सरपंच के शैक्षणिक दस्तावेज फर्जी, ग्रामीणों ने बर्खास्त करने उठाई मांग

Edited By Mohammad Kumail, Updated: 26 Mar, 2023 08:25 PM

fake educational documents of sarpanch of khod village

जिले के गांव खोड़ में फर्जी दस्तावेजों के आधार पर चुनाव लड़कर महिला सरपंच निर्वाचित हुई. ग्रामीणों ने उपायुक्त से सरपंच के खिलाफ कार्रवाई कर बर्खास्त करने की मांग की है।

मेवात(एके बघेल) : जिले के गांव खोड़ में फर्जी दस्तावेजों के आधार पर चुनाव लड़कर महिला सरपंच निर्वाचित हुई. ग्रामीणों ने उपायुक्त से सरपंच के खिलाफ कार्रवाई कर बर्खास्त करने की मांग की है। ग्रामीणों ने आरटीआई के माध्यम से मिली जानकारी के आधार पर बताया कि सरपंच शहनाज द्वारा चुनाव फॉर्म में लगाए गए शैक्षणिक प्रमाण पत्र फर्जी हैं। इसकी जानकारी ग्रामीणों ने लगभग तीन माह पहले मेवात उपायुक्त अजय कुमार को दिया था। एसडीएम ने एक कमेटी बनाकर इंद्री खंड के बीडीपीओ द्वारा मामले की जांच कराई थी। बीडीपीओ ने अपनी जांच रिपोर्ट में लिखा है कि शहनाज द्वारा उत्तर प्रदेश के जामिया उर्दू अलीगढ़ संस्थान से जो शैक्षणिक योग्यता का सर्टिफिकेट लिया गया है। वह पूरी तरह से फर्जी है। ग्रामीणों ने मेवात के उपायुक्त अजय कुमार से जल्द उक्त सरपंच को पद मुक्त कर कार्रवाई की मांग की है।

आरटीआई से हुआ फर्जी प्रमाण पत्र का खुलासा

खोड़ गांव के शिकायतकर्ता अंजुम हुसैन ने बताया कि उनके गांव की नवनिर्वाचित सरपंच शहनाज पत्नी फरमुद्दीन के शैक्षिक प्रमाण पत्र फर्जी हैं। शहनाज ने उत्तर प्रदेश के जामिया उर्दू अलीगढ़ संस्थान के फर्जी हाई स्कूल के प्रमाण पत्र को चुनावी फार्म में लगाया था। जिसकी आरटीआई लगाकर जांच कराई गई तो वहां पर भी पूरी तरह फर्जी से प्रमाण पत्र फर्जी पाया गया। जामिया उर्दू अलीगढ़ स्कूल के संचालकों ने भी बताया कि स्कूल के रिकॉर्ड में कहीं भी उसका नाम दर्ज नहीं है। इतना ही नहीं हरियाणा शिक्षा बोर्ड भिवानी ने भी इस शैक्षणिक प्रमाण पत्र को गैर मान्यता प्राप्त करार दिया है। ग्रामीणों ने बताया कि एसडीएम नूंह द्वारा इसकी जांच इंद्री खंड के बीडीपीओ द्वारा कराई गई, अपनी जांच रिपोर्ट में बीडीपीओ ने भी इस प्रमाण पत्र को पूरी तरह फर्जी बताया है साथ ही नवनिर्वाचित सरपंच शहनाज को पद मुक्त कर कार्रवाई की सिफारिश की है।

जांच जारी हैः उपायुक्त

शिकायतकर्ता अंजुम हुसैन ने उपायुक्त अजय कुमार से मांग की है कि सरपंच शहनाज को  तुरंत प्रभाव से पद मुक्त कर कार्रवाई की जाए। जब इस बारे में जिले के उपायुक्त अजय कुमार से फोन पर बात की गई तो उन्होंने कहा कि अभी इस मामले की जांच चल रही है, अगर उक्त सरपंच के शैक्षणिक योग्यता प्रमाण पत्र फर्जी हैं तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। वहीं शिकायकर्ता ने कहा हम मामले को लेकर पंचायत मंत्री देवेंद्र सिंह बबली से भी मिलेंगे

Related Story

Trending Topics

Afghanistan

134/10

20.0

India

181/8

20.0

India win by 47 runs

RR 6.70
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!