सिरसा के दुष्कर्मी पिता को फांसी की सजा, 11 साल की बेटी को रातभर बनाया था हवस का शिकार

Edited By Gourav Chouhan, Updated: 24 Nov, 2022 07:08 PM

rapist father sentenced death sirsa who raped 11 year old daughter

उसने अपनी बेटी के साथ दो बार दुष्कर्म किया था। अगली सुबह बच्ची ने सारी बात अपनी मां को बताई थी।

सिरसा(सतनाम): 11 साल की बेटी के साथ दुष्कर्म करने वाले आरोपी पिता को सिरसा की फास्ट ट्रैक कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई है। दोषी ने अपनी ही बेटी को नशे की हालत में हवस का शिकार बनाया था। करीब 2 साल के बाद फास्ट ट्रैक कोर्ट के अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश प्रवीण कुमार ने हैवान पिता को मृत्युदंड के साथ 50 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया है। इसी के साथ नाबालिग पीड़िता को 5 लाख रुपए का मुआवजा देने का आदेश भी अतिरिक्त न्यायालय ने जारी किया है।

 

PunjabKesari

 

हैवान पिता को बेटी की आबरू लूटने पर मृत्युदंड

 

गौरतलब है कि 20 सितंबर 2020 को गांव भंगू के रहने वाले जसपाल ने अपनी ही नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म किया था। पीड़िता की मां की शिकायत पर पुलिस ने बच्ची के पिता के खिलाफ दुष्कर्म व पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया था। जांच के दौरान पुलिस ने आरोपी जसपाल को गिरफ्तार भी कर लिया था। इसके बाद यह मामला फास्ट ट्रैक कोर्ट को सौंपा गया। करीब दो साल तक चली सुनवाई के बाद  फास्ट ट्रैक न्यायालय ने आरोपी जसपाल को अपनी बेटी से दुष्कर्म का दोषी करार दिया है। आज न्यायालय ने दोषी को फांसी की सजा से दंडित किया।

 

PunjabKesari

 

शराब के नशे में अपनी ही बेटी के साथ दो बार किया था दुष्कर्म

 

उप जिला न्यायवादी राजीव सरदाना ने बताया कि फास्ट ट्रैक कोर्ट ने इस मामले को अति दुर्लभ मानते हुए दुष्कर्मी को मृत्युदंड के आदेश दिए हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना काल के चलते फैसला आने में कुछ समय जरूर लग गया है, लेकिन लगातार त्वरित कारवाई चलती रही। राजीव सरदाना ने बताया कि 26 सितंबर 2020 की रात को आरोपी पिता ने अपनी पत्नी को शराब के नशे में मारपीट कर घर के बाहर निकल दिया था। इसके बाद उसने अपनी बेटी के साथ दो बार दुष्कर्म किया था। अगली सुबह बच्ची ने सारी बात अपनी मां को बताई थी। इसके बाद पीड़िता की मां की शिकायत पर मामला दर्ज किया गया था।

 

PunjabKesari

 

बचाव पक्ष की अधिवक्ता ने भी फैसले का किया स्वागत

 

बचाव पक्ष की अधिवक्ता चंद्र रेखा ने बताया कि आरोपी का मुकदमा लड़ने से सभी अधिवक्ताओं ने इंकार कर दिया था। इसके बाद उसे लीगल एड उपलब्ध करवाई गई थी। उन्होंने कहा कि यह फैसला काफी बड़ा है और वे उसका स्वागत करते हैं। उन्होंने बताया कि सिरसा फास्ट ट्रैक कोर्ट का यह पहला ऐसा मामला है, जिसमें किसी दोषी को फांसी की सजा सुनाई गई है।

 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।) 

 

Related Story

Trending Topics

Bangladesh

India

Match will be start at 10 Dec,2022 01:00 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!