कांग्रेस ओबीसी विभाग के चेयरमैन कैप्टन अजय यादव को अपने दिल्ली स्थित कार्यालय तक नही जाने दिया

Edited By Vivek Rai, Updated: 15 Jun, 2022 05:54 PM

captain ajay yadav was not allowed to go to his office in delhi

प्रवर्तन निदेशालय द्वारा राहुल गांधी को लगातार तीसरे दिन भी बुलाया गया और दिल्ली पुलिस का भी कांग्रेस नेताओं को हिरासत में लेना जारी है। बुधवार को कांग्रेस ओबीसी विभाग के चेयरमैन कैप्टन अजय सिंह यादव को अपने दिल्ली स्थित कार्यालय तक नही जाने दिया।

चंडीगढ़(धरणी): प्रवर्तन निदेशालय द्वारा राहुल गांधी को लगातार तीसरे दिन भी बुलाया गया और दिल्ली पुलिस का भी कांग्रेस नेताओं को हिरासत में लेना जारी है। बुधवार को कांग्रेस ओबीसी विभाग के चेयरमैन कैप्टन अजय सिंह यादव को अपने दिल्ली स्थित कार्यालय तक नही जाने दिया। इस दौरान कैप्टन अजय सिंह यादव ने पुलिस से खूब कहा कि उनका एआईसीसी में कार्यालय हो उनको जाने दिया जाए लेकिन दिल्ली पुलिस द्वारा कैप्टन अजय सिंह को नही जाने दिया। बल्कि धक्का मुक्की कर उनको बस में बैठा हिरासत में लिया गया।

कैप्टन अजय सिंह ने पत्रकारों से कहा कि वे कांग्रेस पार्टी ओबीसी विभाग के चेयरमैन हैं और अपने कार्यालय में जाना चाह रहे हैं लेकिन भाजपा की सरकार ने दिल्ली पुलिस को आगे किया हुआ है और दिल्ली पुलिस हमारे साथ दुव्यवहार कर रही है। उन्होंने कहा कि बहुत बड़े अपराधियों की तरह जबरन बसों में बिठाकर हिरासत में ले लेती है और सारा दिन थाने में ही रखती है यह सरेआम लोकतंत्र की हत्या है और देश में अघोषित एमेरजेंसी लगी हुई है। लेकिन मैं डरने वाला नही हूं मैं असली यदुवंशी हूं।

यादव ने बताया कि भाजपा के इशारे पर दिल्ली पुलिस एआईसीसी कार्यालय में जाकर हमारे नेताओं और कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले रही है। देश में लोकतंत्र नाम की कोई चीज नही बची है आज के दिन कांग्रेस के लोग शांति पूर्वक तरीके से अपने कार्यालय तक नही जा सकती है, इतना ही नहीं कांग्रेसी नेताओं को घरों में ही गिरफ्तार कर लिया गया है।

कैप्टन अजय सिंह ने बताया कि एक तरफ भाजपा द्वारा हमारे नेता राहुल गांधी को तंग किया जा रहा है और दूसरी तरफ हमारी देश की सेना में जवानों को भी ठेके पर लेने का निर्णय लिया जा रहा है।

उन्होंने भाजपा की अग्निपथ योजना को सेना के तीनों अंगों की गरिमा और अनुशासन के साथ खिलवाड़ करार दिया और कहा कि सरकार का यह कदम सेना की कार्यक्षमता और निपुणता से समझौता करने वाला है। मात्र 4 साल के लिए ठेके पर भर्ती होने वाले युवाओं का भविष्य क्या होगा। हमारे एक तरफ पाकिस्तान की सीमा और दूसरी तरफ चीन की सीमा है तो क्या नियमित भर्ती पर पाबंदी लगाकर चार साल की ठेके की भर्ती करना देशहित में है।

कैप्टन अजय सिंह ने कहा कि मैं भी एक फौजी रहा हूं, भाजपा द्वारा सेना के साथ समझौता किया जा रहा है जोकि गलत है। तीनों सेनाओं में लगभग ढाई लाख से अधिक पद खाली पड़े हैं। ऐसे में क्या चार साल की कॉन्ट्रैक्ट भर्ती से सेना की रेग्युलर भर्तियों की आवश्यकता पूरी हो सकती। उन्होंने कहा यह स्कीम केवल तनख्वाह, पेंशन, हैल्थ बेनेफिट्स और कैंटीन सेवाओं आदि में कटौती करने के लक्ष्य से बनाई गई।

मौके पर उनके साथ ओबीसी विभाग के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी लाल सिंह यादव, ओबीसी विभाग के राष्ट्रीय महासचिव राहुल यादव, राष्ट्रीय प्रवक्ता राजेश यादव, जगमोहन यादव, स्टेट कोर्डिनेटर सतबीर पहलवान, व्यापार प्रकोष्ट के चेयरमैन पंकज डावर, स्टेट कोर्डिनेटर अमित यादव, किसान मोर्चा के राष्ट्रीय सचिव अरविंद खटाना, विकास यादव इत्यादि मौजूद रहे।

 

 

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!