग इन रेलगाडिय़ों में बैठने के लिए सीट बुक कराते हैं। लेकिन सीट बुक कराने वालों को बड़ी परेशानियों का सामना कंपार्टमेंट में जाकर करना पड़ता है। क्योंकि उनकी बुक कराई सीट पर पहले से ही बिना टिकट लिए यात्री जमें दिखाई देते हैं। उन्हें भीड़ में ही एडजस्ट होकर सफर करने पर मजबूर होना पड़ रहा है। रेलवे के भरोसेमंद सूत्रों का कहना है कि सराय रोहिल्ला से अजमेर तक जन शताब्दी रेलगाड़ी का संचालन किया जा रहा है। यह पूरी रेलगाड़ी आरक्षित होती है। लेकिन इस सबके बावजूद भी रेल पास धारक व अन्य यात्री भी सवार होकर सफर करते देखे जा सकते हैं।

सूत्रों का कहना है कि जन शताब्दी रेलगाड़ी में मात्र 3 टीटीई की ड्यूटी लगाई हुई है। ऐसे में 3 टीटीई कितने कंपार्टमेंट को चैक करेंगे। सूत्रों का यह भी कहना है कि यदि एक्सप्रैस ट्रेन में जनरल कोच जोड़ दिए जाएं और उनमें खिड़की से टिकट लेकर यात्रा करने की सुविधा पहले की तरह उपलब्ध करा दी जाए तो जन शताब्दी में बिना टिकट यात्रा करने वालों से छुटकारा मिल जाएगा और रेलवे के राजस्व में भी वृद्धि होगी। सूत्रों का कहना है कि गत एक जून से रेलवे ने संभी रेलगाडिय़ों में अनारक्षित टिकट लेने वाले यात्रियों के लिए सामान्य कोच लगाने की बात कही थी, लेकिन ऐसा होता दिखाई नहीं दे रहा है। गुडग़ांव रेलवे स्टेशन से हजारों की संख्या में यात्री राजस्थान व गुजरात की तरफ जाते हैं। उधर रेलवे के अधिकारियों का कहना है कि मेल, एक्सप्रैस और सुपरफास्ट रेलगाडिय़ों में अनारक्षित कोच लगाए जाने की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं। जिससे सभी रेलगाडिय़ों में यात्री अनारक्षित टिकट लेकर यात्रा कर सकेंगे। 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!