नए सत्र का डेढ़ महीना बीत जाने के बावजूद बच्चों को नहीं मिली किताबें , पढ़ाई करवाने में आ रही दिक्कत

Edited By Isha, Updated: 14 May, 2022 01:53 PM

despite the passage of one and a half months of the new session

एक तरफ हरियाणा सरकार सरकारी स्कूलों को हाईटेक बनाने का सपना देख रही है स्कूलों में डिजिटल बोर्ड लगाए जा रहे है बच्चों को टैबलेट बांटे जा रहे है तो वही दूसरी तरफ बच्चों को नए सत्र का डेढ़ महीना बीत जाने के बावजूद अभी तक सरकार की ओर

अंबाला (अमन):  एक तरफ हरियाणा सरकार सरकारी स्कूलों को हाईटेक बनाने का सपना देख रही है स्कूलों में डिजिटल बोर्ड लगाए जा रहे है बच्चों को टैबलेट बांटे जा रहे है तो वही दूसरी तरफ बच्चों को नए सत्र का डेढ़ महीना बीत जाने के बावजूद अभी तक सरकार की ओर से किताबें ही नहीं दी गई।

आलम यह है कि बच्चे फटी पुरानी किताबों से पढ़ने को मजबूर है । अंबाला के प्रेम नगर मॉडल संस्कृति स्कूल में जब हमारी टीम ने पड़ताल की तो पता चला कि 80 फीसदी बच्चों के पास पढ़ने के लिए किताबें ही नहीं है। पिछली क्लास के बच्चों की फटी पुरानी किताबों से काम चलाना पढ़ रहा है । प्राइमरी विंग की इंचार्ज ने बताया कि 2 सत्रों से स्कूलों में किताबें नही आई है दूसरी कक्षा के 35 में से मात्र 8 बच्चों को ही पुरानी किताबें उपलब्ध हो पाई है बिना किताबों के पढ़ाई करवाने में काफी दिक्कतें आ रही है।

 वहीं बच्चों के अभिभावकों का कहना है कि सरकार ने स्कूल तो बहुत अच्छे बना दिए है लेकिन बिना किताबों के पढ़ाई कैसे होगी बच्चे पढ़ाई में बहुत पीछे जा रहे है अभिभावकों ने सरकार से जल्द किताबें देने की मांग रखी है।

 

 

Related Story

Trending Topics

India

179/5

20.0

South Africa

131/10

19.1

India win by 48 runs

RR 8.95
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!