सरकार समय रहते चेत जाए वर्ना यह आंदोलन कभी भी उग्ररूप धारण कर सकता है : चढूनी

Edited By Isha, Updated: 23 Jun, 2022 10:30 AM

government should be alert in time or else this movement

भाकियू (चढूनी )के राष्ट्रीयाध्यक्ष गुरनाम सिंहचढूनी ने अग्रिपथ भर्ती योजना को लेकर देशभर में चल रहे आंदोलन पर तीखे बोल बोले और आशंका जताई व कड़ी चेतावनी भी सरकार को दी। राष्ट्रीयाध्यक्ष ने चेतावनी दी कि सरकार समय रहते चेत जाए व

शाहाबाद मारकंडा : भाकियू (चढूनी )के राष्ट्रीयाध्यक्ष गुरनाम सिंहचढूनी ने अग्रिपथ भर्ती योजना को लेकर देशभर में चल रहे आंदोलन पर तीखे बोल बोले और आशंका जताई व कड़ी चेतावनी भी सरकार को दी। राष्ट्रीयाध्यक्ष ने चेतावनी दी कि सरकार समय रहते चेत जाए वर्ना यह आंदोलन कभी भी उग्ररूप धारण कर सकता है जो सबसे ज्यादा नेताओं का नुक्सान करेगा जिसका उदाहरण बिहार है जहां कई नेताओं को वाई श्रेणी सुरक्षा देनी पड़ी।

 उन्होंने मांग की है कि जिन नवयुवकों ने आत्महत्या की है उनके आश्रितों को सरकार 50-50 लाख रुपए आर्थिक सहायता दे। सरकार ने जो मुकद्दमें नवयुवकों के विरुद्ध दर्ज किए हैं वे तुरंत रद्द किए जाएं और सरकार सुनिश्चित करे कि नवयुवक किसी भर्ती या नौकरी से वंचित न रह जाएं।  उन्होंने तो विपक्ष को भी आड़े हाथों लिया और कहा कि विपक्ष अपनी भूमिका नहीं निभा रहा, विपक्ष को एकजुट होकर इसके विरुद्ध आवाज उठानी चाहिए, जो समय की मांग है। सरकार धड़ाधड़ जो युवकों पर एफ.आई.आर. दर्ज कर रही है वह इसका कड़ा विरोध करते हैं। 

 यह स्वाभाविक है कि नवयुवक  हताश व निराश हैं। यह उनका लोकतांत्रिक अधिकार भी है। इस तरह से मुकद्दमें दर्ज करना गुलामी का दूसरा नाम है। लोकतंत्र में आवाज उठाना देशहित व देशभक्ति का काम है क्योंकि आंदोलनकारी जब अन्याय व गलत होता है तो मजबूर होकर आंदोलन करते हैं। 
 

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!