हरियाणा का बेटा राजौरी में शहीद, जल्द घर आने की कही थी बात (Watch Pics)

You Are HereTop News
Monday, November 21, 2016-12:58 PM

रोहतक (दीपक भीरद्वाज): हरियाणा का एक अौर बेटा देश के लिए शहीद हो गया। देश का वीर सपूत राय सिंह जम्मू कश्मीर के राजौरी सैक्टर में पाकिस्तानी सेना को मुंहतोड़ जवाब देते हुए शहीद हो गया। जहां एक तरफ उनकी शहादत पर उनके गांव खेड़ी सांपला में गम का माहोल है, वहीं परिवार को अपने बेटे की शहादत पर गर्व है। 

 

मिली जानकारी के अनुसार राय सिंह का जन्म रोहतक जिले के खेड़ी सांपला गांव में 22 जून 1976 को हुआ था। वे अगस्त 1995 में बी.एस.एफ. में भर्ती हुए थे। फिलहाल वे जम्मू कश्मीर के राजौरी सैक्टर में भारत पाकिस्तान सीमा पर तैनात थे। राय सिंह जुलाई में छुट्टी पूरी कर अपनी ड्यूटी पर गया था। देर रात पाकिस्तान के सीज फायर का उन्होंने डटकर मुकाबला किया और हंसते-हंसते देश पर कुर्बान हो गए। एक गरीब परिवार से संबंध रखने वाले राय सिंह 4 भाई हैं और उनका एक भाई रमेश कुमार भी बी.एस.एफ. रहकर देश की सेवा कर रिटायर हुआ है। रायसिंह के परिवार में एक बूढ़ी मां, पत्नी सुनीता व तीन बेटे हितेष, कर्मबीर व पारस हैं। 

 

बेटे हितेष ने बताया कि दो दिन पहले शाम को उनके पिता से उनकी बात हुई थी। पिता ने परिवार का हालचाल पूछा तो बेटे ने कहा कि उसे ट्रेड फेयर देखने जाना है। जिस पर पिता ने कहा कि वह एक दो दिन में छुट्टी लेकर आएगा अौर उसे खुद ट्रेड फेयर दिखाने के लिए ले जाएगा। बेटे हितेष व भाई रमेश का कहना है कि राय सिंह ने बड़ी बहादुरी दिखाकर मुकाबला किया और वह पीठ दिखा कर भागने वालों में से नहीं थे, उन्होंने देश के लिए कुर्बानी दी है। जिस पर उन्हें गर्व है। 
 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You