रोहतक में हुए जलभराव का जायजा लेने पानी में उतरे हुड्डा, प्रदेश सरकार पर जमकर बरसे

Edited By Vivek Rai, Updated: 01 Jul, 2022 04:31 PM

hooda walks in waterlogging areas in rohtak says state government failed badly

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने गलियों में भरे पानी में से गुजरते हुए हालात का जायजा लेकर लोगों की व्यथा सुनी। गलियों और घरों में भरे कई-कई फुट पानी से दो-चार हो रहे लोगों को देखकर हुड्डा प्रदेश सरकार पर जमकर बरसे।

रोहतक(दीपक): मानसून की पहली ही बरसात से रोहतक में जलभराव की स्थिति को लेकर आज हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने गलियों में भरे पानी में से गुजरते हुए हालात का जायजा लेकर लोगों की व्यथा सुनी। गलियों और घरों में भरे कई-कई फुट पानी से दो-चार हो रहे लोगों को देखकर हुड्डा प्रदेश सरकार पर जमकर बरसे। उन्होंने प्रदेश की गठबंधन सरकार को अब तक की सबसे भ्रष्ट सरकार बताते हुए कहा कि सैकड़ों करोड़ रूपया शहर में खर्च करने के बाद भी पानी निकासी की व्यवस्था नहीं हो पाई है। भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने आज महावीर कॉलोनी, ओल्ड हाउसिंग बोर्ड, छोटू राम चौक समेत शहर के कई इलाकों का दौरा किया । जहां कल हुई बरसात से पानी भरा हुआ है। वही कॉलोनी में पानी भरने से दुखी लोगों ने कहा कि वह हर साल इसी तरह समस्या का सामना करते हैं। उनकी समस्या ना तो कभी उनकी हुड्डा सरकार ने सुनी और ना ही खट्टर सरकार सुन रही है। 

हुड्डा बोले करोड़ो रूपए खर्च करने के बावजूद भी रोहतक की हालत खराब

दरअसल एक दिन की बारिश से ही रोहतक शहर जलमग्न हो गया है। गलियों और घरों में भरा यह पानी में आसमानी आफत कम, जबकि सरेआम सरकार और प्रशासन की लापरवाही ज्यादा दिखाई दे रही है। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने उन सभी कॉलोनियों का दौरा किया, जहां कल से बारिश का पानी भरा हुआ है। पानी भरने से दुखी लोगों की व्यथा सुनकर भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए सरकार को आड़े हाथों लिया है। उन्होंने कहा कि अमृत योजना के तहत सैकड़ों करोड़ रुपये खर्च करने के बाद भी सरकार पानी निकासी की व्यवस्था तक नहीं कर पाई है। उन्होंने कहा कि जब उनकी सरकार थी तब लोगों को ऐसी बुरी स्थिति का सामना नहीं करना पड़ा था। उन्होंने आरोप लगाया कि हरियाणा में हर नगर निगम में घोटाले उजागर हो रहे हैं, ना नालों की सफाई की व्यवस्था है और ना ही पानी के बूस्टर चल रहे हैं। हुड्डा ने कहा कि हद हो तब हो गई है कि लोगों की स्थिति इतनी खराब होने के बावजूद भी ना तो इनके पास कोई प्रशासनिक अधिकारी पहुंचे हैं और ना ही सरकार का कोई नुमाइंदा। वहीं चंडीगढ़ में हुई जीएसटी की बैठक में जीएसटी की दर बढ़ाने पर उन्होंने कहा कि यह सरकार अब लोगों के जीने और मरने पर भी टैक्स लगाएगी।

परेशान लोगों ने हुड्डा सरकार के कार्यकाल पर भी उठाए सवाल

पानी भराव की स्थिति से बेहाल लोगों का कहना है कि उन्हें हर साल इसी तरह बदतर हालात का सामना करना पड़ता है। कल जैसे ही पानी बरसने लगा उनके घरों में 2 से 3 फुट पानी तक भर गया क्योंकि ना कभी  नालों की सफाई हुई है और ना ही बूस्टर चल रहे हैं। यहां तक कि कोई भी अधिकारी उनके फोन तक सुनने के लिए तैयार नहीं है। आखिर वह करें तो करें क्या ?  उन्होंने कहा कि 10 साल भूपेंद्र सिंह हुड्डा की भी सरकार रही तब भी ऐसे ही हालात थे और वर्तमान में बीजेपी की सरकार है तब भी है हालात बने हुए हैं।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भीबस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!