बिजली टावर लगाने की एवज में किसानों ने उठाई मुआवजे की मांग, बैठक कर लिए कई फैसले

Edited By Vivek Rai, Updated: 14 May, 2022 04:40 PM

in lieu of installing power tower farmers raised demand for compensation

हरियाणा के करनाल जिले के असंध में संयुक्त किसान मोर्चा के नेतृत्व में किसान संगठनों की एक बैठक हुई, जिसमें खेतों में लगाए जा रहे हाई वोल्टेज टावर को लेकर चर्चा की गई। किसानों नेताओं की मांग है कि जिस किसान के खेत में टावर लगाया जाए और जिनके खेत से...

करनाल(ब्यूरो): हरियाणा के करनाल जिले के असंध में संयुक्त किसान मोर्चा के नेतृत्व में किसान संगठनों की एक बैठक हुई, जिसमें खेतों में लगाए जा रहे हाई वोल्टेज टावर को लेकर चर्चा की गई। किसानों नेताओं की मांग है कि जिस किसान के खेत में टावर लगाया जाए और जिनके खेत से तारे निकल रही हैं, उन्हें सरकार की ओर से उचित मुआवजा दिया जीए। ऐसा ना होने पर किसान प्रशासन का विरोध करेगा और टावर के लिए खोदे गए गड्ढों को भर दिया जाएगा।

किसानों की मांग प्रति टावर मिले 15 लाख रुपए मुआवजा

असंध के गुरुद्वारा परिसर में हुई इस बैठक में फैसला लिया गया कि जिस किसान के खेत में टावर लगाया जाए, उसे सरकार की ओर से 15 लाख रूपए मुआवजा दिया जाए। इसी के साथ किसानों के खेत के ऊपर से बिजली की तारें निकल रही हैं, उन्हें भी उचित राशि दी जाए। किसान अमृत बुग्गा ने बताया कि बंदराला और दनोली गांव में किसानों की मर्जी के खिलाफ उनके खेत से हाई वोल्टेज तारें निकाली जा रही है। इसे लेकर किसान संगठनों ने आज एक बैठक कर कई फैसले लिए। उन्होंने कहा कि किसान सरकार को चेतावनी देते हैं कि या तो उन्हें समय रहते उचित मुआवजा दिया जाए वरना किसान टावर लगाने का विरोध करेंगे।

किसान हैप्पी ओलख  ने बताया कि पिछले कई सालों से टावर लगाने को लेकर प्रक्रिया चली है। हम कई बार प्रशासन से गुहार लगा चुके हैं कि इसे लेकर किसानों के साथ बातचीत की जाए। किसानों को उचित मुआवजा दिया जाए। प्रशासन बातचीत करने की बजाय पुलिस फोर्स लगाकर किसानों के साथ धक्का शाही कर रहा है। किसान अपने साथ ऐसा नहीं होने देंगे।

जब मोबाइल टावर के लिए पैसे मिलते हैं तो बिजली टावर के लिए क्यों नहीं- विधायक गोगी

असंध से कांग्रेस विधायक शमशेर सिंह गोगी ने कहा कि आज असंध में किसान यूनियन की बहुत बड़ी मीटिंग हो रही है। प्रदेश की मनोहर सरकार लगातार किसान विरोधी फैसले ले रही है। बिजली विभाग को चाहिए कि वह किसानों की जमीन को प्रयोग करने की एवज में उन्हें उचित मुआवजा दे। इस बिजली लाइन का प्रयोग पूरे प्रदेश के लिए होगा। गोगी ने कहा कि खेत में एक टावर लगाने के लिए एक डेढ़ कनाल जमीन की जरूरत होती है। जब मोबाइल टावर लगाने का पैसा मिलता है तो बिजली टावर के लिए किसानों को भी मुआवजा दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी किसानों का पूरा समर्थन करती है।

 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!