फरीदाबाद के युवक ने पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप, एसआईटी गठित कर जांच की मांग की

Edited By Vivek Rai, Updated: 29 Jun, 2022 07:08 PM

faridabad man made serious allegations against police officials

फरीदाबाद में एक युवक ने डबुआ थाना के तत्कालीन एसएचओ और अन्य कई पुलिसकर्मियों पर एक मामले में उचित कार्रवाई ना करने के आरोप लगाए हैं। युवक के अनुसार उनके ऊपर हुए हमले के मामले में डबुआ थाना के तत्कालीन एसएचओ ने उचित कार्रवाई नहीं की थी। युवक ने  इस...

फरीदाबाद(अनिल): फरीदाबाद में एक युवक ने डबुआ थाना के तत्कालीन एसएचओ और अन्य कई पुलिसकर्मियों पर एक मामले में उचित कार्रवाई ना करने के आरोप लगाए हैं। युवक के अनुसार उनके ऊपर हुए हमले के मामले में डबुआ थाना के तत्कालीन एसएचओ ने उचित कार्रवाई नहीं की थी। युवक ने  इस मामले में एसआईटी गठित कर उचित जांच करने की मांग की है। वहीं पीड़ित ने हरियाणा के मुख्यमंत्री, गृहमंत्री ,डीजीपी हरियाणा, पुलिस कमिश्नर फरीदाबाद और मानव अधिकार आयोग से लेकर अन्य कई बड़े अधिकारियों को शिकायत कर उचित जांच की मांग की है। यही नहीं पीड़ित ने चेतावनी दी है यदि जांच के बाद दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ उचित कार्रवाई नहीं की गई और उसे न्याय दिलाया नहीं मिला तो वह मजबूरन अपने परिवार के साथ फरीदाबाद के मिनी जंतर मंतर कहे जाने वाले बीके चौक पर धरना प्रदर्शन करेगा।

डेढ़ साल पहले घर में घुसकर युवक पर हुआ था हमला

पीड़ित के मुताबिक लगभग डेढ़ साल पहले उसके ऊपर घर में घुसकर जानलेवा हमला हुआ था, जिसमें न केवल उसे बल्कि उसकी बुजुर्ग माँ को भी काफी चोटे आई थी। पीड़ित ने बताया कि उस हमले में उसके हाथ पैरों में फैक्चर आ गया था। इसी के साथ झगड़े में उनका एक कान भी अंग भंग हुआ था। लेकिन डबुआ थाना के तत्कालीन एसएचओ सोहनपाल खटाना, एसआई उदय पाल और एएसआई दिनेश और हवलदार बलवान ने  दोषियों के साथ मिलकर उसकी शिकायत पर उचित धाराओं में कार्रवाई नहीं की थी। इस मामले में वह कई बार एसएचओ सोहन पाल खटाना और जांच अधिकारियों के चक्कर काटता रहा, लेकिन फिर भी उसकी शिकायत पर उचित धाराओं में मामला तक दर्ज नहीं हुआ था। इसी दौरान सोहनपाल खटाना का ट्रांसफर सूरजकुंड थाने में हो गया, जिसके बाद डबुआ थाने में आए नए एसएचओ महेंद्र पाठक ने उसकी शिकायत को बड़ी बारीकी से पढ़ा और उसकी शिकायत सुनी। इसके आधार पर उन्होंने उचित धाराओं को जोड़ दिया, जो धाराएं सोहन पाल खटाना ने नहीं लगाई थी।

तत्कालीन एसएचओ की लापरवाही को लेकर न्याय की मांग कर रहे हैं सोनू गुप्ता

तत्कालीन एसएचओ की इस लापरवाही को लेकर सोनू गुप्ता न्याय की मांग कर रहा है। सोनू गुप्ता के मुताबिक अगर समय पर उचित धाराएं लगती तो आरोपी पहले ही सलाखों के पीछे होते। अब पीड़ित सोनू गुप्ता ने पुलिस द्वारा की गई लापरवाही को लेकर हरियाणा के मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री, हरियाणा के डीजीपी फरीदाबाद पुलिस कमिश्नर और मानव आयोग से एसआईटी गठित कर एसएचओ सोहनपाल खटाना व लापरवाही बरतने वाले पुलिस कर्मियों के खिलाफ जांच की मांग की है।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!