लोकसभा प्रत्याशियों के साथ बाबरिया ने चुनाव पर किया मंथन...सैलजा ने बनाई दूरी, हाईकमान से होगी भितरघातियों की शिकायत

Edited By Saurabh Pal, Updated: 25 Jun, 2024 10:13 PM

deepak babaria will complain about the traitors in haryana congress

हरियाणा कांग्रेस के साथ गुटबाजी का शब्द इस तरह चिपक गया है कि छूटने का नाम ही नहीं ले रहा है। उम्मीद से कमतर लेकिन 2019 से 2024 लोकसभा चुनाव में काफी बेहतर प्रदर्शन के बाद कांग्रेस हाईकमान ने हरियाणा में पार्टी के प्रदर्शन को लेकर मंथन करने जा रहा...

हिसारः हरियाणा कांग्रेस के साथ गुटबाजी का शब्द इस तरह चिपक गया है कि छूटने का नाम ही नहीं ले रहा है। उम्मीद से कमतर लेकिन 2019 से 2024 लोकसभा चुनाव में काफी बेहतर प्रदर्शन के बाद कांग्रेस हाईकमान ने हरियाणा में पार्टी के प्रदर्शन को लेकर मंथन करने जा रहा है। इस बैठक में हरियाणा से 30 नेताओं को बुलाया गया है, जिसमें लोकसभा प्रत्याशी व जीते हुए सांसद व तीन  बार के विधायक व तीन बार विधायक रह चुके नेताओं को बुलाया गया है। खास बात यह है कि हालही में भाजपा छोड़कर कांग्रेस में पिता-पुत्र चौधरी बीरेंद्र सिंह व बृजेंद्र सिंह को नहीं बुलाया गया है। इस बैठक में राहुल गांधी व मल्लिकार्जुन खरगे भी शामिल रहेंगे। 

PunjabKesari

कांग्रेस की हाईकमान के मंथन से पहले हरियाणा कांग्रेस प्रभारी दीपक बाबरिया ने लोकसभा चुनाव को लेकर सभी प्रत्य़ाशियों से एक-एक कर बात की। प्रभारी के इस बुलावे पर कांग्रेस के 8 प्रत्याशी बातचीत कर चुनाव का फीडबैक दिया, लेकिन सिरसा सांसद कुमारी सैलजा इस विचार विमर्श में नहीं शामिल हुईं। जिसके कारण सिरसा का चुनाव के दौरान का फीडबैक नहीं मिल पाया है। इसके अलावा कुरुक्षेत्र सीट पर कांग्रेस का प्रत्याशी नहीं था इसलिए कुरुक्षेत्र लोकसभा का फीडबैक नहीं मिल पाया। 

इन दो सीटों को छोड़कर हरियाणा की 8 लोकसभा सीटों की प्रभारी ने रिपोर्ट ली। इस दौरान सबसे खराब रिपोर्ट भिवानी और करनाल से मिली है, यहां के उम्मीदवारों ने भीतरघात की रिपोर्ट दी। इसके अलावा हिसार और गुरुग्राम में सामने आया कि स्थानीय नेताओं ने साथ नहीं दिया। जेपी ने प्रभारी को बताया कि हिसार में कुछ कांग्रेस नेताओं ने साथ नहीं दिया। जिसके कारण जीत का मार्जिन कम रहा। इतना ही नहीं जेपी ने कहा कि कुछ नेताओं ने तो भाजपा की मदद की है। इसी तरह गुरुग्राम लोकसभा में अहिरवाल बेल्ट में कांग्रेस प्रत्याशी का स्थानीय नेताओं ने साथ नहीं दिया। 

 कांग्रेस की यह रिपोर्ट प्रदेश प्रभारी बाबरिया हाईकमान को सौंपेंगे। इसके अलावा प्रत्याशियों से बातचीत के दौरान प्रभारी ने अगामी विधानसभा चुनाव को लेकर जिताउं उम्मीदवारों के नामों पर चर्चा की। बेहतर उम्मीदवारों के नाम भी प्रत्याशियों द्वारा सुझाए गए हैं। इसके अलावा उन कार्रकर्ताओं का भी नाम मांगा गया है जिन्होंने इस चुनाव में कांग्रेस पार्टी के लिए जी जान से मेहनती की और उनका भी नाम मांगा गया है जिन्होंने चुनाव के काम नहीं किया और भीतरघात में शामिल रहे।  

(पंजाब केसरी हरियाणा की खबरें अब क्लिक में Whatsapp एवं Telegram पर जुड़ने के लिए लाल रंग पर क्लिक करें)  

Related Story

Trending Topics

Afghanistan

134/10

20.0

India

181/8

20.0

India win by 47 runs

RR 6.70
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!